जालौन यूपी - पिता ही निकला 8 वर्षीय मासूम बेटी का हत्यारा - तहकीकात न्यूज़ | Tahkikat News |National

आज की बड़ी ख़बर

Saturday, 15 June 2019

जालौन यूपी - पिता ही निकला 8 वर्षीय मासूम बेटी का हत्यारा

रिपोर्ट -  अमित गौर

 जालौन। पिछले दिनांक 09/जून/2019 को बुन्देलखंड में जालौन जिले के कुठौंद थाना क्षेत्र में हुई 8 वर्षीय बच्ची की मौत के मामले ने नया मोड़ ले लिया है। जहां अभी तक जालौन पुलिस अधीक्षक  द्वारा जारी किये गये प्रेस नोट के मुताबिक रेप के बाद हत्या दर्शाया जा रहा था, वहीं अब झांसी डीआईजी के मुताबिक बच्ची के साथ रेप की घटना स्पष्ट नहीं हो पा रही है। बल्कि बात न मानने पर बच्ची की उसके पिता ने ही हत्या की थी। इसके बाद रंजिशन दो लोगों पर बच्ची की हत्या की रिपोर्ट दर्ज कराई थी। जिसकी जानकारी आज झांसी रेंज डीआईजी सुभाष सिंह बघेल ने पत्रकारों को दी है। यह थी घटना बताते चलें कि जनपद जालौन के कुठौंद थानान्तर्गत ग्राम विजवाहा में झाड़ियों के बीच एक 8 वर्षीय बच्ची की अर्धनग्न हालत में लाश मिली थी। जिसकी शिनाख्त लाखन सिंह की बेटी के रुप में हुई थी। बच्ची के शव को पुलिस ने कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया था। आशंका जताई गई थी कि बच्ची की हत्या रेप के बाद हुई थी। घटना को लेकर जालौन पुलिस अधीक्षक ने एक प्रेस नोट जारी किया था। प्रेस नोट के मुताबिक पुलिस अधीक्षक जालौन स्वामी प्रसाद ने बताया था कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट में रेप के बाद हत्या हुई है। जिसके आधार पर धारा 376 व 3/4 पास्को एक्ट की बढोत्तरी की है। इसके साथ ही आरोपी मोतीलाल और जाहर सिंह को पकड़कर पूछतांछ की जा रही थी। पुलिस अधीक्षक द्वारा जारी की गई रिपोर्ट से पूरे प्रदेश में हलचल हो गई। मामले की झांसी डीआईजी ने कमान सुंभाली और छानबीन करते हुए जांच की। 


झांसी रेंज डीआईजी ने पुलिस अधीक्षक जालौन की प्रेसनोट को बताया गलत 

झांसी रेंज डीआईजी सुभाष बघेल ने बताया कि इस घटना को लेकर चार टीमें गठित कर जांच कराई गई। जिसमें पाया गया गिरफ्तार आरोपियों के खिलाफ किसी प्रकार के साक्ष्य नहीं मिले। शक होने पर ग्रामीणों से पूछतांछ की गई। जिसमें अलग रह रही बच्ची की चाची ने बताया कि 8 जून की शाम 7 बजे लाखन सिंह बच्ची के साथ मारपीट कर रहा था। जिस पर वादी लाखन सिंह के मकान का निरीक्षण किया गया। निरीक्षण के दौरान घर में बक्से के पास एक कोने में खून और बाल मिला। जिस पर वादी लाखन सिंह को गिरफ्तार कर लिया और उससे सख्ती से पूछतांछ की गई। पूछतांछ में लाखन सिंह ने बताया कि उसकी बच्ची कभी भी उसकी बात नहीं मानती थी। जिस कारण उसने अपनी बच्ची के साथ मारपीट। इसके बाद गला घोंट कर हत्या कर और झाड़ियों में ले जाकर सलवार से गला बाध दिया।इतना ही नहीं अपनी पुरानी रंजिश का बदला लेने के लिए आरोपी जाहर सिंह और मोती लाल के खिलाफ मामला दर्ज करा दिया था। हालांकि उसके गुप्तांग के पास चोटें कैसे आई हैं। इसकी जांच की जा रही है। अब ऐसे में सवाल यह है कि आखिर झांसी डीआईजी की जांच सही है या फिर जालौन एसपी द्वारा दिये गये प्रेस नोट की जानकारी। यदि जालौन एसपी द्वारा जारी किये गया गया प्रेस नोट गलत था तो धारा 376 व 3/4 पोस्को एक्ट की कैसे बढोत्तरी हो गई। इन धाराओं के बढोत्तरी के बाद पकड़े गये दोनों आरोपियों ने जब घटना नहीं की थी। तो उन्हें भी इस जिल्लत का कितना सामना करना पड़ा होगा।

No comments:

Post a comment

तहकीकात डिजिटल मीडिया को भारत के ग्रामीण एवं अन्य पिछड़े क्षेत्रों में समाज के अंतिम पंक्ति में जीवन यापन कर रहे लोगों को एक मंच प्रदान करने के लिए निर्माण किया गया है ,जिसके माध्यम से समाज के शोषित ,वंचित ,गरीब,पिछड़े लोगों के साथ किसान ,व्यापारी ,प्रतिनिधि ,प्रतिभावान व्यक्तियों एवं विदेश में रह रहे लोगों को ग्राम पंचायत की कालम के माध्यम से एक साथ जोड़कर उन्हें एक विश्वसनीय मंच प्रदान किया जायेगा एवं उनकी आवाज को बुलंद किया जायेगा।