वाराणसी : कोविड-19 के अंतर्गत ए-सिंपटोमेटिक मरीजों के प्राइवेट नर्सिंग होम में इलाज हेतु शासन द्वारा दरों का निर्धारण कर दिया गया है-जिलाधिकारी - तहकीकात न्यूज़ | Tahkikat News |National

आज की बड़ी ख़बर

Tuesday, 28 July 2020

वाराणसी : कोविड-19 के अंतर्गत ए-सिंपटोमेटिक मरीजों के प्राइवेट नर्सिंग होम में इलाज हेतु शासन द्वारा दरों का निर्धारण कर दिया गया है-जिलाधिकारी

कैलाश सिंह विकाश


कोविड-19 के अंतर्गत ए-सिंपटोमेटिक मरीजों के प्राइवेट नर्सिंग होम में इलाज हेतु शासन द्वारा दरों का निर्धारण कर दिया गया है-जिलाधिकारी

 वाराणसी । जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा ने बताया कि कोविड-19 के अंतर्गत ए-सिंपटोमेटिक मरीजों के प्राइवेट नर्सिंग होम में इलाज हेतु शासन द्वारा दरों का निर्धारण कर दिया गया है। ए श्रेणी के वाराणसी जनपद में कोविड-19 अंतर्गत मोडरेट सिकनेस वाले मरीजों के एनएबीएच एक्रिडेटेड हॉस्पिटल में इलाज हेतु पीपीई किट सहित चार्ज 10,000 रुपये तथा नॉन एनएबीएच एक्रिडेटेड हॉस्पिटल में इलाज हेतु पीपीई किट सहित चार्ज 8000 रुपये निर्धारित किया गया है। गंभीर (सीवियर सिकनेस) ऐसे मरीज जिनको बिना वेंटिलेटर वाले आईसीयू की आवश्यकता है, उसके लिए एनएबीएच एक्रिडेटेड हॉस्पिटल में इलाज हेतु पीपीई किट सहित चार्ज 15,000 तथा नॉन एनएबीएच एक्रिडेटेड हॉस्पिटल में पीपीई किट सहित चार्ज 13,000 रुपये रखा गया है। अत्यंत गंभीर (वेरी सीवियर सिकनेस) वाले ऐसे मरीज जिन्हें वेंटिलेटर वाले आईसीयू की आवश्यकता है, उनके लिए एनएबीएच एक्रिडेटेड हॉस्पिटल में इलाज हेतु पीपीई किट सहित चार्ज 18,000 रुपये तथा नॉन एनएबीएच एक्रिडेटेड हॉस्पिटल में पीपीई किट चार्ज सहित 15,000 रुपये रखा गया है। उल्लेखनीय है कि  वाराणसी जनपद में मेरिडियन हॉस्पिटल सारनाथ, मिडविन हॉस्पिटल मैदागिन, त्रिमूर्ति हॉस्पिटल से संबद्ध गुप्ता इन होटल नदेसर पूर्व से संचालित हैं एवं हाल ही में एपेक्स हॉस्पिटल डीएलडबल्यू रोड भिखारीपुर को अनुमति प्रदान की गयी है।        

No comments:

Post a comment

तहकीकात डिजिटल मीडिया को भारत के ग्रामीण एवं अन्य पिछड़े क्षेत्रों में समाज के अंतिम पंक्ति में जीवन यापन कर रहे लोगों को एक मंच प्रदान करने के लिए निर्माण किया गया है ,जिसके माध्यम से समाज के शोषित ,वंचित ,गरीब,पिछड़े लोगों के साथ किसान ,व्यापारी ,प्रतिनिधि ,प्रतिभावान व्यक्तियों एवं विदेश में रह रहे लोगों को ग्राम पंचायत की कालम के माध्यम से एक साथ जोड़कर उन्हें एक विश्वसनीय मंच प्रदान किया जायेगा एवं उनकी आवाज को बुलंद किया जायेगा।