वाराणसी में कोविड मरीजों के ठीक होने का रिकवरी-रेट 76.22 प्रतिशत है - तहकीकात न्यूज़ | Tahkikat News |National

आज की बड़ी ख़बर

Saturday, 22 August 2020

वाराणसी में कोविड मरीजों के ठीक होने का रिकवरी-रेट 76.22 प्रतिशत है

कैलाश सिंह विकास वाराणसी


वाराणसी में कोविड मरीजों के ठीक होने का रिकवरी-रेट 76.22 प्रतिशत है

रेमिडिसीवर, प्लाज्मा थिरैपी आदि हर सम्भव तरीके कोरोना मरीज के इलाज पर शासकीय व्यवस्था द्वारा किया जा रहा है

व्यापक सर्विलान्स, कान्ट्रैक्ट ट्रेसिंग व सैम्पलिंग कर कोरोना संक्रमित को चिंहित कर उन्हें चिकित्सालय या होमआईसोलेशन में रखकर इलाज किया जा रहा है

औसतन 2500 सैम्पलिंग प्रतिदिन होने लगी है

जनपद में कोविड-19 के इलाज हेतु 2163 बेड विभिन्न एल-1, एल-2 व एल-3 श्रेणी के चिकित्सा इकाईयों में व्यवस्था है-जिलाधिकारी,वाराणसी

