राजेन्द्र चौधरी ने बताया - छठे चरण के मतदान में अधिकांशतः ईवीएम मशीनों में खराबी, बूथ कैप्चरिंग, - तहकीकात न्यूज़ | Tahkikat News |National

आज की बड़ी ख़बर

Sunday, 12 May 2019

राजेन्द्र चौधरी ने बताया - छठे चरण के मतदान में अधिकांशतः ईवीएम मशीनों में खराबी, बूथ कैप्चरिंग,

 न्यूज़ डेस्क तहकीकात लखनऊ 

 पूर्व कैबिनेट मंत्री एवं समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय सचिव राजेन्द्र चौधरी के साथ अरविन्द कुमार सिंह, सदस्य विधानपरिषद ने मुख्य निर्वाचन अधिकारी उ0प्र0 से भेंटकर उन्हें लोकसभा चुनाव के छठे चरण के मतदान में अधिकांशतः ईवीएम मशीनों में खराबी, बूथ कैप्चरिंग, सरकारी मशीनरी के दुरूपयोग से मतदान को भाजपा के पक्ष में प्रभावित करने और समाजवादी कार्यकर्ताओं के साथ उत्पीड़न की कार्यवाहियों की शिकायतों के सम्बंध में ज्ञापन सौपा और तत्काल प्रभावी कार्यवाही किए जाने की मांग की। ज्ञापन में यह भी मांग की गई कि जो पीठासीन अधिकारी अनुचित कार्यों में संलिप्त पाए गए हैं उन पर तत्काल कड़ी कार्यवाही होनी चाहिए। ज्ञापन में कहा गया है कि पिछले पांच चरण की तरह आज हो रहे छठे चरण के मतदान में भी वही अव्यवस्था, अवरोध और सत्तारूढ़ दल के पक्ष में सरकारी अधिकारियों एवं कर्मचारियों द्वारा मतदान कराने की सूचनाएं मिल रही हैं। ईवीएम मशीनों  में बड़ी संख्या में गड़बड़ी की शिकायतें भी है। पुलिस प्रशासन की शह पर समाजवादी पार्टी-बहुजन समाज पार्टी कार्यकर्ताओं के प्रति उत्पीड़न की कार्यवाहियां हो रही हैं। आज आजमगढ़ के गोपालपुर के बूथ संख्या 148 एवं 150 पर भाजपा कार्यकर्ताओं के दबाव में कमल निशान पर बटन दबाए जा रहे थे। समाजवादी पार्टी के एजेंट श्री अनवारूल के विरोध करने पर भाजपा नेताओं के इशारे पर पुलिस उन्हें जबरन उठाकर ले गई मुख्य निर्वाचन अधिकारी को बताया गया कि आजमगढ़ के बूथ संख्या 200 और जूनियर हाईस्कूल मुंडा तथा विधानसभा मेहनगर के बूथ संख्या 57 के पीठासीन अधिकारी ने महिला मतदाताओं की जगह स्वयं बटन दबाकर भाजपा के पक्ष में मतदान किया है। मुबारकपुर के बूथ संख्या 349 प्राथमिक विद्यालय नवादा में माकपोल के दौरान कुल 48 वोट डाले गए वीवीपैट मशीन में 52 पर्ची निकली। इस गड़बड़ी की जांच अपेक्षित है। लोकसभा क्षेत्र आजमगढ़ के विधानसभावार कंट्रोल रूम के जो नम्बर उपलब्ध कराये गए हैं वे शिकायतें दर्ज नहीं कर रहे है। कहा जाता है पीठासीन अधिकारी की शिकायत ही सुनी जाएगी। आजमगढ़ में मेहनगर में बूथ संख्या-57 प्राथमिक विद्यालय मुस्तफाबाद कक्ष संख्या-1 के पीठासीन अधिकारी वृद्ध महिलाओं एवं बुजुर्गों का स्वयं वोट डाल रहे थे। ऐसा ही बूथ संख्या 200 जूनियर हाईस्कूल मुंडा कक्ष संख्या-2 में महिलाओं के वोट स्वयं पीठासीन अधिकारी डालते देखे गये। कुछ असामाजिक तत्व साजिश करके बूथ कैप्चरिंग तथा मतदाताओं को भयभीत करके मतदान से रोकने की साजिशें कर रहे है। आजमगढ़ लोकसभा क्षेत्र में विधानसभा क्षेत्र मुबारकपुर में बूथ संख्या 84 प्राथमिक विद्यालय अगुडी कक्ष संख्या 1 पर थाना मुबारकपुर के एसओ श्री अखिलेश मिश्र ने अपने कार्यक्षेत्र से बाहर जाकर बूथ से 200 मीटर की दूरी पर समाजवादी पार्टी का बस्ता हटवा दिया और भाजपा के पक्ष में वोट डलवाने का दबा बनाया।


