बनारस की रैली में "मायावती" ने ममता बनर्जी का दिया साथ, बोलीं अकेली औरत को परेशान कर रहे गुरु-चेला - तहकीकात न्यूज़ | Tahkikat News |National

आज की बड़ी ख़बर

Tahkikat News: Latest Video.

Thursday, 16 May 2019

बनारस की रैली में "मायावती" ने ममता बनर्जी का दिया साथ, बोलीं अकेली औरत को परेशान कर रहे गुरु-चेला

 


ब्यूरो वाराणसी कैलाश सिंह विकास

 लोकसभा चुनाव के अंतिम चरण में बनारस पहुंचीं बसपा सुप्रीमों ने नरेंद्र मोदी और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह पर बड़ा बयान दिया। सपा-बसपा-रालौद गठबंधन की रैली को संबोधित करते हुए मायावती ने बनारस से नरेंद्र मोदी पर निशाना साधा। कहा कि महिलाओं और बेटियों की बात करने वाले एक अकेली महिला को पश्चिम बंगाल में परेशान किए है गुरु-चेला। उनका इशारा नरेंद्र मोदी और अमित शाह की ओर था। मजेदार यह कि मायावती के इस संबोधन पर पंडाल में बैठे लोगों ने तालियां बजा कर समर्थन भी जताया।मायावती ने नरेंद्र मोदी पर व्यक्तिगत आक्षेप भी किए। कहा कि जो पत्नी का आदर नहीं कर सकता वो दूसरी बहन-बेटियों का क्या आदर करेगा। इसी कड़ी में उन्होंने पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी का पक्ष लेते हुए कहा कि अकेली महिला को परेशान करने में जुटी है पूरी भाजपा जिसका नेतृत्व गुरु-चेला कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि पश्चिम बंगाल में ममता बनर्जी और यूपी में मुझ पर तरह-तरह की बातें कहते रहते हैं। ये है इनका महिलाओं के प्रति व्यवहार। कहा कि ये चाहे जो कर लें लेकिन अब गुरु-चेला के जाने का वक्त आ गया है।

गंगा मैया वापस लेने जा रहीं आशीर्वाद

मायावती ने गंगा मैया कह कर काशीवासियों के दिल को जोड़ने का प्रयास भी किया। कहा कि 2014 में जिस गंगा मैया का आशीर्वाद लेकर मोदी ने सरकार बनाई थी, अब वही गंगा मैया अपना आशीर्वाद वापस ले रही हैं। पांच साल में एक बूंद गंगा जल साफ नहीं कर सके ये लोग ऐसे में गंगा मैया को भी अपना निर्णय वापस लेना पड़ रहा है।

असली पिछड़े मोदी नहीं अखिलेश

उन्होंने कहा कि बीजेपी घबराई है। गुरू चेले केंद्र से जा रहे हैं। यही नहीं अब योगी के भी मठ में जाने की तैयारी है। उनहोंने नरेंद्र मोदी के पिछड़ी जाति के होने पर भी सवाल उठाया और कहा कि सरकार में रहते फर्जी प्रमाण पत्र बनवाकर पिछड़ा बन कर घूम रहे वह जन्मजात पिछड़े नहीं हैं। असली पिछड़े तो समाजवादी पार्ट के अध्यक्ष अखिलेश यादव हैं।

अपने गिरेबान में झांके मोदी

मायवती ने कहा कि मोदी सपा-बसपा गठबंधन को मिलावटी कहते है। अरे पहले अपने गिरेबान में झांकें। महा मिलावटी एनडीए है। सपा बसपा का गठबंधन दिलों का है जाति का नहीं। यह गठबंधन मोदी के बाद योगी की सरकार उखाड़ फेकेगा। वो भ्रम पैदा करने की कोशिश कर रहे पर हमारा गठबंधन टूटने वाला नहीं, फूट डालो राज करो की नीति नहीं चलेगी।

