स्वास्थ्य कर्मियों ने वेतन विसंगति, काडर पुनर्गठन आदि को लेकर 21 नवंबर को पूरे प्रदेश में मशाल जुलूस - तहकीकात न्यूज़ | Tahkikat News |National

आज की बड़ी ख़बर

Monday, 4 November 2019

स्वास्थ्य कर्मियों ने वेतन विसंगति, काडर पुनर्गठन आदि को लेकर 21 नवंबर को पूरे प्रदेश में मशाल जुलूस

foto google ,credit,amrujala

चिकित्सा स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग से जुड़े विभिन्न संवर्गों ने संयुक्त आंदोलन की रणनीति बनाई है। वेतन विसंगति, काडर पुनर्गठन आदि को लेकर 21 नवंबर को पूरे प्रदेश में मशाल जुलूस निकाला जाएगा। इसमें फार्मासिस्ट, आप्टोमेट्रिस्ट, लैब टेक्नीशियन, बीएचडब्ल्यू आदि शामिल होंगे। सभी संवर्गों के पदाधिकारियों की रविवार को राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद के महामंत्री अतुल मिश्रा की अध्यक्षता में बलरामपुर चिकित्सालय में हुई बैठक में यह एलान किया गया।

परिषद के प्रमुख उपाध्यक्ष एवं फार्मासिस्ट महासंघ के अध्यक्ष सुनील यादव ने बताया कि वेतन विसंगति के अतिरिक्त उच्च पदों का सृजन सहित सभी संवर्गों के पदों के पुनर्गठन के संबंध में मुख्य सचिव की अध्यक्षता में आठ अक्तूबर 2018 एवं 12 फरवरी 2019 को बैठक हो चुकी है। हर बार आश्वासन दिया गया, लेकिन अभी तक इस संबंध में फैसला नहीं हुआ। विभिन्न संवर्गों के उच्च पदों पर पदोन्नतियां नहीं हो पा रही हैं। मूल पद खाली पड़े हुए हैं, जिन पर नई नियुक्तियां भी नहीं हो पा रही हैं। विभागों मेंपुनर्गठन न होने से उच्च पदों का सृजन भी नहीं हो रहा है। विभाग में फार्मासिस्ट, स्टाफ  नर्स, एक्सरे टेक्नीशियन सहित अनेक पद मानक के अनुरूप नहीं हैं।

बैठक में डिप्लोमा फार्मासिस्ट एसोसिएशन के वरिष्ठ उपाध्यक्ष उपेंद्र सिंह, राजकीय फार्मासिस्ट महासंघ के अध्यक्ष सुनील यादव व महामंत्री अशोक कुमार, लैब टेक्नीशियन एसोसिएशन के अध्यक्ष सुरेश रावत, ऑप्टोमेट्रिस्ट संघ के अध्यक्ष सर्वेश पाटिल, बीएचडब्ल्यू संघ के अध्यक्ष धनंजय तिवारी, एक्सरे टेक्नीशियन संघ के मंत्री आरकेपी सिंह और डेंटल हाइजेनिस्ट संघ के डीडी त्रिपाठी ने एक स्वर से आंदोलन का एलान किया।

No comments:

Post a Comment

तहकीकात डिजिटल मीडिया को भारत के ग्रामीण एवं अन्य पिछड़े क्षेत्रों में समाज के अंतिम पंक्ति में जीवन यापन कर रहे लोगों को एक मंच प्रदान करने के लिए निर्माण किया गया है ,जिसके माध्यम से समाज के शोषित ,वंचित ,गरीब,पिछड़े लोगों के साथ किसान ,व्यापारी ,प्रतिनिधि ,प्रतिभावान व्यक्तियों एवं विदेश में रह रहे लोगों को ग्राम पंचायत की कालम के माध्यम से एक साथ जोड़कर उन्हें एक विश्वसनीय मंच प्रदान किया जायेगा एवं उनकी आवाज को बुलंद किया जायेगा।