वाराणसी-मुठभेड़ में पच्चीस हजार का इनामी गिरफ्तार - तहकीकात न्यूज़ | Tahkikat News |National

आज की बड़ी ख़बर

Sunday, 26 May 2019

वाराणसी-मुठभेड़ में पच्चीस हजार का इनामी गिरफ्तार


ब्यूरो कैलाश सिंह विकास 

लंका पुलिस ने नरिया तिराहे पर वाहन चेकिंग के दौरान फरार चल रहे पच्चीस हजार के इनामी बदमाश दीपक मिशा उफ गुरु को गिरफ्तार किया। पकड़े गए आरोपी के खिलाफ लंका थाने में  बीते साल एससीएसटी और बलात्कार का मुकदमा दर्ज किया गया था। उसके बाद से आरोपी की तलाश में पुलिस जुटी थी। सीओ भेलूपुर अनिल कुमार ने रविवार को लंका थाने पर आयोजित पत्रकार वार्ता में बताया कि मुखबिर के जरिए लंका पुलिस को सूचना मिली कि जंसा थाना क्षेत्र के शम्भूपूर गांव का रहने वाला दीपक मिश्रा नरिया तिराहे पर कहीं भागने के लिए आने वाला है। सूचना पर पुलिस टीम के साथ रविवार की रात २,१५ बजे नरिया तिराहे पर पहुंचकर लंका पुलिस ने वाहन चेकिंग शुरू कर दी। इस दौरान आरोपी आता दिखाई पड़ा और पुलिस टीम द्वारा रूकने का इशारा करने पर भागने लगा। अंधेरे में  भाग रहे आरोपी को पुलिस के जवानों ने दौड़ाकर पकडने में कामयाब हो गए। उन्होंने बताया कि आरोपी अपने चार साथियों के साथ मिलकर एक युवती के साथ सामुहिक रेप किया था। युवती के तहरीर पर पुलिस ने मुकदमा दर्ज किया था। उसके बाद पुलिस ने तीन आरोपियों को पूर्व में पकड़ कर जेल भेज चुकी है। आरोपी घटना करने के बाद झारखंड सहित अन्य  जगहों पर छिपकर रहता था। इस दौरान एसएसपी ने आरोपी के ऊपर पच्चीस हजार रुपए का इनाम घोषित किए। पुलिस ने आरोपी को न्यायालय में पेश कर जेल भेज दीया।

जंसा थाना क्षेत्र के शम्भूपुर गांव के रहने वाले अशोक मिश्रा बैंक में कैशियर है। इनका इकलौता बेटा दीपक पढयी में काफी तेज था। काशी हिन्दू विश्वविद्यालय से बीए,एमए की पढ़ाई करने के बाद दर्शनशास्त्र से शोध कर रहा था। और सुन्दरपुर इलाके में किराये पर कमरा लेकर रहता था। इस दौरान बीते साल सात माह पूर्व दीपक ने अपनी परिचित एक युवती को अपने  कमरे पर बुलाया।  और चाय में नशीला पदार्थ मिलाकर चारों ने सामूहिक रेप किए। उसके बाद से पढ़ाई छोडकर दीपक फरार हो गया। दीपक के पकड़े जाने की जानकारी मिलने पर उसके साथियों में पूरे दिन चर्चा की विषय बनी रही।

वही गिरफ्तारी टीम में प्रमुख रूप से भारत भूषण तिवारी प्रभारी निरीक्षक लंका प्रकाश सिंह चितईपुर चौकी प्रभारी आदि लोग प्रमुख रहे

No comments:

Post a comment

तहकीकात डिजिटल मीडिया को भारत के ग्रामीण एवं अन्य पिछड़े क्षेत्रों में समाज के अंतिम पंक्ति में जीवन यापन कर रहे लोगों को एक मंच प्रदान करने के लिए निर्माण किया गया है ,जिसके माध्यम से समाज के शोषित ,वंचित ,गरीब,पिछड़े लोगों के साथ किसान ,व्यापारी ,प्रतिनिधि ,प्रतिभावान व्यक्तियों एवं विदेश में रह रहे लोगों को ग्राम पंचायत की कालम के माध्यम से एक साथ जोड़कर उन्हें एक विश्वसनीय मंच प्रदान किया जायेगा एवं उनकी आवाज को बुलंद किया जायेगा।