भजपा के अत्याचार के लिए कांग्रेस जिम्मेदार

उन्होंने कांग्रेस को भी आड़े हाथ लिया और कहा कि आज जो स्थिति है देश और समाज की उसके लिए कांग्रेस जिम्मेदार है अगर कांग्रेस ने सही नीतियों पर काम किया होता तो न सपा-बसपा का जन्म होता न ये भाजपा और आरएसएस के लोग लोगों का उत्पीड़न करते। मायवती ने कहा कि किसी के चुनावी घोषणा पत्र के बहकावे में न आएं। कहा हमारी सरकार बनी तो 6000₹ नहीं सरकारी गैरसरकारी नौकरी देंगे।



अखिलेश ने मोदी को बताया धोखेबाज

सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने भी नरेंद्र मोदी को निशाने पर लिया और उन्हें धोखेबाज बताया। कहा सबसे बड़ा धोखा तो उन्होंने बनारस को दिया। भोले बाबा को दिया। गंगा मैया को दिया। खुद तो गंगा को साफ करने का काम किया नहीं, हमने वरुणा को साफ करने का काम शुरू किया था उसे भी रुकवा दिया। अरे जिसकी नीयत में खोट हो वो क्या गंगा को साफ करेगा। शर्म है कि गंगा और वरुणा के शहर में लोगों को पीने का पानी मयस्सर नहीं। एक मुख्यमंत्री बाबा हैं, कहते हैं बनारस को बिजली दे रहे। अरे जिसके बुजुर्ग विधायक के कहने पर समाजवादी पार्टी ने बनारस को 24 घंटे बिजली दी उसका टिकट काट दिया। अखिलेश का इशारा श्यामदेव राय चौधरी की ओर था।

विश्वनाथ कॉरिडोर पर बोले विरासत को ही तोड़ दिया

अखिलेश ने विश्वनाथ कॉरिडोर का मुद्दा भी उठाया और कहा इस धर्म नगरी में मंदिर तोडे गए। विरासत तोड दी गई। कानून व्यवस्था का ये हाल कि पुलिस थाना के बगल में स्वर्णकार के यहां डकैती हो जा रही है। अरे इन्होंने न 'क्यूटो' बनाया न युवाओं को नौकरी दी न किसानों की आय बढ़ाई। सबको धोखा दिया। कहा कि यूपी ही नहीं ये पश्चिम बंगाल से भी जाएगी।

कहा एक सैनिक से नहीं लड़ सकते, आतंकवाद से क्या लड़ेंगे

कहा कि सीमा को सुरक्षित रखने का दावा करने वालों के राज में रोज एक जवान शहीद हो रहे। जवनों को रोटी नहीं दे पा रहे हैं। तेजबहादुर यादव का पर्चा खारिज होने को घुमा कर उठाया और कहा कि एक जवान से नहीं लड पा रहे वो आतंकवाद से क्या लड़ेंगे।

अजीत सिंह ने दिया नया नारा, 'हाय हाय मोदी बाय बाय मोदी'

रालोज अध्यक्ष अजीत सिंह ने कहा कि छाती 56 इंच का दिल एक इंच का नहीं। अजीत ने बनारस की जनता से चौकीदार का नारा भी लगवाया। उन्होंने भी मोदी को झूठा आदमी बताया। किसान नेता ने कहा कि हाल ये है कि मोदी और योगी खेत खा रहे। बताया भाजपा हार गई, दो दहाई भी नहीं पहुंचने वाले। उन्होंने नया नारा दिया। कहा, 2014 में हर-हर मोदी, घर-घर मोदी नारा था, अब नया नारा हाय हाय मोदी बाय बाय मोदी हो गया है।

शालिनी ने दिया स्मृति चिन्ह

सपा प्रत्याशी शालिनी यादव ने मायावती को हाथी तो अखिलेश को दिया साइकिल स्मृति चिह्न। अजीत सिंह को स्मृति चिह्न के रूप में दिया बाबाा विश्वनाथ और गंगा का चित्र। इस मौके पर मायवती के भतीजे आकाश आनंद, सतीश मिश्रा, किरणमय नंदा, नरेश उत्तम पटेल, सपा जिलाध्यक्ष डॉ पीयूष यादव, महानगर अध्यक्ष राजकुमार जायसवाल, बीएसएफ के बर्खास्त जवान तेजबहादुर यादव, मनोज राय धूपचंडी, आनंद मोहन गुड्डू यादव, प्रियांशु यादव आदि मौजूद रहे।

No comments:

Post a Comment