वाराणसी -ट्रैफिक पुलिस का ये जवान,पानी पिलाकर दिल जीत रहा - तहकीकात न्यूज़ | Tahkikat News |National

आज की बड़ी ख़बर

Monday, 24 June 2019

वाराणसी -ट्रैफिक पुलिस का ये जवान,पानी पिलाकर दिल जीत रहा


ब्यूरो कैलाश सिंह विकास 

चिलचिलाती धूप में वाराणसी के तेलियाबाग तिराहे से गुजरने वाले हर शख्स का ध्यान, बरबस ही ट्रैफिक पुलिस के जवान रघुनाथ यादव की तरफ चल जाता है. रघुनाथ एक साथ दोहरी भूमिका निभाते हैं. उनके कंधों पर एक तरफ जहां ट्रैफिक को संभालना होता है तो दूसरी ओर वो मानवता की मिसाल भी पेश करते हैं. प्रचंड गर्मी से बेहाल लोग जब तिराहे पर रुकते हैं तो ट्रैफिक इंस्पेक्टर उनकी ओर पानी से भरा पाउच बढ़ा देते हैं.


सालों से राहगीरों को पानी पिलाते हैं रघुनाथ राहगीरों को पानी पिलाना रघुनाथ का रुटिन वर्क है. उनकी ड्यूटी बनारस के चाहे किसी भी तिराहे या चौराहे पर लगे. वो ट्रैफिक कंट्रोल करने के साथ ही लोगों को पानी जरुर पिलाते हैं. यही नहीं शिवरात्रि या फिर किसी अन्य त्यौहार पर वह श्रद्धालुओं के लिए बकायदा शरबत का भी इंतजाम किए रहते हैं. रघुनाथ अपनी टीम विश्व मोहन पासवान, आलोक कुमार, प्रेम प्रकाश के साथ पानी के पाउच बांटते मिल जाते हैं. रघुनाथ खासतौर से उन लोगों के पास जरुर जाते हैं जो हेलमेट लगाते हैं. रघुनाथ कहते हैं कि जल ही जीवन है. इसी भाव को मैंने आत्मसात किया है और लोगों की सेवा करता रहता हूं.


फिटनेस प्रेमी भी हैं रघुनाथ यादव मूल रुप से बलिया के रहने वाले रघुनाथ साल 1982 में पुलिस सेवा में आए. शुरू से ही उनके मन में ड्यूटी के साथ लोगों की सेवाभाव रहा है. यही कारण है कि साल 2018 में उन्हें राष्ट्रपति पुलिस पदक सम्मान से नवाजा गया. रघुनाथ फिटनेस प्रेमी भी हैं. ड्यूटी के दौरान रघुनाथ यादव फिजिकल स्ट्रक्टर भी रह चुके हैं. जूडो, कराटे और बॉक्सिंग में भी हाथ आजमाते रहते हैं. यही नहीं बिना असलहे की लड़ाई (यूएससी) में भी चैंपियन रह चुके हैं रघुनाथ यादव.



No comments:

Post a Comment

तहकीकात डिजिटल मीडिया को भारत के ग्रामीण एवं अन्य पिछड़े क्षेत्रों में समाज के अंतिम पंक्ति में जीवन यापन कर रहे लोगों को एक मंच प्रदान करने के लिए निर्माण किया गया है ,जिसके माध्यम से समाज के शोषित ,वंचित ,गरीब,पिछड़े लोगों के साथ किसान ,व्यापारी ,प्रतिनिधि ,प्रतिभावान व्यक्तियों एवं विदेश में रह रहे लोगों को ग्राम पंचायत की कालम के माध्यम से एक साथ जोड़कर उन्हें एक विश्वसनीय मंच प्रदान किया जायेगा एवं उनकी आवाज को बुलंद किया जायेगा।