बाराबंकी -आवास की मांग को लेकर दर दर भटक रहा गरीब - तहकीकात न्यूज़ | Tahkikat News |National

आज की बड़ी ख़बर

Tuesday, 27 August 2019

बाराबंकी -आवास की मांग को लेकर दर दर भटक रहा गरीब



ब्यूरो चीफ: योगेश तिवारी

 एक तरफ केंद्र से लेकर राज्य सरकार गरीब मजलूमों  की सहायता व बे घरों को घर देने के लिए करोड़ों रुपये पानी की तरह बहा रही है लेकिन वहीं दूसरी तरफ सरकारी हीला हवाली व भ्रष्टाचार में गरीबों को उनका हक तक नहीं मिल पा रहा है जब तक  भ्रष्टाचार में लिप्त अधिकारियों की जेब गर्म नहीं होगी तब तक गरीबों को उनका हक नहीं मिलेगा।


बताते चले कि  सिरौलीगौसपुर,के कस्बा बदोसरांय में मुन्ना पुत्र मैकू  भारी बारिश में  खुले आसमान के नीचे सिर छिपाने को मजबूर है।इतना ही नही तीरपाल भी मजबूत नही है मुन्ना ने बहुत दर्द भरे सुरों में कहा साहब मै बहुत गरीब हूँ प्रधान मंत्री आवास तो सिर्फ अमीरों को मिल रहे हैं शायद किसी ईमानदार अधिकारी की नज़र हमारे टूटे फूटे मिट्टी घर पर पड़े बड़ी मुश्किल से दूसरों के खेतों में काम कर एक वक्त का खाना ही नसीब होता है सिर छुपाने के लिए  एक आशियाना बनाना एक सपने से कम नही है ।

 इतना ही नही,मुन्ना ने कहा कि कई बार ग्राम प्रधान व ग्राम पंचायत सचिव से आवास की मांग कर चुका हूँ  ,लेकिन आज तक  कोई सुनवाई नही हुई है,कुछ दिन पहले ग्राम प्रधान ने कहा था कि तुम्हारा नाम पात्रता सूची में है लेकिन गलती से हिन्दू सूची मे हो गया.है  हताश और निराश मुन्ना ने  आज फिर एक आस में  उपजिलाधिकारी को प्रार्थना पत्र देकर एक आवास के लिए गुहार लगाई  है।

अब सवाल यह उठता है कि सही मायने में जो आवास के पात्र हैं आखिर उनको आवास क्यों नही मिलता है।क्योंकि ज्यादा गरीब निर्धन होने के नाते ग्राम प्रधान सहित अधिकारियों की जेब नही गर्म कर पाते हैं ।शायद यही एक कारण है कि दर दर परिक्रमा करने के बाद भी सिर्फ अमीरों को प्रधानमंत्री आवास मिलते हैं ।आखिर गरीबों को आवास क्यों नही मिल पाता है इसका उत्तर तो सिर्फ विकास खंड के जिम्मेदार अधिकारी ही दे सकते हैं ।रसूलपुर बदोसरांय किन्तूर हजरत पुर में तमाम आवास विहीन हैं ।

No comments:

Post a Comment

तहकीकात डिजिटल मीडिया को भारत के ग्रामीण एवं अन्य पिछड़े क्षेत्रों में समाज के अंतिम पंक्ति में जीवन यापन कर रहे लोगों को एक मंच प्रदान करने के लिए निर्माण किया गया है ,जिसके माध्यम से समाज के शोषित ,वंचित ,गरीब,पिछड़े लोगों के साथ किसान ,व्यापारी ,प्रतिनिधि ,प्रतिभावान व्यक्तियों एवं विदेश में रह रहे लोगों को ग्राम पंचायत की कालम के माध्यम से एक साथ जोड़कर उन्हें एक विश्वसनीय मंच प्रदान किया जायेगा एवं उनकी आवाज को बुलंद किया जायेगा।