GORAKHPUR सपा जिलाध्यक्ष नगीना प्रसाद साहनी के नेतृत्व में पार्टी नेताओं व कार्यकर्ताओं ने सौंपा ज्ञापन - तहकीकात न्यूज़ | Tahkikat News |National

आज की बड़ी ख़बर

Monday, 19 October 2020

GORAKHPUR सपा जिलाध्यक्ष नगीना प्रसाद साहनी के नेतृत्व में पार्टी नेताओं व कार्यकर्ताओं ने सौंपा ज्ञापन

कृपा शंकर चौधरी ब्यूरो गोरखपुर

सपा जिलाध्यक्ष नगीना प्रसाद साहनी के नेतृत्व में पार्टी नेताओं व कार्यकर्ताओं ने सौंपा ज्ञापन

गोरखपुर। उत्तर प्रदेश में लगातार हो रही हत्याएं, बच्चियों के साथ दुष्कर्म, लूट की घटनाएं एवं बलिया में जय प्रकाश पाल की निर्मम हत्या को लेकर राष्ट्रीय अध्यक्ष के निर्देश पर जिलाध्यक्ष नगीना प्रसाद साहनी के नेतृत्व में पार्टी नेताओं व कार्यकर्ताओं ने राज्य में अनियंत्रित अपराध बिषय पर जिलाधिकारी के माध्यम से महामहिम राज्यपाल को संबोधित ज्ञापन सौपा। जिला पार्टी के बेतियाहाता कार्यालय से चलकर ज्ञा्पन सौपने जातें समय कार्यालय पर टीडीएम तिराहे पर अलहलादपुर व रीढ साहब धर्मशाला पर पूलिस से झड़प के बाबजूद भी पार्टी नेताओं व कार्यकर्ताओं ने कलेक्ट्रेट पहुंच कर ज्ञापन सौंपा गया।

जिलाध्यक्ष द्वारा दिए गए ज्ञापन में निम्न बातों का उल्लेख किया गया और घटनाओं को परत दर परत दिखाते हुए कहा गया कि उत्तर प्रदेश में कानून व्यवस्था की स्थिति अत्यंत गम्भीर है। हत्या, लूट, अपहरण,बलात्कार की घटनाएं रोज ही घट रही है और प्रदेश की भाजपा सरकार इस पर नियंत्रण पाने में पूर्णतया विफल है। प्रदेश में बेलगाम अपराध और बेखौफ अपराधी सत्ता संरक्षण में पल रहे हैं। जनता अपने को असुरक्षित मान रही है। चारों तरफ भय और आतंक का माहौल है।भाजपा राज में सर्वाधिक असुरक्षित महिलाएं एवं बच्चियां है। महिलाओं के साथ 2017 में 56011, वर्ष 2018 में 59445, वर्ष 2019 में 59853 अपराध हुए हैं। राष्ट्रीय अपराध ब्यूरो की रिपोर्ट के अनुसार पूरे भारत में अपराधों के सापेक्ष 14.3 प्रतिशत अपराध संख्या उत्तर प्रदेश में होने से उसे अपराधों के मामले में प्रथम स्थान प्राप्त होता है। ध्वस्त कानून व्यवस्था का आलम तो यह है कि बलिया में 15 अक्टूबर 2020 को दिनदहाड़े राशन दुकान के आवंटन की पंचायत में हुए विवाद में भाजपा नेता ने एक युवक को गोली मार दी। इस समय एसडीएम और सीओ भी मौजूद थे। पुलिस की पकड़ में आने के बाद भी आरोपी को भाग जाने दिया गया। बच्चियों के साथ दुष्कर्म की घटनाओं से सभी लोग विचलित हैं। प्रदेश में किसी भी अपराधी को अपराध करने में जरा भी संकोच या शर्म नहीं होती है क्योंकि उसे सत्ता का संरक्षण मिलने का भरोसा होता है। कैसी विडम्बना है कि भाजपा सरकार दलितों, वंचितों और समाज के कमजोर वर्गों के हितों की पूर्णतया अनदेखी कर रही है। हाथरस में दलित बेटी के साथ दुष्कर्म और उसकी नृशंस हत्या के बाद आधी रात को पुलिस ने उसका शव जला दिया पुलिस-प्रशासन का यह रवैया भी अत्यंत शर्मनाक रहा है। कई किशोरियों ने रेप की घटनाओं के बाद ग्लानि में आत्मदाह कर जान दे दी। न केवल हाथरस अपितु बलरामपुर, आजमगढ़, बुलन्दशहर, भदोही, लखनऊ, बाराबंकी,बागपत, मेरठ, फतेहपुर, अलीगढ़, उन्नाव, लखीमपुर खीरी, मथुरा, महाराजगंज और प्रयागराज में भी हैवानियत की घटनाओं से प्रदेश की बदनामी हुई है।जनपद गोरखपुर में आदिवासी समाज के 12 वर्षीय शैलेश गौड़ की गला दबा कर निर्भय हत्या सत्ता संरक्षित अपराधियों द्वारा कर दी गयी। जनपद गोरखपुर के गुलरिहा थाना क्षेत्र में खुटहन में जंगल अयोध्या दास निवासी हीरा लाल चौहान के पुत्र राणा चौहान की निर्मम हत्या कर दी गयी जनपद गोरखपुर के ही थाना शाहपुर के रामजानकी नगर में एक बुजुर्ग महिला और उसके नाती की निर्मम हत्या कर दी गयी दिनांक 18 अक्टूबर 2020 को गोरखनाथ मंदिर के सामने देवरिया जनपद की बलात्कार पीड़िता ने आत्मदाह करने का प्रयास किया।पुलिस की लीपापोती और अपराधियों को सत्ता द्वारा संरक्षण से कानून मानने वाले नागरिक विचलित है

