बस्ती : मनबढ़ो ने किशोरी से की छेड़खानी, पुलिस को सूचना देने पर फूंकी झोपड़ी - तहकीकात न्यूज़ | Tahkikat News |National

आज की बड़ी ख़बर

Thursday, 7 May 2020

बस्ती : मनबढ़ो ने किशोरी से की छेड़खानी, पुलिस को सूचना देने पर फूंकी झोपड़ी

संवाददाता आलोक चौधरी बस्ती


मनबढ़ो ने किशोरी से की छेड़खानी, पुलिस को सूचना देने पर फूंकी झोपड़ी
 

बस्ती । दुबौलिया थाना क्षेत्र के जोगवापुर में एक किशोरी के साथ घर में घुसकर छेड़खानी का मामला सामने आया है। आरोप है कि इसकी सूचना डायल 112 पर देने से भड़के मनबढ़ों ने उनकी झोपड़ी को ही आग के हवाले कर दिया। प्रकरण में एसपी हेमराज मीणा के आदेश पर दुबौलिया पुलिस ने आधा दर्जन से अधिक लोगो के विरुद्ध बलवा, मारपीट, छेड़खानी, पाक्सो एक्ट व एससी/एसटी एक्ट के तहत केस दर्ज कर छानबीन शुरू कर दी है ।
दुबौलिया थाना क्षेत्र के एक गांव की रहने वाली पीड़िता के पिता का आरोप है कि चार मई की शाम करीब साढ़े आठ बजे परिवार के लोग घर से कुछ दूर पर खेत मे काम कर रहे थे। इस दौरान घर 16 वर्षीय बेटी अकेली थी। इसका फायदा उठाकर कुछ लोग घर में घुस गए और गलत नीयत के साथ उसके साथ अश्लील हरकत करने लगे।
आरोप है कि किशोरी ने विरोध किया तो मारपीट कर जानमाल की धमकी देने लगे। घर पहुंचने के बाद डायल 112 को सूचित किया। पुलिस आई और हम लोगों को थाने पर ले गई। पुलिस को सूचना देने से भड़के विपक्षी एक बार फिर घर पर लाठी-डंडा लेकर पहुंचे और मौजूद परिवारीजनों से मारपीट करने लगे, सभी जान बचाकर भागे। इसके बाद झोपड़ी को आग के हवाले कर दिया। अंदर रखा सारा सामान जलकर राख हो गया।
 दुबौलिया थाना प्रभारी ब्रह्मा गौड़ ने बताया कि पुलिस अधीक्षक  के आदेश पर आरोपी धर्मेद्र सिंह, रंजीत चौधरी, राहुल सिंह, राज सिंह, रमान्जय सिंह, रविन्द्र सिंह, आयुष सिंह के खिलाफ आईपीसी की धारा 147, 148, 149, 323, 504, 452, 354क, 436, 7/8 पाक्सो एक्ट और दलित उत्पीड़न एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज कर आरोपितों की तलाश शुरू कर दी गई है।

No comments:

Post a comment

तहकीकात डिजिटल मीडिया को भारत के ग्रामीण एवं अन्य पिछड़े क्षेत्रों में समाज के अंतिम पंक्ति में जीवन यापन कर रहे लोगों को एक मंच प्रदान करने के लिए निर्माण किया गया है ,जिसके माध्यम से समाज के शोषित ,वंचित ,गरीब,पिछड़े लोगों के साथ किसान ,व्यापारी ,प्रतिनिधि ,प्रतिभावान व्यक्तियों एवं विदेश में रह रहे लोगों को ग्राम पंचायत की कालम के माध्यम से एक साथ जोड़कर उन्हें एक विश्वसनीय मंच प्रदान किया जायेगा एवं उनकी आवाज को बुलंद किया जायेगा।