         
         जनपद में कोविड-19 महामारी से बचाव हेतु व्यापक स्तर पर गॉव व शहरों में सर्विलान्स, कान्टैक्ट ट्रेसिंग व सैम्पलिंग आदि की कार्यवाही कर कोरोना संक्रमित लोगों को चिंहित कर उनकी स्थिति के अनुरूप अस्पताल या होम आइसोलेशन में रखकर इलाज किया जा रहा है। मरीजों के ठीक होने का रिकवरी-रेट 76.22 प्रतिशत है। 
     प्रदेश शासन द्वारा कोविड-19 के इलाज हेतु हर सम्भव उपाय किये जाने के निर्देश दिये गये हैं। प्लाज्मा थिरैपी द्वारा व रेमिडिसीवर जैसी दवाओं का शासकीय व्यवस्था द्वारा मरीजों का इलाज हो रहा है। मरीजां के जीवन रक्षा हेतु हर सम्भव प्रयास राज्य सरकार स्तर व जिला प्रशासन द्वारा किया जा रहा है, फलस्वरूप जनपद में कोविड-19 के मरीजो का मृत्यु दर 1.8 प्रतिशत है। कोविड-19 मरीजों हेतु 2163 बेडों की व्यवस्था एल-1, एल-2 एवं एल-3 के कोविड चिकित्सालयों में उपलब्ध है। अब तक कुल 90,335 लोगों की सैम्पल लिये जा चुके हैं, जिसमें 47237 आर0टी0पी0 सी0आर0 विधि से, 38152 एण्टीजन किट से व 4946 टू-नेट विधि से सैम्पल लिये गये हैं, जिसमें से 80654 की रिपोर्टें प्राप्त हो चुकी हैं जिसमें से 74299 लोग निगेटिव व 6355 लोग पाजिटिव आये हैं। कोविड-19 पुष्ट रोगी के सम्पर्क में रहने वाले 48,855 लोगों के सैम्पल लिये गये हैं। शहरी क्षेत्र में 35 टीमें तथा ग्रामीण क्षेत्र में 12 टीमें सैम्पलिंग कर रही हैं। वर्तमान में औसतन लगभग 2500 सैम्पल प्रतिदिन लिये जा रहे हैं। 33 रैपिड रिस्पान्स टीमें डोर-टू-डोर कार्य कर रही हैं जो 2730 विजिट कर चुकी है जो कोमोर्विड मरीजों, संदिग्ध व्यक्तियों व होम आईसोलेशन मरीजों से सम्पर्क कर उन्हें चिकित्सकीय व्यवस्था सुनिश्चित कर रही हैं। ये टीमें लोगों की आवश्यकतानुसार पैरासिटामाल, सिट्रिजिन, डाइक्लोफेनिक, आयुर्वेदिक काढ़ा, आइवरमेट्रिन, डाक्सीसाइक्लिन, एजिथ्रोमाइसिन, जिंक व अन्य एन्टीबायटिक दवायें उपलब्ध करायी जा रही है।
    कोविड मरीजों को लाने हेतु 27 एम्बुलेंस लगायी गयी है। जनपद में अब तक 1301 कंटेनमेंट जोन बनाये गये। सर्विलांस टीम की 982 टीमें लगी हैं जिनके द्वारा 972812 घरों में 4883464 लोगों की जॉच की गई। इन टीमों द्वारा घरों का सर्वे रिपीट किया गया है अतः यह संख्या आबादी से अधिक हो गई है। आम जनता की सुविधा हेतु इंट्रीग्रेटिड कमांड एण्ड कंट्रोल सेन्टर से संचालित है जहॉ एक साथ 25 कालों को अटैण्ड करने की व्यवस्था है। कंट्रोल सेन्टर पर किसी व्यक्ति के सम्पर्क करने पर उनकी समस्याओं के निराकरण के लिए 24 घण्टे 
चिकित्सक की उपलब्धता है तथा उनके द्वारा सम्बन्धित व्यक्ति को उचित सलाह अविलम्ब दी जाती है। व्यक्ति द्वारा बीमारी के लक्षण बताने पर उसे आवश्यकतानुसार एम्बुलेंस आदि की व्यवस्था से अस्पताल पहुॅचाया जाता है। जनपद में कोरोना पाजिटिव रेट 7.87 प्रतिशत है अर्थात् कुल टेस्ट जॉच में पाये गये पाजिटिव केस का रेट है। अब तक ठीक हुए 4844 मरीजों में से 2847 होम आईसोलेशन में तथा 1997 मरीज अस्पतालों में ठीक हुए हैं। 
   आमजन को कोविड-19 से बचाव व जागरूकता के लिए 33 गाडि़यॉ माइक से शहरी व ग्रामीण क्षेत्रों में कार्य कर रही हैं। कन्टेनमेन्ट जोन सहित बाजारों, मुहल्लों व गॉवों में समय-समय पर सेनेटाइलेशन कार्य सतत् किया जा रहा है। एन्टीजन किट से जॉच में कन्टेनमेन्ट जोन तथा व्यापक स्तर पर व्यापारिक संस्थानो, प्रेस के संस्थानों, जिला कारागार व केन्द्रीय कारागार, जिला सत्र न्यायालय व अन्य राजकीय व प्राईवेट संस्थानों के लोगों को सम्मिलित किया गया था। जनपद में डोर-टू-डोर सर्वे व आइवरमेक्टिन वितरण में स्वास्थ्य विभाग के अतिरिक्त आपूर्ति विभाग, नागरिक सुरक्षा तथा शिक्षा विभाग के लोगों का भी सहयोग लिया जा रहा है जिनके द्वारा अभी तक 67639 लोगों को उक्त दवा का लाभ पहुॅचाया गया है। 
    कोविड-19 महामारी से बचाव के लिए मा0 मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ जी, मा0 मंत्री सुरेश खन्ना जी व नोडल अधिकारी डा0 देवेश चतुर्वेदी, अपर मुख्य सचिव, आयुक्त श्री दीपक अग्रवाल जी, मुख्य चिकित्साधिकारी डा0वी0बी0सिंह द्वारा बैठकें, समीक्षा व पर्यवेक्षणीय कार्य किया गया है। लोगों को मास्क के उपयोग व सोशल डिस्टेंसिंग का कड़ाई से अनुपालन करने के लिए प्रेरित किया जा रहा है तथा इसका उल्लंघन करने वाले पर जुर्माना भी किया जा रहा है। मा0 जन प्रतिनिधियों, विभिन्न संगठनों, गणमान्य नागरिकों आदि से सम्पर्क व सुझाव भी लिये जा रहे हैं। हर हाल में कोरोना पर विजय की रणनीति हर क्षण प्रत्येक व्यक्ति के मन में प्रबल है।

No comments:

Post a comment

तहकीकात डिजिटल मीडिया को भारत के ग्रामीण एवं अन्य पिछड़े क्षेत्रों में समाज के अंतिम पंक्ति में जीवन यापन कर रहे लोगों को एक मंच प्रदान करने के लिए निर्माण किया गया है ,जिसके माध्यम से समाज के शोषित ,वंचित ,गरीब,पिछड़े लोगों के साथ किसान ,व्यापारी ,प्रतिनिधि ,प्रतिभावान व्यक्तियों एवं विदेश में रह रहे लोगों को ग्राम पंचायत की कालम के माध्यम से एक साथ जोड़कर उन्हें एक विश्वसनीय मंच प्रदान किया जायेगा एवं उनकी आवाज को बुलंद किया जायेगा।