ज्ञापन के मुख्य अंश

भाजपा सरकार के कार्यव्यवहार से प्रदेश में हर तरफ आक्रोश है। नागरिक अपने जानमाल की सुरक्षा के लिए हर क्षण चिंतित रहते हैं। महिलाओं की जिंदगी असुरक्षित है।विपक्ष पर सरकार हमलावर है। जनधन की सुरक्षा जैसी कोई चीज नज़र नहीं आती है। हर दिन मानवता को शर्मसार करने वाली घटनाएं हो रही है। प्रदेश में लोकतंत्र की हत्या हो रही है।निश्चित रूप से प्रदेश में संवैधानिक संकट की स्थिति है। सत्तारूढ़ सरकार ध्वस्त कानून व्यवस्था को सम्हालने में पूरी तरह विफल है। प्रदेश में विकास अवरूद्ध है। जनता त्राहि-त्राहि कर रही है। इन स्थितियों में गम्भीर प्रश्न है कि जनधन की सुरक्षा मिलेगी या नहीं? जनता की सुरक्षा का क्या होगा? प्रदेश में संवैधानिक मर्यादा का पालन होगा या नहीं? हमें आशा है कि आप अपने संवैधानिक दायित्व का निर्वहन करेंगी।
जिलाध्यक्ष नगीना प्रसाद साहनी निवर्तमान महानगर अध्यक्ष जियाउल इस्लाम अखिलेश यादव अवधेश यादव रजनीश यादव यशपाल रावत विजय बहादुर यादव अमरेन्द्र निषाद रुपावती बेलदार मनुरोजन यादव मिर्जा कदीर बेग जयप्रकाश यादव मुन्नी लाल यादव जितेंद्र सिंह दूधनाथ मौर्या अमित सिंह सैथवार सिंहासन यादव संजय पहलवान कृष्ण कुमार त्रिपाठी हाजी शकील अंसारी प्रमोद यादव राघवेंद्र तिवारी राजू कीर्तिनिधि पांडे देवेंद्र भूषण निषाद हीरा लाल यादव राम अजोर मौर्य विक्रम यादव बाबूराम यादव सुमन पासवान नंदलाल कनौजिया रमेश यादव बिट्टू यादव नरसिंह यादव जावेद खान बेचूलाल साहनी अशोक चौहान राम औतार विश्वकर्मा गौरव प्रकाश गवीश दुबे कपिल मुनि यादव रामप्रवेश यादव संतोष कुमार यादव चंद्रभान प्रजापति लाल बहादुर पासवान विनोद विश्वकर्मा विनोद यादव राजेश यादव घनानंद यादव सिकंदर यादव आदित्य सिंह चंद्र प्रकाश शुक्ला एहतेशाम खान राहुल यादव रामजीत यादव अजय यादव संतोष गौड़ मनोज यादव सुरेंद्र निषाद सुधीर यादव मोहम्मद शाहिद अजय यादव श्यामदेव निषाद बिंदा देवी आनंद राय अशोक चौधरी विनोद विश्वकर्मा अभिषेक यादव धर्मेंद्र यादव अकरम खान सोनू पांडे अशोक यादव दुर्गेश यादव सुरेंद्र यादव सुरेन्द्र मौर्य आफताब अहमद शिव शंकर गौड़ चर्चिल अधिकारी आजम लारी उर्मिला देवी नमिता सिंह सुशीला भारती रणजीत पासवान आफताब शमा परवीन पतासी देवी गौड़ अभिषेक यादव व्यंकटेश तिवारी इमरान खान सिराजुद्दीन रहमानी विकास यादव कक्कू विजेंद्र अग्रहरि अनूप यादव राजीव यादव राज मंगल यादव सोनू यादव राहुल त्रिपाठी अमीरूद्दीन अंसारी सद्दाम हुसैन शकील शाही मोहम्मद अली सहादत अली सिद्दीकी गोलू यादव रामा यादव राजेश सिंह अब्दुल कयूम आदि मौजूद रहे

No comments:

Post a comment

तहकीकात डिजिटल मीडिया को भारत के ग्रामीण एवं अन्य पिछड़े क्षेत्रों में समाज के अंतिम पंक्ति में जीवन यापन कर रहे लोगों को एक मंच प्रदान करने के लिए निर्माण किया गया है ,जिसके माध्यम से समाज के शोषित ,वंचित ,गरीब,पिछड़े लोगों के साथ किसान ,व्यापारी ,प्रतिनिधि ,प्रतिभावान व्यक्तियों एवं विदेश में रह रहे लोगों को ग्राम पंचायत की कालम के माध्यम से एक साथ जोड़कर उन्हें एक विश्वसनीय मंच प्रदान किया जायेगा एवं उनकी आवाज को बुलंद किया जायेगा।