गोण्डा : स्वतंत्रता संग्राम सेनानी डा. कैप्टन लक्ष्मी सहगल की पुण्यतिथि मनाई गई - तहकीकात न्यूज़ | Tahkikat News |National

आज की बड़ी ख़बर

Thursday, 23 July 2020

गोण्डा : स्वतंत्रता संग्राम सेनानी डा. कैप्टन लक्ष्मी सहगल की पुण्यतिथि मनाई गई

राकेश सिंह गोण्डा 

स्वतंत्रता संग्राम सेनानी डा. कैप्टन लक्ष्मी सहगल की पुण्यतिथि मनाई गई

मसकनवा(गोंडा) भारत की जनवादी नौजवान सभा व उप्र खेत मजदूर यूनियन के तत्वाधान में सरकारी स्वास्थ सेवाओं को मजबूत करो नारे के साथ स्वतंत्रता संग्राम सेनानी डा कैप्टन लक्ष्मी सहगल की पुण्यतिथि मसकनवा बाजार में मनायी गयी। इस अवसर पर उनकी याद में एक स्मृति सभा का आयोजन किया गया। सभा की अध्यक्षता जिला अध्यक्ष दुर्गा सिंह पटेल व संचालन गिर्जेश वर्मा ने किया।सभा के पूर्व उनकी प्रतिमा पर पुष्प अर्पित किया गया।सभा को संबोधित करते हुये उप्र खेत मजदूर यूनियन के जिला संयोजन समिति के सदस्य खगेन्द्र जनवादी ने कहा की डा कैप्टन लक्ष्मी सहगल आजादी के आंदोलन में आजाद हिंद फौज की रानी लक्ष्मीबाई रेजीमेंट की कैप्टन थी।आजादी के बाद एक डॉक्टर के तौर पर पूरी उम्र गरीब लोगों का मुफ्त इलाज किया।कानपुर शहर में मम्मी नाम से विख्यात कैप्टन लक्ष्मी सहगल महिला आंदोलनों की अग्रणी नेता रही।जनवादी नौजवान सभा के जिला कमेटी सदस्य सुनील गौड़ ने कहा की डा कैप्टन लक्ष्मी सहगल सार्वजनिक स्वास्थ सेवाओं को मजबूत करने और स्वास्थ को खर्च न समझकर सेवा समझने की उन्होंने हमेशा वकालत की।सभा के बाद प्रधानमंत्री को संबोधित छ सूत्री मांगपत्र विकास खंड छपिया मुख्यालय पर एडीओ पंचायत अनंत कुमार को सौंपा गया। दिये गये मांगपत्र में सरकारी स्वास्थ सेवाओं को मजबूत कर इसे खर्च न समझकर सेवा के रूप में लिये जाने,सभी को निशुल्क सार्वजनिक स्वास्थ व देखभाल की व्यवस्था दिये जाने,आगामी छ माह तक सभी व्यक्तियों को दस किलो राशन प्रतिमाह दिये जाने, आयकर से बाहर आने वाले सभी परिवारों के खाते में छ माह तक सात हजार पांच सौ रुपये भुगतान किये जाने, मनरेगा योजना में दो सौ दिन का काम दिये जाने, श्रम कानूनों, आवश्यक वस्तुओं, बिजली कानून के लिये जारी अध्यादेश वापस लिये जाने की मांग शामिल है।इस मौके पर आशा कर्मचारी यूनियन के मंडल संयोजक श्याम बरन पांडेय, शहजाद अली, मैराज शेख, आशीष पांडेय, अंकित कुमार, पीसी गुप्ता, अमित यादव, भोला पांडेय, आशुतोष गुप्ता, मो सुहेल आदि शामिल रहे।

No comments:

Post a comment

तहकीकात डिजिटल मीडिया को भारत के ग्रामीण एवं अन्य पिछड़े क्षेत्रों में समाज के अंतिम पंक्ति में जीवन यापन कर रहे लोगों को एक मंच प्रदान करने के लिए निर्माण किया गया है ,जिसके माध्यम से समाज के शोषित ,वंचित ,गरीब,पिछड़े लोगों के साथ किसान ,व्यापारी ,प्रतिनिधि ,प्रतिभावान व्यक्तियों एवं विदेश में रह रहे लोगों को ग्राम पंचायत की कालम के माध्यम से एक साथ जोड़कर उन्हें एक विश्वसनीय मंच प्रदान किया जायेगा एवं उनकी आवाज को बुलंद किया जायेगा।