GONDA गौ-आश्रय केंद्र पर अव्यवस्थाओं का साम्राज्य, जिम्मेदार बने अंजान, भूख और बीमारी से दम तोड़ रहीं गायें! - तहकीकात न्यूज़ | Tahkikat News |National

आज की बड़ी ख़बर

Thursday, 29 October 2020

GONDA गौ-आश्रय केंद्र पर अव्यवस्थाओं का साम्राज्य, जिम्मेदार बने अंजान, भूख और बीमारी से दम तोड़ रहीं गायें!

राकेश सिंह गोण्डा 

गौ-आश्रय केंद्र पर अव्यवस्थाओं का साम्राज्य, जिम्मेदार बने अंजान, भूख और बीमारी से दम तोड़ रहीं गायें!

गौ आश्रय केंद्र रुद्रगढ़ नौसी में व्याप्त अव्यवस्था एवं भ्रष्टाचार पर लगाम नहीं लग पा रही है। चेतावनी के बाद भी प्रशासन द्वारा न कोई ठोस कदम उठाया जा रहा है और न ही जिम्मेदारों के विरूद्ध कार्रवाई की जा रही है।

गोण्डा। क्षेत्र का चर्चित मॉडल गौ आश्रय केंद्र रुद्रगढ़ नौसी में व्याप्त अव्यवस्था एवं भ्रष्टाचार पर लगाम नहीं लग पा रही है। चेतावनी के बाद भी प्रशासन द्वारा न कोई ठोस कदम उठाया जा रहा है और न ही जिम्मेदारों के विरूद्ध कार्रवाई की जा रही है। हालत यह है कि यहां की तस्वीरें विचलित कर देती हैं, लेकिन इसके बावजूद सब आंखें बंद किए हुए हैं।

मुजेहना क्षेत्र में स्थित गौआश्रय केंद्र रूद्रगढ़ नौसी की स्थिति भयावह है। यहां पशुओं की दुर्दशा और मौत की खबरें प्रकाशित होने के बाद अधिकारी आश्रय केंद्र पहुंचकर खानापूर्ति तो कर देते हैं किन्तु न तो पशुओं की दुर्दशा को लेकर कोई ठोस कदम उठाया जाता है और न ही अनगिनत गौवंशों की मौत की जिम्मेदारी तय कर कार्यवाही ही की जाती है। इसी का परिणाम है की मंगलवार को करीब आधा दर्जन पशु मृत अवस्था में पड़े मिले।

विचलित कर देती हैं गौआश्रय केंद्र रूद्रगढ़ नौसी की तस्वीरें

मृत पड़े गौवंशों को देखकर दुःखी हुए भाजपा नेता ने सिस्टम पर खड़े किए सवाल

मुजेहना ब्लॉक मुख्यालय पर आयोजित भाजपा के एक कार्यक्रम से जिला मुख्यालय लौट रहे प्रदेश संयोजक नीति शोध विभाग भाजपा एवं प्रदेश कार्य समिति सदस्य पुष्कर मिश्रा से स्थानीय लोगों ने अनुरोध किया तो वे गौआश्रय केंद्र पहुंच गये। आश्रय केंद्र का दर्दनाक मंजर देखकर बीजेपी नेता विचलित हो गए। उन्होंने रुधिर शब्दों से इस पापाचार की घोर भर्त्सना की। मौके पर उन्होंने पाया कि करीब आधा दर्जन पशु मृत पड़े थे, जिन्हें दूसरे जानवर, पक्षी नोच रहे थे। आश्रय केंद्र में केवल एक मजदूर मिला।

भाजपा नेता मिश्र ने इस दुर्दशा के जिम्मेदार लोगों की शिकायत भाजपा के राष्ट्रीय स्तर के नेताओं तथा मुख्यमंत्री से करने की बात कही। उन्होंने यह भी कहा कि अगर जिम्मेदारियों का निर्वाहन लोग नहीं कर सकते तो उन्हें अपनी कुर्सी छोड़ देनी चाहिए, ताकि गौ हत्या जैसे जघन्य आरोपों से बचा जा सके।

बीडीओ की चेतावनी भी हवा-हवाई

बताते चलें कि इससे पहले भी रूद्रगढ़ नौसी गौ आश्रय केंद्र में एक ही दिन में पांच पशुओं की मौत की खबर पर विकास खण्ड मुजेहना के खण्ड विकास अधिकारी ने आश्रय केंद्र पहुंचकर सचिव व ग्राम प्रधान को तलब किया था। इसके साथ ही इस तरह की घटना की पुनरावृत्ति होने पर पशु क्रूरता अधिनियम के तहत मुकदमा लिखाने की चेतवानी भी दी थी, लेकिन उनकी इस चेतवानी का कोई असर दिखाई नहीं पड़ रहा है। आज भी पशुओं की मौत का सिलसिला जारी है।

No comments:

Post a comment

तहकीकात डिजिटल मीडिया को भारत के ग्रामीण एवं अन्य पिछड़े क्षेत्रों में समाज के अंतिम पंक्ति में जीवन यापन कर रहे लोगों को एक मंच प्रदान करने के लिए निर्माण किया गया है ,जिसके माध्यम से समाज के शोषित ,वंचित ,गरीब,पिछड़े लोगों के साथ किसान ,व्यापारी ,प्रतिनिधि ,प्रतिभावान व्यक्तियों एवं विदेश में रह रहे लोगों को ग्राम पंचायत की कालम के माध्यम से एक साथ जोड़कर उन्हें एक विश्वसनीय मंच प्रदान किया जायेगा एवं उनकी आवाज को बुलंद किया जायेगा।