बनारस के मुफ़्ती मौलाना हारून रशीद नक्शबंदी भी हज को रवाना हुए - तहकीकात न्यूज़ | Tahkikat News |National

आज की बड़ी ख़बर

Saturday, 3 August 2019

बनारस के मुफ़्ती मौलाना हारून रशीद नक्शबंदी भी हज को रवाना हुए

ब्यूरो वाराणसी कैलाश सिंह विकास 

पहली बार चार महिलाएं बगैर मेहरम काशी से काबा रवाना पूर्वांचल से पहली बार महिला ख़ादिम-उल-हुज्जाज गईं हज ख़िदमतगार में हज यात्रा के छठवें दिन दो उड़ानों से 298 हज ज़ायरीन गए जेद्दा चौकाघाट स्थित अस्थाई हज हाउस में हज ज़ायरीनों को रवाना करने के लिए जामिया सल्फिआ मरकज़ी दारूल उलूम के मौलाना अब्दुल मतीन मदनी पहुंचे। उन्होंने हज पर जाने वाले ज़ायरीनों को मुबारकबाद दी और सभी हाजियों के हज के सारे अरकान सही तरीके से अदा हो जाये, दुनिया के सभी मुसलमानों को काबा शरीफ और मदीना शरीफ़ की ज़ियारत नसीब हो जाये इसके लिए भी दुआएं की। पूरे देश में कुल 2340 महिलाएं बगैर मेहरम हज पर जा रही हैं जिसमें 99 उत्तर प्रदेश से हैं। सबसे ज़्यादा 2011 केरल से हैं, तमिलनाडु से 37, महाराष्ट्र से 31, मध्य प्रदेश से 27, राजस्थान से 26, कर्नाटक से 23, दिल्ली से 12, उत्तराखण्ड से 5, छत्तीसगढ़ एवं पुदुच्चेरी से 4 और 61 महिलायें ऐसी प्रदेशों से हैं जहां बिन लॉटरी के सभी का चयन हो चुका है। ग़ाज़ीपुर से 4 महिलायें बग़ैर मेहरम हज पर रवाना हुई जिसमें नजमा खातून 70, आसमा बेगम 63, हदीसुन निसा 68, शजमसुन निसा 68 शामिल हैं। पहली बार बगैर मेहरम चार औरतों को समूह में जिनकी उम्र 45 से अधिक है ऐसी परम्परा पिछले साल यानी हज 2018 में शुरू हुई। कुल 1308 महिलाएं चार के ग्रुप में गई जिसमें सबसे ज़्यादा केरल से 1124, उत्तर प्रदेश से 32 महिलाएं गई थी।
 


पांच खादिम-उल-हुज्जाज भी सऊदी रवाना
 
वाराणसी के मोहम्मद इमरान व अली अफ़ज़ल, चंदौली के साजिद खान उर्फ़ सोनू, प्रयागराज से खुर्शीद अहमद खान व निशात परवीन ख़ादिम-उल-हुज्जाज बन कर रवाना हुए। ये पांचों पूरे 40 दिन पहले मक्का और फिर मदीना में रहकर हाजियों की ख़िदमत करेंगे और ख़ुद भी हज करेंगे। सेण्ट्रल हज कमेटी के सदस्य डॉ. इफ्तिखार अहमद जावेद ने बतलाया कि पूर्वांचल के कुल 16 खादिम-उल-हुज्जाज समेत समूचे उत्तर प्रदेश से कुल 155 ख़ादिम-उल-हुज्जाज का चयन हुआ है जो मक्का और मदीना में हाजियों की ख़िदमत करेंगे।

दो उड़ानों से गये हज ज़ायरीन
 
हज कोऑर्डिनेटर डॉ. इफ्तिखार अहमद जावेद के अनुसार पहली फ्लाइट अपने निर्धारित समय 7:30 बजे उड़ान भरी जिसमें मऊ के 2 व सोनभद्र के 11 समेत वाराणसी के 137 हज ज़ायरीन शामिल थे जिनमें पुरुष ज़ायरीनों की संख्या 77 और महिला ज़ायरीनों की संख्या 73 रही। दूसरी फ्लाइट जिसका समय 11:00 बजे था वो 20 मिनट पहले ही रवाना हो गई जिसमें प्रयागराज के 2, चंदौली के 34, गाज़ीपुर के 4, मऊ के 73, मिर्ज़ापुर के 14, सोनभद्र के 4 व वाराणसी के 17 हज ज़ायरीन शामिल रहे। जिसमें पुरुष ज़ायरीनों की संख्या 76 और महिला ज़ायरीनों की संख्या 72 थी। आधी रात से लेकर सुबह तक मौके पर उत्तर प्रदेश हज सेवा समिति के अध्यक्ष हाजी वसीम अहमद, पूर्वांचल हज सेवा समिति के अध्यक्ष हाजी रईस अहमद, हाजी रेयाज़ अहमद अंसारी, हाजी अब्दुल रहमान अंसारी, मास्टर हज ट्रेनर कारी मोहम्मद मुश्ताक़, हाजी मोहम्मद इमरान, ज़ीशान खान, मोहम्मद सुहैल, साजिद खान उर्फ सोनू, जियाउद्दीन अंसारी, सेराज अहमद फारुकी, निजामुल हक़ सिद्दीकी उर्फ गुड्डू, मोहम्मद ज़फर अंसारी, मास्टर हज ट्रेनर मोहम्मद इक़बाल खान, हामिद मुस्तफ़ा, हाजी अनीस अंसारी, शब्बीर अहमद अंसारी, हाजी शमीम जावेद, इमरान खान, एहतेशाम उर्फ सामू, हाजी ज़फरुद्दीन अंसारी, सफीर अहमद, राज सिद्दीक़ी, अदनान खान, मोहम्मद नसीम, हाजी मुन्नु समेत बड़ी संख्या में हज खिदमतगार मौजूद थे।

No comments:

Post a Comment

तहकीकात डिजिटल मीडिया को भारत के ग्रामीण एवं अन्य पिछड़े क्षेत्रों में समाज के अंतिम पंक्ति में जीवन यापन कर रहे लोगों को एक मंच प्रदान करने के लिए निर्माण किया गया है ,जिसके माध्यम से समाज के शोषित ,वंचित ,गरीब,पिछड़े लोगों के साथ किसान ,व्यापारी ,प्रतिनिधि ,प्रतिभावान व्यक्तियों एवं विदेश में रह रहे लोगों को ग्राम पंचायत की कालम के माध्यम से एक साथ जोड़कर उन्हें एक विश्वसनीय मंच प्रदान किया जायेगा एवं उनकी आवाज को बुलंद किया जायेगा।