कानपुर देहात - यहां दो मुंह का अनोखा बच्चा बना चर्चा का विषय, लोग दैवीय अवतार मानकर चढ़ा रहे चढ़ौती - तहकीकात न्यूज़ | Tahkikat News |National

आज की बड़ी ख़बर

Tuesday, 16 July 2019

कानपुर देहात - यहां दो मुंह का अनोखा बच्चा बना चर्चा का विषय, लोग दैवीय अवतार मानकर चढ़ा रहे चढ़ौती

जिला सवांदाता अरविन्द शर्मा 

सच है कि कुदरत का करिश्मा कोई नही जान सकता। क्योंकि ईश्वरीय चमत्कार अनोखे होते हैं। ऐसे में लोग उसे ही ईश्वर का अवतार मान लेते हैं। ऐसा ही एक मामला कानपुर देहात के रसूलाबाद क्षेत्र के कहिंजरी में सामने आया। यहां एक बच्चे के दो मुंह हैं लेकिन यह इंसान का नही बल्कि एक गाय का बच्चा है। दरसअल कहिंजरी के बनीपारा रोड निवासी कृष्ण कुमार शुक्ला के घर मे पली गाय ने एक अनोखे बछड़े को जन्म दिया। हैरत की बात यह है कि उस बछड़े के दो सिर हैं और वो भी चलायमान हैं। लोग तब अचंभे में पड़ गए जब जन्मा बछड़ा दोनों मुंह से अपनी मां का दूध पीने लगा। जैसे इस बात की जानकारी स्थानीय लोगों को हुई तो यह नजारा देखने वालों का तांता लग गया। बछड़े को देखते ही लोग तरह तरह की बाते करने लगे। वहीं लोग उसे देव अवतार की मान्यता देने लगे। धीरे धीरे इसकी जानकारी आग की तरह फैल गयी।
 
 
इसके बाद आस पास गांव कस्बा के लोग वहां कुदरती बछड़े को देखने लिए उमड़ पड़े। लोग दैवीय शक्ति बताते हुए वहां चढ़ा चढ़ाने लगे। फिलहाल दोमुंहा बछड़ा इस समय लोगों की चर्चा का विषय बना हुआ है। कानपुर देहात का कहिंजरी इस समय लोगों की जुबान पर है। दरअसल यहां एक गाय ने दो मुंह वाल बछड़े को जन्म दिया है, जो विलक्षण प्रवत्ति का होने के साथ स्वस्थ है। लोग उस दो मुंह वाले बछड़े को देवता का अवतार मान रहे हैं और चढ़ावा चढ़ा रहे थे। बताया जा रहा है कि दो मुंह वाला बछड़ा बारी-बारी से दोनों मुंह से स्तनपान करता है, जिसकी चर्चाओं का बाजार गर्म है। दो सिर होने के कारण उसके शरीर का अगला हिस्सा ज्यादा झुका है और वह चलने में असमर्थ है, लेकिन खड़ा करने पर वह चलने लगता है। बछड़े को देखने के लिए प्रतिदिन सैकड़ों लोग वहां पहुंच रहे हैं और चढ़ौती चढ़ा रहे हैं।

No comments:

Post a comment

तहकीकात डिजिटल मीडिया को भारत के ग्रामीण एवं अन्य पिछड़े क्षेत्रों में समाज के अंतिम पंक्ति में जीवन यापन कर रहे लोगों को एक मंच प्रदान करने के लिए निर्माण किया गया है ,जिसके माध्यम से समाज के शोषित ,वंचित ,गरीब,पिछड़े लोगों के साथ किसान ,व्यापारी ,प्रतिनिधि ,प्रतिभावान व्यक्तियों एवं विदेश में रह रहे लोगों को ग्राम पंचायत की कालम के माध्यम से एक साथ जोड़कर उन्हें एक विश्वसनीय मंच प्रदान किया जायेगा एवं उनकी आवाज को बुलंद किया जायेगा।