फर्रुखाबाद लेंन-देंन रंगदारी के विवाद में पूर्व सपा विधायक उर्मिला राजपूत के पुत्र पंचशील राजपूत ने सगे भाईयों को मारी गोली - तहकीकात न्यूज़ | Tahkikat News |National

आज की बड़ी ख़बर

Friday, 2 August 2019

फर्रुखाबाद लेंन-देंन रंगदारी के विवाद में पूर्व सपा विधायक उर्मिला राजपूत के पुत्र पंचशील राजपूत ने सगे भाईयों को मारी गोली

रिपोर्ट - पुनीत मिश्रा 
 
फर्रुखाबाद लेंन-देंन रंगदारी के विवाद में पूर्व सपा विधायक उर्मिला राजपूत के पुत्र पंचशील राजपूत ने अपने साथियों के साथ मिलकर सगे भाईयों को गोली मार दी जिससे वह गंभीर रूप से जख्मी हो गये उन्हें उपचार के लिए लोहिया अस्पताल में भर्ती किया गया दिनदहाड़े फायरिंग की घटना से मोहल्ले में हडकंप मच गया जानकारी के मुताबिक पूर्ब सपा बिधायक पुत्र ने तक़रीबन एक दर्जन राउंड फायरिंग की बही घटना में घायल युवको के परिजनों ने पूर्ब बिधायक के पुत्र पर एक करोड़ की रंगदारी मांगने का भी आरोप लगा रहे है बही पिछले सपा सर्कार के दौरान भी तक़रीबन १२ लाख रुपये हड़प लिए लिए थे

 शहर कोतवाली क्षेत्र बढ़पुर निवासी नीतेश कटियार पुत्र श्रीनिवास व उनका छोटा भाई मानव  घर पर ही एसआर बिल्डिंग के नाम से दुकान पर बैठे थे उनका आरोप है कि उसी समय स्कार्पियो पर सबार होकर सपा पूर्व विधायक के पुत्र पंचशील राजपूत अपने साथियों के साथ आये और उन्होंने अपनी लाइसेंसी रिबाल्बर से फायरिंग कर दीजिससे नीतेश और मानव के पैर में गोली लगी घटना के बाद आरोपी फरार हो गये सूचना पर डायल 100 पुलिस मौके पर पंहुची वही दोनों घायलों को उपचार हेतु लोहिया अस्पताल में भर्ती किया गया सूचना मिलने पर एसपी डॉ० अनिल कुमार मिश्राकोतवाल सुनील मिश्रा आदि फ़ोर्स के साथ मौके पर आ गये उन्होंने पड़ताल की घटना के पीछे-लेंन का विवाद बताया जा रहा हएसपी डॉ० अनिल मिश्रा ने बताया की घटना में सपा की पूर्व विधायक के पुत्र व उनके साथियों का नाम प्रकाश में आया है उनकी तलाश की जा रही है तहरीर के आधार पर मुकदमा दर्ज किया जायेगा|

No comments:

Post a Comment

तहकीकात डिजिटल मीडिया को भारत के ग्रामीण एवं अन्य पिछड़े क्षेत्रों में समाज के अंतिम पंक्ति में जीवन यापन कर रहे लोगों को एक मंच प्रदान करने के लिए निर्माण किया गया है ,जिसके माध्यम से समाज के शोषित ,वंचित ,गरीब,पिछड़े लोगों के साथ किसान ,व्यापारी ,प्रतिनिधि ,प्रतिभावान व्यक्तियों एवं विदेश में रह रहे लोगों को ग्राम पंचायत की कालम के माध्यम से एक साथ जोड़कर उन्हें एक विश्वसनीय मंच प्रदान किया जायेगा एवं उनकी आवाज को बुलंद किया जायेगा।