राजेन्द्र चौधरी ने बताया कि तमाम जगहों पर ईवीएम मशीनें खराब रही। आजमगढ़ में कई स्थानों पर ईवीएम नहीं चलने से मतदान नहीं शुरू हो सका। बरामदपुर 359 में वीवीपैट की पर्ची नहीं दी जा रहीं और सदर 347- बूथ संख्या 20 में पीठासीन अधिकारी बीप की आवाज आए बिना मतदाताओं को बाहर भेज रहे है, उनके साथ दुव्र्यवहार भी कर रहे हैं। लोकसभा क्षेत्र फूलपुर में कई स्थानों पर ईवीएम मशीनें देर तक खराब रहीं जिससे मतदाता परेशान हुए। इस भीषण गर्मी में रमजान महीने में रोजा रखने वाले मतदाताओं को घंटो परेशान होना पड़ रहा है। फूलपुर के सोरांव विधानसभा क्षेत्र के बूथ संख्या 83 बसदेइया के पीठासीन अधिकारी ने 10:16 बजे तक समाजवादी का एजेंट नहीं बनने दिया। यहां बूथ कैप्चरिंग का अंदेशा है। ज्ञापन के अनुसार लोकसभा क्षेत्र इलाहाबाद की करछना विधानसभा क्षेत्र के बूथ संख्या 01-09 तक से सम्बंधित मतदाताओं को मतदान करने से रोका जा रहा है और उन्हें भाजपा के पक्ष में ही मतदान करने का दबाव बनाया गया। लोकसभा क्षेत्र डुमरियागंज की विधानसभा क्षेत्र इटवा के अन्तर्गत थाना मिश्रौलिया के थानाध्यक्ष वहीं के जिला पंचायत सदस्य लवलेश्वर निषाद जो समाजवादी पार्टी के जिला सचिव भी है, को दुर्भावनावश सत्ता के दबाव में प्रातः 07:00 बजे से जबरन थाने पर बैठाए हुए है तथा भाजपा के पक्ष में मतदान कराने के लिए दबाव बना रहे है। राजेन्द्र चैधरी ने कहा है कि सत्तारूढ़ दल द्वारा लोकतांत्रिक प्रणाली को प्रभावित करने के लिए अनैतिक एवं अवैध तरीके अपनाये गये इसके बावजूद समाजवादी पार्टी और गठबंधन के पक्ष में मतदाता देर शाम तक मतदान करते रहे।

No comments:

Post a Comment

तहकीकात डिजिटल मीडिया को भारत के ग्रामीण एवं अन्य पिछड़े क्षेत्रों में समाज के अंतिम पंक्ति में जीवन यापन कर रहे लोगों को एक मंच प्रदान करने के लिए निर्माण किया गया है ,जिसके माध्यम से समाज के शोषित ,वंचित ,गरीब,पिछड़े लोगों के साथ किसान ,व्यापारी ,प्रतिनिधि ,प्रतिभावान व्यक्तियों एवं विदेश में रह रहे लोगों को ग्राम पंचायत की कालम के माध्यम से एक साथ जोड़कर उन्हें एक विश्वसनीय मंच प्रदान किया जायेगा एवं उनकी आवाज को बुलंद किया जायेगा।