VARANASI स्वर्णकार क्षत्रिय कमेटी की ओर से किया गया शस्त्र पूजन - तहकीकात न्यूज़ | Tahkikat News |National

आज की बड़ी ख़बर

Tuesday, 27 October 2020

VARANASI स्वर्णकार क्षत्रिय कमेटी की ओर से किया गया शस्त्र पूजन

कैलाश सिंह विकास वाराणसी

स्वर्णकार क्षत्रिय कमेटी की ओर से किया गया शस्त्र पूजन

(शस्त्र पूजन के अवसर पर कन्या पूजन भी किया गया)

वाराणसी । भगवान श्रीराम ने  रावण पर  विजय प्राप्ति के लिए  मां दुर्गा की आराधना की थी और साथ ही शस्त्र का पूजन किया था तभी से सनातन धर्म के लोग क्रोध पर क्षमा की विजय, अज्ञानता पर ज्ञान की विजय, बुराई पर अच्छाई की विजय और असत्य पर सत्य का विजय पर्व दशहरा का पर्व हर्षोल्लास के साथ मनाते चले आ रहे हैं। उसी परिप्रेक्ष्य में आज विजयादशमी के दिन सन् 1954 से चली आ रही परंपरा को स्वर्णकार क्षत्रिय कमेटी परिवार ने दारानगर स्थित नंद भवन में हर्षोल्लास के साथ शस्त्र पूजन किया। 
सर्वप्रथम प्रारंभ में कमेटी के अध्यक्ष किशोर कुमार सेठ ने पूजन किया। पंडित मिथिलेश शुक्ला बिहारी जी के आचार्यत्व में मां दुर्गा की विशाल तस्वीर के समक्ष दुर्गा सप्तशती का संपुट पाठ हुआ। शस्त्र पूजन के अवसर पर पारंपरिक अस्त्र-शस्त्र ढाल तलवार आदि शस्त्रों का विधिवत पूजन अर्चन हुआ। 
अभ्यागतों का स्वागत महामंत्री श्याम कुमार सर्राफ तथा धन्यवाद प्रकाश कोषाध्यक्ष जनार्दन प्रसाद वर्मा ने किया।
 शस्त्र पूजन कार्यक्रम में मुख्य रूप से सरोज सेठ, विनोद कुमार सेठ, श्याम सुंदर सिंह, रवि सर्राफ, कृष्ण कुमार सेठ, मुरली मनोहर सिंह, कैलाश सिंह विकास,  कमल कुमार सिंह, अनुज गौतम, सत्य प्रकाश सेठ, घनश्याम सेठ, राजू वर्मा,  सत्यनारायण सेठ, दुर्गा प्रसाद एडवोकेट, अवधेश सेठ, प्रताप सिंह, विष्णु सेठ, विशाल सेठ एडवोकेट, रविशंकर सिंह, सुरेंद्र सेठ एडवोकेट, आशीर्वाद सिंह, किशुन लाल सेठ, जितेंद्र सेठ, कृष्ण कुमार पवार, सीताराम सेठ, उमेश सेठ, सत्येंद्र वर्मा, मंजीत सेठ, विक्रम सिंह, रितेश सेठ, रिंकू सेठ, संतोष कुमार सेठ, राजन सेठ, रवि वर्मा, मनोज वर्मा, सर्वेश वर्मा, राजेश कुमार वर्मा, कन्हैयालाल सेठ, गोविंद सेठ, सोनी सेठ, आदि शामिल थे।

No comments:

Post a comment

तहकीकात डिजिटल मीडिया को भारत के ग्रामीण एवं अन्य पिछड़े क्षेत्रों में समाज के अंतिम पंक्ति में जीवन यापन कर रहे लोगों को एक मंच प्रदान करने के लिए निर्माण किया गया है ,जिसके माध्यम से समाज के शोषित ,वंचित ,गरीब,पिछड़े लोगों के साथ किसान ,व्यापारी ,प्रतिनिधि ,प्रतिभावान व्यक्तियों एवं विदेश में रह रहे लोगों को ग्राम पंचायत की कालम के माध्यम से एक साथ जोड़कर उन्हें एक विश्वसनीय मंच प्रदान किया जायेगा एवं उनकी आवाज को बुलंद किया जायेगा।