गोरखपुर मे मिला कोरेना का पहला मरीज - तहकीकात न्यूज़ | Tahkikat News |National

आज की बड़ी ख़बर

Monday, 27 April 2020

गोरखपुर मे मिला कोरेना का पहला मरीज

कृपा शंकर चौधरी

गोरखपुर मे मिला कोरेना का पहला मरीज

गोरखपुर । कोरोना वायरस से महफूज़ गोरखपुर में भी इस वायरस ने पहुंच बना लिया है।  मामला गोला तहसील के उरुवा थाना क्षेत्र के हाटा बुजुर्ग का है जहां स्थानीय निवासी बाबूलाल 49 वर्ष की रविवार की रात में संक्रमण की पुष्टि हुई है। मरीज को बीआरडी मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया है। बीआरडी के प्राचार्य डॉ. गणेश कुमार से जानकारी मिली कि हाटा बुजुर्ग निवासी बाबूलाल को रविवार की शाम करीब सात बजे परिजन एम्बुलेंस से लेकर पहुंचे । मरीज को सांस लेने मे दिक्कत के साथ  सीने में दर्द की शिकायत थी। वह बीपी और शुगर का मरीज भी है। मरीज के हालत को देखकर डॉक्टरों ने आइसोलेशन वार्ड में भर्ती किया और फौरन गले से लार का नमूना लेकर कोरोना जांच के लिए भेजा गया। 
प्राचार्य के द्वारा बताया गया कि मरीज की हालत को देखते हुए उसके सैम्पल की सीबीनेट मशीन से जांच करने का फैसला किया गया। यह मशीन करीब डेढ़ घंटे में रिपोर्ट देती है। रात करीब 10 बजे रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव मिली। इसकी सूचना फौरन कमिश्नर, डीएम और सीएमओ को दी गई। मरीज के साथ ही परिजनों को क्वारंटीन कर दिया गया है। मरीज का इलाज शुरू हो गया है। 
प्राचार्य ने बताया कि बाबूलाल रविवार को ही दोपहर में दिल्ली से लौटा है। तीमारदारों ने बताया कि दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में शुगर और बीपी के इलाज के लिए भर्ती था। घर पर शाम पांच बजे तबीयत खराब हुई। सबसे पहले पीएचसी उरुवा ले जाया गया, वहां से जिला अस्पताल फिर बीआरडी लाया गया।
गौरतलब है कि दिल्ली में मजदूरी करने करने वाले बाबूलाल की तबीयत चार दिन पहले खराब हुई। उसके साथ दिल्ली में ही उरुवा क्षेत्र के तीन और लोग रहते हैं। जिसमें असिलाभार का सोनू भी शामिल है। साथियों ने उसे दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में भर्ती कराया। बाबूलाल को सीने में दर्द की शिकायत रही। शनिवार को सफदरजंग अस्पताल के डॉक्टरों ने उसे रेफर कर दिया। साथियों ने बाबूलाल को दिल्ली में दूसरे अस्पताल ले जाने की बजाय गोरखपुर लाने का फैसला किया। बाबूलाल के साथ तीनों साथी भी दिल्ली से एम्बुलेंस में लौटे। एम्बुलेंस ने तीनों को उरुवा में उतारा। इसके बाद बाबूलाल को उसके घर दोपहर एक से दो बजे के बीच उतारा गया । शाम चार बजे के बाद जब बाबूलाल की तबीयत बिगड़ने लगी तब मरीज बाबूलाल के पुत्र गोविंद द्वारा पिता को लेकर पीएचसी उरूवा पहुंचा गया जहां डॉक्टर आबिद ने उसकी जांच कर जिला अस्पताल रेफर कर दिया । 
बाबूलाल के पाजिटिव होने के साथ ही गोरखपुर से ग्रीनजोन का तमगा हट गया है । यह जिले में पहला कोरोना मरीज हैं। लॉकडाउन के दूसरे फेज में यह मरीज मिला है। इसके साथ ही प्रशासन की परीक्षा भी शुरू हो गई है। 




No comments:

Post a comment

तहकीकात डिजिटल मीडिया को भारत के ग्रामीण एवं अन्य पिछड़े क्षेत्रों में समाज के अंतिम पंक्ति में जीवन यापन कर रहे लोगों को एक मंच प्रदान करने के लिए निर्माण किया गया है ,जिसके माध्यम से समाज के शोषित ,वंचित ,गरीब,पिछड़े लोगों के साथ किसान ,व्यापारी ,प्रतिनिधि ,प्रतिभावान व्यक्तियों एवं विदेश में रह रहे लोगों को ग्राम पंचायत की कालम के माध्यम से एक साथ जोड़कर उन्हें एक विश्वसनीय मंच प्रदान किया जायेगा एवं उनकी आवाज को बुलंद किया जायेगा।