कानपुर देहात-जहरीली शराब बरामद - तहकीकात न्यूज़ | Tahkikat News |National

आज की बड़ी ख़बर

Saturday, 22 June 2019

कानपुर देहात-जहरीली शराब बरामद



रिपोर्ट - अरविन्द शर्मा 

पुलिस को एक बड़ी कामयाबी हाथ लगी जब पुलिस ने चेकिंग के दौरान  दो कारों से  400 लीटर जहरीले स्प्रेड के साथ 4 अभियुक्तों को गिरफ्तार कर लिया। पकड़े गए शराब माफिया पुलिस का टैग लगा कर अवैध शराब का कारोबार कर रहे है। पकड़े गए अभियुक्त शराब बनाकर और आसपास के जनपदों में स्प्रेड मिलाकर शराब को बेचा करते थे।

जनपद कानपुर देहात व आसपास के जनपदों में आए दिन नकली मिलावटी व जहरीली देसी शराब के बनाने से लेकर विक्रय तक आम जनमानस के उपभोग करने से हो रही दर्दनाक घटनाओं पर पूर्णतया रोक लगाने के उद्देश्य से जनपद कानपुर देहात पुलिस अधीक्षक अनुराग वत्स के द्वारा चलाए जा रहे सघन अभियान के तहत जनपद की सिकंदरा थाना और बरौर थाना पुलिस ने चेकिंग के दौरान मारुति अल्टो कार और मारुति सियाज कार से कैनो में लगा 400 लीटर स्प्रेड बरामद किया है। दोनों कारों में सवार चार लोग कार में स्पीड लादकर मुंगीसापुर से पुखराया की तरफ जा रहे थे तभी रास्ते में पुलिस की चेकिंग देखकर कार सवार शराब माफिया पुलिस को देखकर भगाने लगे तभी पुलिस ने घेराबंदी करके उन दोनों कारों को रोक लिया और उसमें बैठे चारों लोगों को गिरफ्तार कर लिया पुलिस ने दोनों कारों से 400 लीटर जहरीला केमिकल स्प्रेड बरामद किया है। 


शराब माफिया कार में पुलिस का टैग बेखौफ होकर अवैध शराब का कारोबार कर रहे थे।पुलिस के हत्थे लगे शराब माफिया ने जनपद कानपुर देहात के साथ-साथ पड़ोसी जनपद में भी अवैध शराब का कारोबार करने की बात स्वीकार की।

कानपुर देहात पुलिस अधीक्षक अनुराग वत्स ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर मामले का खुलासा किया और उन्होंने कहा कि उक्त चारों लोग शातिर किस्म के शराब माफिया हैं और यह केमिकल मिलाकर शराब को बनाकर बेचते हैं इनके खिलाफ आसपास के जनपदों में शराब के पेट्रोल में कई मामले भी दर्ज हैं।


No comments:

Post a Comment

तहकीकात डिजिटल मीडिया को भारत के ग्रामीण एवं अन्य पिछड़े क्षेत्रों में समाज के अंतिम पंक्ति में जीवन यापन कर रहे लोगों को एक मंच प्रदान करने के लिए निर्माण किया गया है ,जिसके माध्यम से समाज के शोषित ,वंचित ,गरीब,पिछड़े लोगों के साथ किसान ,व्यापारी ,प्रतिनिधि ,प्रतिभावान व्यक्तियों एवं विदेश में रह रहे लोगों को ग्राम पंचायत की कालम के माध्यम से एक साथ जोड़कर उन्हें एक विश्वसनीय मंच प्रदान किया जायेगा एवं उनकी आवाज को बुलंद किया जायेगा।