कानपुर - नुक्कड़ नाटक और कहा मेरा वोट मेरा अधिकार - तहकीकात न्यूज़ | Tahkikat News |National

आज की बड़ी ख़बर

Tuesday, 16 April 2019

कानपुर - नुक्कड़ नाटक और कहा मेरा वोट मेरा अधिकार

 


 ब्यूरो कानपुर रवि गुप्ता

शिवानी शिक्षा समिति के तत्वाधान में सचिव रवि पांडे की अध्यक्षता में मतदाता जागरुकता अभियान को लेकर मुख्य डाक घर के पास नुक्कड़ नाटक आयोजन किया गया। जानकारी देते हुए रवि पांडे ने बताया किजनता को जागरुक करने के लिए लुक्का नाटक का आयोजन किया क्या इस नुक्कड़ नाटक का उद्देश्य कानपुर की जनता को अधिक से अधिक मतदान करने के लिए प्रेरित करना था यह मुक्का नाटक राघवेंद्र मिश्रा हुआ उनकी नाटक मंडली द्वारा किया गया।नाटक आरंभ चुनावी जनसभा से होता है जिसमें एक नेता सकता सच पर आरोप लगाता है कि वह बॉधों से सामान्य जनता को जो खानी जीते हैं उसमें से भी बिजली निकाल लेते हैं।एक अन्य नेता कहता है कि अगर वह चुनाव जीता तो पूरे देश की सड़कों को वालीवुड की हीरोइन के गालों की तरह सुंदर बना देगा। एक महिला नेत्री चुनाव जीतने परसभी महिलाओं को सुंदर बनाने का आश्वासन देती है कोई प्रत्यासी वोटरों को अपनी जात का वास्ता देता है तू अन्य प्रत्याशी धर्म के नाम पर लोगों में भाई पैदा करता है।कुछ पार्टियां लोगों को धन का प्रलोभन देती है काली धन वाह वाह बल्क अब भरपूर प्रयोग करके वोटरों को गुमराह किया जाता है। चुनाव संपन्न होते ही विजयी उम्मीदवारों मे से जिस महिला नेत्री ने सभी को सुंदर बनाने का वादा किया था वह ब्यूटी पार्लर में ही बैठी नजर आती है वोटरों को धन का प्रलोभन देने वाला खुद की तिजोरियोंको भरता नजर आता है एक नेता सभी वोटरों को धन्यवाद देता है आश्चर्यचकित यह कबूतर कहता है कि मैंने तो किसी को वोट नहीं दिया फिल्म मुझको क्यों धन्यवाद दे रहे हैं। नेताजी उसको कहते हैं पुनः धन्यवाद देकर कहते हैं कि आप जैसे वोटरों की वजह से ही हम जैसे नेता बनते हैं। रवि पांडे ने कहा कि नुक्कड़ नाटक का उद्देश्य यह कि मतदान अवश्य करें आपका वोट आपका अधिकार है

No comments:

Post a Comment

तहकीकात डिजिटल मीडिया को भारत के ग्रामीण एवं अन्य पिछड़े क्षेत्रों में समाज के अंतिम पंक्ति में जीवन यापन कर रहे लोगों को एक मंच प्रदान करने के लिए निर्माण किया गया है ,जिसके माध्यम से समाज के शोषित ,वंचित ,गरीब,पिछड़े लोगों के साथ किसान ,व्यापारी ,प्रतिनिधि ,प्रतिभावान व्यक्तियों एवं विदेश में रह रहे लोगों को ग्राम पंचायत की कालम के माध्यम से एक साथ जोड़कर उन्हें एक विश्वसनीय मंच प्रदान किया जायेगा एवं उनकी आवाज को बुलंद किया जायेगा।