कोरोना संकट में 3 माह का बिजली बिल, जलकर व बच्चों की स्कूल की फीस हो माफ व दलित, पिछड़ों का शोषण व उत्पीड़न बंद हो - कमलेश कुमार भारती - तहकीकात न्यूज़ | Tahkikat News |National

आज की बड़ी ख़बर

Tuesday, 26 May 2020

कोरोना संकट में 3 माह का बिजली बिल, जलकर व बच्चों की स्कूल की फीस हो माफ व दलित, पिछड़ों का शोषण व उत्पीड़न बंद हो - कमलेश कुमार भारती

लखनऊ ब्यूरो

कोरोना संकट में 3 माह का बिजली बिल, जलकर व बच्चों की स्कूल की फीस हो माफ व दलित, पिछड़ों का शोषण व उत्पीड़न बंद हो कमलेश कुमार भारती

 

लखनऊ, 26 मई 020 को नागरिक एकता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष कमलेश कुमार भारती ने प्रेस विज्ञप्ति जारी कर कहा कि लाकडाउन में आमजन अपने घरों में थे इस दौरान सबसे अधिक कठिनाई मध्य वर्ग व निचले तबके की हुई कोरोना संकट की घड़ी में आय का श्रोत बंद हो गया, जिससे लोगों के सामने रोजी-रोटी तक का संकट खड़ा हो गया, ऐसे में शाशन सत्ता में बैठे लोगों से अनुरोध है कि कम से कम तीन माह का बिजली बिल, जलकर तथा बच्चों की स्कूल फीस जनहित में माफ करना चाहिए जिससे लोगों को राहत मिल सके साथ ही प्रदेश में जगह-जगह दलित व अति पिछड़े समाज का शोषण व उत्पीड़न लगातार हो रहे है | हाल ही में घटित कई घटनाएँ प्रदेश की कानून व्यवस्था पर सवालिया निशान खड़ा करती है | इन घटनाओं के कारण लोगों में भूख के साथ अब भय भी व्याप्त है, भाजपा सरकार में सभी मानवीय मूल्यों को रौंद कर रख दिया गया है | गांव पहुंचे प्रवासी मजदूरों के साथ भेदभाव किया जा रहा है तथा सड़कों पर भूखे- प्यासे मजदूरों पर लाठीयां बरसाई जा रही हैं | इन भेदभाव वाले कारनामों से मानवता शर्मशार हो रही है | श्री भारती ने कहा कि दबंगो द्वारा दलित व अति पिछड़ों का उत्पीड़न किया जा रहा है साथ-साथ ही थानों में भी उनकी कोई सुनवाई नहीं हो रही है | मैं सरकार से अनुरोध करता हूँ कि इन दबंगों के खिलाफ सख्त से सख्त कार्यवाई हो |


No comments:

Post a Comment

तहकीकात डिजिटल मीडिया को भारत के ग्रामीण एवं अन्य पिछड़े क्षेत्रों में समाज के अंतिम पंक्ति में जीवन यापन कर रहे लोगों को एक मंच प्रदान करने के लिए निर्माण किया गया है ,जिसके माध्यम से समाज के शोषित ,वंचित ,गरीब,पिछड़े लोगों के साथ किसान ,व्यापारी ,प्रतिनिधि ,प्रतिभावान व्यक्तियों एवं विदेश में रह रहे लोगों को ग्राम पंचायत की कालम के माध्यम से एक साथ जोड़कर उन्हें एक विश्वसनीय मंच प्रदान किया जायेगा एवं उनकी आवाज को बुलंद किया जायेगा।