AMETHI किसानों को मुआवजा न मिला तो कॉंग्रेस करेगी आंदोलन---प्रदीप सिंघल जिलाध्यक्ष अमेठी - तहकीकात न्यूज़ | Tahkikat News |National

आज की बड़ी ख़बर

Thursday, 15 October 2020

AMETHI किसानों को मुआवजा न मिला तो कॉंग्रेस करेगी आंदोलन---प्रदीप सिंघल जिलाध्यक्ष अमेठी

मयंक पाण्डेय अमेठी


किसानों को मुआवजा न मिला तो कॉंग्रेस करेगी आंदोलन---प्रदीप सिंघल जिलाध्यक्ष अमेठी



अमेठी ।अयोध्या-रायबरेली फोरलेन पर किसानों की जमीनों पर मिलने वाले मुआवजा में व्याप्त तमाम अनियमितताओं को लेकर आक्रोशित किसानों व कांग्रेसियों ने कांग्रेस जिला अध्यक्ष प्रदीप सिंघल के नेतृत्व में प्रदर्शन करते हुए एसडीएम मुसाफिरखाना को ज्ञापन सौंपा और कहा कि यदि किसानों की मुआवजा संबंधी समस्याओं का अति शीघ्र निस्तारण नहीं हुआ तो कांग्रेस जबरदस्त आंदोलन करेगी | उन्होंने कहा कि सरकार ने पहले से ही आहत किसानों को तीन काले कानूनों द्वारा और बदतर स्थिति में पहुंचा दिया है ऊपर से मुआवजा में घोर अनियमितता किसानों को और बदहाल कर दे रहा है| जिलाध्यक्ष ने शीघ्र अति शीघ्र किसानों के मसले को निस्तारित करने को कहा साथ ही श्री सिंघल ने कहा कि 15 दिन में कृत कार्यवाही से मुझे भी अवगत कराया जाए|  इस अवसर पर विधायक राधेश्याम धोबी जिला उपाध्यक्ष शत्रुघ्न सिंह धर्मराज बलिया जिला कोषाध्यक्ष मोहम्मद इलियास, जिला प्रवक्ता डॉ. अरविंद चतुर्वेदी जिला महासचिव सुनील सिंह विजय पासी वीरेंद्र मिश्रा प्रदेश सचिव हनुमंत विश्वकर्मा राजू ओझा विनोद मिश्रा हुसैन हैदर कुलवंत सिंह भूमि विकास बैंक के अध्यक्ष गुरु प्रसाद त्रिपाठी युवा कांग्रेस के जिला अध्यक्ष शकील इदरीसी सेवादल जिला अध्यक्ष रामबरन कश्यप मोहम्मद अकमल मोहम्मद मासूम मोहम्मद मतीन अहमद रिफाकत रसूल मोहम्मद अशफाक अखिलेश शुक्ला सतीश सिंह रामेंद्र सिंह मोहम्मद रेहान कामता प्रसाद मिश्रा जिला सचिव अर्जुन पासी रामदत्त यादव सुनील सिंह डब्लू देवेंद्र सिंह गप्पू पवन तिवारी इत्यादि उपस्थित रहे

No comments:

Post a comment

तहकीकात डिजिटल मीडिया को भारत के ग्रामीण एवं अन्य पिछड़े क्षेत्रों में समाज के अंतिम पंक्ति में जीवन यापन कर रहे लोगों को एक मंच प्रदान करने के लिए निर्माण किया गया है ,जिसके माध्यम से समाज के शोषित ,वंचित ,गरीब,पिछड़े लोगों के साथ किसान ,व्यापारी ,प्रतिनिधि ,प्रतिभावान व्यक्तियों एवं विदेश में रह रहे लोगों को ग्राम पंचायत की कालम के माध्यम से एक साथ जोड़कर उन्हें एक विश्वसनीय मंच प्रदान किया जायेगा एवं उनकी आवाज को बुलंद किया जायेगा।