किराना मंडी 13 जुलाई तक बंद, खाद्य व्यापार मंडल ने की टोटल लॉकडाउन की मांग - तहकीकात न्यूज़ | Tahkikat News |National

आज की बड़ी ख़बर

Monday, 6 July 2020

किराना मंडी 13 जुलाई तक बंद, खाद्य व्यापार मंडल ने की टोटल लॉकडाउन की मांग

कैलाश सिंह विकास

किराना मंडी 13 जुलाई तक बंद, खाद्य व्यापार मंडल ने की टोटल लॉकडाउन की मांग

वाराणसी । कोरोना के कारण वाराणसी में कतुआपुरा स्थित किराना मंडी 13 जुलाई तक बंद कर दी गई है। वहीं व्यापारियों ने वाराणसी में एक बार फिर लॉकडाउन की अपील जिलाधिकारी से की है। व्यापारियों का मानना है कि मंडियों में पूरे पूर्वांचल से लोग आ रहे हैं। इससे संक्रमण तेजी से फैल रहा है।
कतुआपुरा मंडी के व्यापारी के संक्रमित होने के बाद यहां के व्यापार मंडल ने रविवार को बैठक कर 13 जुलाई तक मंडी बंद रखने का फैसला लिया है। वाराणसी किराना व्यवसाय समिति के अध्यक्ष मनोज कुमार पांडेय ने बताया कि एहतियात के तौर पर किराना मंडी बंद रखी जाएगी।

उन्होंने कहा कि पूर्वांचल की किराना मंडी होने के नाते यहां बनारस सहित आसपास के जिलों से व्यवसाई आते हैं। इससे संक्रमण तेजी से फैलने का डर है। हालांकि व्यापार मंडल का दावा है कि कोरोना पॉजिटिव व्यापारी पिछले 10 दिनों से मंडी नहीं आ रहे थे।

उधर, जिले में कोरोना मरीजों की संख्या में लगातार बढ़ोतरी को देखते हुए एक बार फिर जिले में लॉकडाउन की मांग हो रही है। काशी खाद्य व्यापार मंडल ने जिला अधिकारी को पत्र लिखकर कम से कम एक हफ्ते तक संपूर्ण बंदी की मांग की है। व्यापार मंडल के अध्यक्ष कृष्णशरण दास अग्रवाल ने कहा कि थोक मंडियों व बाजारों में कई मरीज सामने आ चुके हैं। लिहाजा संपूर्ण बंदी होनी चाहिए।

वाराणसी में तेजी से कोरोना संक्रमण फैल रहा है। रविवार को भी 27 लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई। पिछले दस दिनों में ही करीब दो सौ लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आ चुकी है। इसमें ज्यादातर शहरी इलाके के लोग हैं। रोजाना कोरोना से मौत भी हो रही है। चिंता की बात यह है कि नए संक्रमितों की कांट्रैक्ट हिस्ट्री नहीं मिल रही है।

जिले में कोरोना संक्रमितों की संख्या इस समय 627 हो गई है। इसमें 23 लोगों की मौत हो चुकी है। फिलहाल 256 एक्टिव केस हैं। वाराणसी के एल-1 और एल-2 अस्पताल के बेड कोरोना मरीजों से भर चुके हैं। रविवार को नए कोरोना मरीजों के लिए डीरेका अस्पताल में इंतजाम शुरू किया गया और वहां मरीजों को शिफ्ट करना भी शुरू कर दिया गया।

No comments:

Post a comment

तहकीकात डिजिटल मीडिया को भारत के ग्रामीण एवं अन्य पिछड़े क्षेत्रों में समाज के अंतिम पंक्ति में जीवन यापन कर रहे लोगों को एक मंच प्रदान करने के लिए निर्माण किया गया है ,जिसके माध्यम से समाज के शोषित ,वंचित ,गरीब,पिछड़े लोगों के साथ किसान ,व्यापारी ,प्रतिनिधि ,प्रतिभावान व्यक्तियों एवं विदेश में रह रहे लोगों को ग्राम पंचायत की कालम के माध्यम से एक साथ जोड़कर उन्हें एक विश्वसनीय मंच प्रदान किया जायेगा एवं उनकी आवाज को बुलंद किया जायेगा।