वाराणसी रामनगर - शास्त्री जी के विचारों को जिला प्रशासन कर रहा धूमिल - तहकीकात न्यूज़ | Tahkikat News |National

आज की बड़ी ख़बर

Sunday, 14 July 2019

वाराणसी रामनगर - शास्त्री जी के विचारों को जिला प्रशासन कर रहा धूमिल

ब्यूरो वाराणसी कैलाश सिंह विकास

तालाबो और पोखरों के वास्तविक स्वरूपो की जाँच होने पर जेल में होंगे कई भू-माफिया और नगर पालिका परिषद के अधिकारी रामनगर के विश्व प्रसिद्ध रामबाग पोखरे के पुनरुत्थान के साथ-साथ रामनगर के सभी छोटे बड़े तालाबो और पोखरों को भू-माफियाओं द्वारा किए गए अतिक्रमण से आजादी दिलाकर उन्हें अपने वास्तविक अस्तित्व में लाने के उद्देश्य से नगर के समाजसेवियों द्वारा आज दुर्ग के मुख्यद्वार पर हस्ताक्षर और जन जागरूकता अभियान चलाया गया। जिसका नेतृत्व डॉ. अजीत यादव और श्री नारायण द्विवेदी द्वारा किया गया। लोगो द्वारा हस्ताक्षर करने के बाद नगर के वरिष्ठ क्रान्ति पुरुष सतनाम सिंह ने लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि रामनगर के लगभग सभी तालाबो और पोखरों का अतिक्रमण करके भू-माफियाओं ने यहां की ऐतिहासिकता और धार्मिकता को चोट पहुचाने का काम किया है। लेकिन उससे भी आश्चर्य की बात नगर पालिका प्रशासन की चुप्पी है।
 

 जिला प्रशासन अगर सभी तालाबों और पोखरों के वास्तविक स्वरूपो की जांच शुरू कर दे तो कई भू-माफियाओं के चेहरे की हवाइयां उड़ जाएगी और भू-माफियाओं के साथ-साथ नगर पालिका परिषद के कई अधिकारी जेल में होंगे। उसी क्रम में कृपाशंकर यादव ने कहा कि भारत सरकार और राज्य सरकार की विशेष नजर होने के बावजूद भू-माफियाओं द्वारा रामनगर के महता, वारी गड़ही सहित सभी पोखरो और तालाबों का अतिक्रमण करने और सूखने के सम्बन्ध में जिला प्रशासन को पत्र देने के एक माह बाद भी किसी प्रकार की प्रशासनिक पहल का न होना देश के पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री के विचार और कर्तव्यनिष्ठा को धूमिल करने के समान है। दुर्ग के मुख्य द्वार पर चलाए गए हस्ताक्षर अभियान में जहां सैकड़ों लोगों ने हस्ताक्षर किया वही दीपक शर्मा, श्याम सेठ, सुजीत गुप्ता, आनंद कश्यप, संतोष कुमार शर्मा, तेज बहादुर, भुल्ली चौहान अवधेश सोनकर, शुभम सिंह, आशीष पटेल, धनंजय साहनी सहित अन्य लोग शामिल हुए हैं। कार्यक्रम समाप्ति के पश्चात कृपा शंकर यादव और श्री नारायण द्विवेदी ने धन्यवाद ज्ञापित किया।

No comments:

Post a Comment