गौराचौकी में एंबुलेंस चालकों ने धरना प्रदर्शन के साथ लाइव केस और क्लोजिंग किया बंद। - तहकीकात न्यूज़ | Tahkikat News |National

आज की बड़ी ख़बर

Monday, 29 June 2020

गौराचौकी में एंबुलेंस चालकों ने धरना प्रदर्शन के साथ लाइव केस और क्लोजिंग किया बंद।

राकेश सिंह गोण्डा 

गौराचौकी में एंबुलेंस चालकों ने धरना प्रदर्शन के साथ लाइव केस और क्लोजिंग किया बंद

बभनजोत गोंडा

कोरोना महामारी में सरकार ने अनेकों कर्मचारियों को कोरोना योद्धा बना कर उन्हें जगह-जगह समाजसेवी संस्थाओं तथा बीजेपी कार्यकर्ताओं द्वारा सम्मानित किया 
लेकिन क्या जिनको कोरोना योद्धा कहकर बुलाया गया क्या उन कोरोना योद्धाओं के बारे में आप जानते हैं कि उनका् भी एक हंसता खेलता एक परिवार है और उस हंसते खेलते हुए परिवार को भी जीवन यापन करने के लिए पैसे की आवश्यकता होती है।
लेकिन वो पैसा जिससे कर्मचारियों का घर परिवार चलता है वो समय से मिल नहीं पाता।सैलरी कटौती की वजह से कर्मचारियों ने लाइव केस व क्लोजिंग बंद कर दिया है जिससे एंबुलेंस का संचालन कर रही कम्पनी का भी नुकसान होगा बावजूद इसके भी कम्पनी व सरकार कोई ठोस एक्शन नहीं  ले पा रही है।सरकार और कंपनी के बीच में जो तालमेल चल रहा है उस तालमेल से कहीं न कहीं  एंबुलेंस कर्मचारियों का उत्पीड़न हो रहा है।
शनिवार को एंबुलेंस चालकों ने वेतन सहित कई अन्य मुद्दों को लेकर जनपद गोंडा में स्थिति राजकीय यूनानी चिकित्सालय गौरा चौकी गोंडा में सोशल डिस्टेंसिंग को ध्यान में रखते हुए विरोध प्रदर्शन किया।
सरकार ने कोरोना महामारी में ऐसी व्यवस्था की है की कोई गरीब भूखा न सोने पाए सरकार ने गरीबों के हित को देखते हुए जन-धन योजना तथा फ्री राशन सहित अन्य  सुविधाएं उपलब्ध कराई
लेकिन सरकार ने अपने ही कर्मचारियों पर ध्यान नहीं दिया 
और कोरोना महामारी तथा लाॅकडाउन में लगातार मेहनत कर रहे एम्बुलेंस कर्मचारियों पर जरा सा भी ध्यान नहीं दिया जिससे एम्बुलेंस कर्मचारियों को मजबूर हो कर विरोध प्रदर्शन करना पड़ रहा है। 
विरोध प्रदर्शन में शामिल संदीप कुमार त्रिपाठी, अतुल पाठक, रंजीत तिवारी,जिलाजीत वर्मा, विनोद चौधरी, इम्तियाज अहमद, अशोक त्रिपाठी बृजेश त्रिपाठी तथा सर्वेश ने सरकार और गैर जिम्मेदार कंपनी के विरुद्ध विरोध प्रदर्शन कर सरकार से अपना हक और कंपनी के खिलाफ कार्रवाई की मांग की।

No comments:

Post a comment

तहकीकात डिजिटल मीडिया को भारत के ग्रामीण एवं अन्य पिछड़े क्षेत्रों में समाज के अंतिम पंक्ति में जीवन यापन कर रहे लोगों को एक मंच प्रदान करने के लिए निर्माण किया गया है ,जिसके माध्यम से समाज के शोषित ,वंचित ,गरीब,पिछड़े लोगों के साथ किसान ,व्यापारी ,प्रतिनिधि ,प्रतिभावान व्यक्तियों एवं विदेश में रह रहे लोगों को ग्राम पंचायत की कालम के माध्यम से एक साथ जोड़कर उन्हें एक विश्वसनीय मंच प्रदान किया जायेगा एवं उनकी आवाज को बुलंद किया जायेगा।