पेट्रोल डीजल की कीमत बढोत्तरी पर भागीदारी संकल्प मोर्चा का विरोध जारी - तहकीकात न्यूज़ | Tahkikat News |National

आज की बड़ी ख़बर

Tuesday, 30 June 2020

पेट्रोल डीजल की कीमत बढोत्तरी पर भागीदारी संकल्प मोर्चा का विरोध जारी

लखनऊ ब्यूरो

पेट्रोल डीजल की कीमत बढोत्तरी पर भागीदारी संकल्प मोर्चा का विरोध जारी

सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी द्वारा केन्द्र व प्रदेश  सरकार की जन विरोधी नीतियाॅ, डीजल-पेट्रोल की कीमतो में बढोत्तरी को वापस लेने एवं आरक्षण में छेड़-छाड़ के विरूद्ध जनपद हरदोई के संडीला विधानसभा के ग्रामसभा- तिलोइयाँ (खुर्द) में धरना_प्रदर्शन करते हुए विरोध प्रदर्शन किया गया एवं निम्न मांग की गई।

1. पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों से मॅहगाई बढे़गी। इस लिए पेट्रोल-डीजल की बढ़ी कीमत तत्काल वापस ली जाय।

2. संविधान एवं विधि सम्मत आरक्षण में किसी प्रकार का छेड़-छाड़ न किया जाय और मेडिकल में भी आरक्षण प्रदान किया जाय जबकि वर्तमान सरकार द्वारा मेडिकल में आरक्षण शून्य कर दिया गया है।

3. पिछड़ों, दलितोें अल्पसंख्यकों की हत्याओं एवं उत्पीड़न को तत्काल रोका जाय।

4. बेरोजगार नवयुवकों को रोजगार उपलब्ध कराया जाय।

5. किसानों को खाद, बीज व कीटनाशक दवायें उचित मूल्य पर उपलब्ध कराया जाय।

6. किसानों को उनकी ऊपज का समर्थन मूल्य दिलाना सुनिश्चित किया जाय।

7. छोटे व मझलें किसानों, दुकानदारों/व्यापारियों का कर्ज बिजली का बिल माफ किया जाय।

8. लाॅकडाउन के कारण गरीब किसानों व मजदूरों की आर्थिक स्थिति अत्यन्त खराब हो गयी है। इसलिए हमारी मांग है कि उनके बच्चों से अप्रैल, मई व जून की फीस की प्रतिपूर्ति सरकार द्वारा किया जाय।
 
9. वर्तमान सरकार का गयों के सम्बन्ध में निर्णय से आवारा पशु घूमा करते है। गौशालाओं की व्यवस्था सही नहीं है। किसानों को इससे बड़ी क्षति हो रही है। अतः आवारा पशुओं के रख रखाव का समुचित ढ़ंग से व्यवस्था की जाय।

10. किसानों के गन्ने के मूल्य का भुगतान तत्काल किया जाय।

No comments:

Post a comment

तहकीकात डिजिटल मीडिया को भारत के ग्रामीण एवं अन्य पिछड़े क्षेत्रों में समाज के अंतिम पंक्ति में जीवन यापन कर रहे लोगों को एक मंच प्रदान करने के लिए निर्माण किया गया है ,जिसके माध्यम से समाज के शोषित ,वंचित ,गरीब,पिछड़े लोगों के साथ किसान ,व्यापारी ,प्रतिनिधि ,प्रतिभावान व्यक्तियों एवं विदेश में रह रहे लोगों को ग्राम पंचायत की कालम के माध्यम से एक साथ जोड़कर उन्हें एक विश्वसनीय मंच प्रदान किया जायेगा एवं उनकी आवाज को बुलंद किया जायेगा।