गोरखपुर-एक रुपये के सिक्के को लेकर दूल्हे ने पंडित जी को जड़ दिया थप्पड़ - तहकीकात न्यूज़ | Tahkikat News |National

आज की बड़ी ख़बर

Friday, 7 June 2019

गोरखपुर-एक रुपये के सिक्के को लेकर दूल्हे ने पंडित जी को जड़ दिया थप्पड़


तहकीकात न्यूज़ डेस्क लखनऊ 

द्वार पूजा के समय एक रुपये के सिक्के को लेकर दूल्हे ने पंडित जी को थप्पड़ जड़ दिया। जिसको लेकर विवाद हुआ और बिना शादी बैंरग वापस लौट गयी बारात मामला

देवरिया जिले के सलेमपुर उपनगर स्थित एक मैरेज हाल में बुधवार की रात आई बरात मात्र एक रुपये के लिए वापस हो गई। दूल्हे ने द्वारपूजा में पंडित जी को एक रुपये के लिए थप्पड़ जड़ दिया, जिसके बाद दुल्हन ने शादी से इन्कार कर दिया। पूरी रात पंचायत चली, लेकिन बात नहीं बनी, जिसके बाद बिना शादी के बरात वापस लौट गई।

देवरिया जिला के सदर कोतवाली के सोनूघाट से बरात बुधवार को सलेमपुर उपनगर के सोहनाग रोड स्थित एक मैरेज हाल में पहुंची। दूल्हा परिषदीय विद्यालय में शिक्षक के पद पर कार्यरत हैं। बरात पहुंचने के बाद दुल्हन पक्ष ने बरातियों का जमकर स्वागत किया। इसके बाद द्वारपूजा शुरू हुआ। इसमें पंडित जी द्वार पूजा करा रहे थे। इस बीच पूजा के दौरान पंडित जी ने दूल्हे से कलश के पास रुपये चढ़ाने के लिए कहा। दूल्हे ने एक रुपये का छोटा सिक्का चढ़ा दिया। इस पर पंडित जी दूल्हे से कह दिए कि बाबू यह सिक्का नहीं चल रहा है, एक रुपये का नोट चढ़ा दीजिए। इस पर दूल्हा आक्रोशित हो गया और पंडित जी को थप्पड़ जड़ दिया। पंडित जी को थप्पड़ मारते ही द्वारपूजा में बवाल हो गया। लोगों ने पुलिस को सूचना दे दी। मौके पर पहुंची पुलिस के हस्तक्षेप के बाद जयमाल का कार्यक्रम शुरू हुआ। जब दुल्हन स्टेज पर पहुंची तो दूल्हा उसका स्वागत करने आगे नहीं बढ़ा। पहले से ही नाराज दुल्हन ने दूल्हे के सामने ही शादी करने से इन्कार कर दिया और स्टेज से बैरंग वापस लौट गई। इसके बाद पूरी रात पंचायत चली, लेकिन बात नहीं बन सकी, जिसके बाद दोनों पक्षों ने लेन-देन वापस कर दिया। बताते हैं कि दुल्हन पक्ष के लोग इस बात पर काफी गंभीर हो गए कि दूल्हा जब एक रुपये के लिए थप्पड़ मार सकता है तो वह और उसका परिवार बिलकुल ठीक नहीं हो सकता है। दुल्हन पक्ष का कहना है कि उन लोगों की छोटी मानसिकता हैं। ऐसे घर किसी भी सूरत में शादी नहीं की जा सकती है। दुल्हन पक्ष के लोगों ने अपनी बेटी के निर्णय का सराहना करते हुए कि बेटी ने जो किया, वह ठीक है।

No comments:

Post a comment

तहकीकात डिजिटल मीडिया को भारत के ग्रामीण एवं अन्य पिछड़े क्षेत्रों में समाज के अंतिम पंक्ति में जीवन यापन कर रहे लोगों को एक मंच प्रदान करने के लिए निर्माण किया गया है ,जिसके माध्यम से समाज के शोषित ,वंचित ,गरीब,पिछड़े लोगों के साथ किसान ,व्यापारी ,प्रतिनिधि ,प्रतिभावान व्यक्तियों एवं विदेश में रह रहे लोगों को ग्राम पंचायत की कालम के माध्यम से एक साथ जोड़कर उन्हें एक विश्वसनीय मंच प्रदान किया जायेगा एवं उनकी आवाज को बुलंद किया जायेगा।