गोण्डा: गाँव की बेटियों ने हरियाली बचाने के लिए एक अनूठा तरीका ईज़ाद किया है - तहकीकात न्यूज़ | Tahkikat News |National

आज की बड़ी ख़बर

Monday, 14 September 2020

गोण्डा: गाँव की बेटियों ने हरियाली बचाने के लिए एक अनूठा तरीका ईज़ाद किया है

राकेश सिंह गोण्डा 

गाँव की बेटियों ने हरियाली बचाने के लिए एक अनूठा तरीका ईज़ाद किया है

गोंडा: सूबे की योगी सरकार हरे भरे पर्यावरण के लिए पौधरोपण अभियान चला रही है और इस अभियान के तहत प्रत्येक वर्ष करोड़ों की संख्या में पौधरोपण किया जा रहा है| वहीं अब गांव की बेटियों ने पेंड़ों को बचाने के लिए एक अनोखी पहल की है। यूपी के गोंडा में गाँव की बेटियों ने पेड़ों की कटान पर लगाम लगाने के लिए एक अनूठा तरीका ईजाद किया है जिससे लोग आस्था /दहशत में पेड़ों को न काटे।

 इन बेटियों ने गाँव के पेड़ों पर पेंट से भगवान के प्रतीक चिन्ह बनाये हैं। पेंड़ पर कहीं डमरू बना है तो किसी में त्रिशूल तो किसी में चक्र शिवलिंग बनाकर इन बेटियों ने बेहद अनूठा प्रयास किया है। जिले के मुजेहना ब्लाक के पंडितपुरवा गांव निवासी रानी लक्ष्मीबाई वीरता पुरस्कार विजेता बिटिया फूल कुमारी उर्फ जूली पांडेय व उनकी टीम ने अपने गाँवों व आसपास के गाँवों में इसकी शुरुआत की है। 

जूली ने बताया की पेड़ लग कम रहे है और कट ज्यादा रहे है। इसलिए पेड़ों की सुरक्षा के लिए उनपर भगवान का प्रतीक चिन्ह बनाया गया है ताकि इस  दहशत से लोग पेड़ो़ को न काटे। उसका कहना है की पित्रपक्ष में वह अपने पूर्वजों से यह वादा कर रही है की उनके लगवाए गए पेड़ों को वह कटने नहीं देंगी।   

पर्यावरण की सुरक्षा को लेकर चलाई जा रही इन अनूठी मुहिम को देखने के लिए आपको जिले के मुजेहना ब्लाक के पंडितपुरवा गाँव की टेढ़ी मेढ़ी पगडंडियों को पार करके आना पड़ेगा जहां मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा रानी लक्ष्मीबाई वीरता से पुरस्कार से सम्मानित फूल कुमारी उर्फ जूली पांडेय अपने सहेलियों के साथ पित्रपक्ष में एक अनूठी मुहिम चला रही है। ग्रामीण क्षेत्रों में पेड़ों की कटान रोकने के लिए वह पेड़ों पर भगवान के प्रतीक चिन्ह को पेंट से बनाती है।

इन बेटियों ने  किसी पेड़ में त्रिशूल तो किसी में डमरू, कहीं सूरज कहीं शिवलिंग और किसी में ॐ की आकृति उकेरी है। जूली व उसकी सहेलियां पेड़ों पर पेंटिंग के साथ लोगों को पेड़ न काटने की बात भी बताती है। गांव की सुधा पांडेय का कहना है कि जब पेड़ों पर भगवान के प्रतीक चिन्ह बने रहेंगे तो लोग दहशत में पेड़ को नहीं काटेंगे। पित्रपक्ष में इन बेटियों ने अपने पूर्वजों से वादा भी किया है की वह उनके लगवाए गए पेड़ों को नहीं कटने देंगी। बहरहाल यह देखने वाली बात होगी कि इन बेटियों की यह मुहिम कितनी सफल होती है।

No comments:

Post a comment

तहकीकात डिजिटल मीडिया को भारत के ग्रामीण एवं अन्य पिछड़े क्षेत्रों में समाज के अंतिम पंक्ति में जीवन यापन कर रहे लोगों को एक मंच प्रदान करने के लिए निर्माण किया गया है ,जिसके माध्यम से समाज के शोषित ,वंचित ,गरीब,पिछड़े लोगों के साथ किसान ,व्यापारी ,प्रतिनिधि ,प्रतिभावान व्यक्तियों एवं विदेश में रह रहे लोगों को ग्राम पंचायत की कालम के माध्यम से एक साथ जोड़कर उन्हें एक विश्वसनीय मंच प्रदान किया जायेगा एवं उनकी आवाज को बुलंद किया जायेगा।