गोण्डा: दिनदहाड़े चाकू मारकर हत्या के विरोध में ग्रामीणों ने किया चक्का जाम - तहकीकात न्यूज़ | Tahkikat News |National

आज की बड़ी ख़बर

Sunday, 16 August 2020

गोण्डा: दिनदहाड़े चाकू मारकर हत्या के विरोध में ग्रामीणों ने किया चक्का जाम

राकेश सिंह गोण्डा 


दिनदहाड़े चाकू मारकर हत्या के विरोध में ग्रामीणों ने किया चक्का जाम

मनकापुर गोण्डा:शुक्रवार को कोतवाली क्षेत्र मनकापुर के बल्लीपुर गांव में एक युवक की दिनदहाड़े चाकू गोदकर हत्या किए जाने के मामले में पुलिसिया रवैये से आक्रोशित ग्रामीणों ने विरोध प्रदर्शन करते हुए चक्का जाम कर दिया। ग्रामीण हत्यारों की जल्द गिरफ़्तारी को लेकर अड़े रहे। काफ़ी देर बाद एसडीएम के आश्वासन के बाद ग्रामीणों ने विरोध प्रदर्शन समाप्त किया। इस दौरान प्रशासन को ग्रामीणों का जबरदस्त विरोध का सामना करना पड़ा 

प्राप्त जानकारी के अनुसार कोतवाली क्षेत्र के बल्लीपुर गांव में शुक्रवार को एक युवक की दबंगों ने चाकू से गोदकर हत्या कर दी थी। जिसकी देर शाम इलाज के दौरान मौत हो गयी थी।बताया जाता है की मृतक युवक चार बहनों में अकेला भाई था।और पिता की भी मृत्यु पहले हो चुकी है।आरोप है की शनिवार सुबह आरोपी पक्ष के करीब आधा दर्जन महिला समेत लोग लाठी डंडे से लैस युवक के घर पहुँच कर कोई कार्यवायी ना करने का दबाव बनाने लगे।ग्रामीण के हस्तक्षेप के बाद दबंग भाग खड़े हुए।जिसके बाद गुस्साए ग्रामीणों ने मनकापुर-मसकनवा मार्ग को जाम कर दिया।ग्रामीण सभी आरोपीयों को जल्द गिरफ़्तार कर कड़ी कार्यवाही करने की माँग करते रहे। विरोध-प्रदर्शन की खबर सुनकर प्रशासन के हाथ पाँव फूल गये।आनन फानन में दो थानों की पुलिस बल तैनात कर दी गयी।मौके पर उपज़िलाधिकारी मनकापुर हीरालाल प्रदर्शन स्थल पर पहुँच कर हत्या में संलिप्त सभी आरोपियों की जल्द गिरफ़्तारी के आश्वासन पर परिजनों ने विरोध प्रदर्शन समाप्त किया।फ़िलहाल पुलिस ने मुख्य आरोपी को वारदात वाले ही दिन आला कत्ल के साथ गिरफ़्तार कर लिया है।बाकी आरोपी को तलाश रही है

No comments:

Post a Comment

तहकीकात डिजिटल मीडिया को भारत के ग्रामीण एवं अन्य पिछड़े क्षेत्रों में समाज के अंतिम पंक्ति में जीवन यापन कर रहे लोगों को एक मंच प्रदान करने के लिए निर्माण किया गया है ,जिसके माध्यम से समाज के शोषित ,वंचित ,गरीब,पिछड़े लोगों के साथ किसान ,व्यापारी ,प्रतिनिधि ,प्रतिभावान व्यक्तियों एवं विदेश में रह रहे लोगों को ग्राम पंचायत की कालम के माध्यम से एक साथ जोड़कर उन्हें एक विश्वसनीय मंच प्रदान किया जायेगा एवं उनकी आवाज को बुलंद किया जायेगा।