समाजवादी पार्टी में विलय का सवाल ही नहीं उठता शिवपाल सिंह यादव - तहकीकात न्यूज़ | Tahkikat News |National

आज की बड़ी ख़बर

Friday, 6 November 2020

समाजवादी पार्टी में विलय का सवाल ही नहीं उठता शिवपाल सिंह यादव

राकेश सिंह गोण्डा 

समाजवादी पार्टी में विलय का सवाल ही नहीं उठता शिवपाल सिंह यादव

गोण्डा। प्रगतिशील समाजवादी पार्टी लोहिया के राष्ट्रीय अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव ने कहा है कि उनकी पार्टी का समाजवादी पार्टी में विलय का सवाल ही नहीं उठता। शिवपाल यादव ने कहा, आगामी विधानसभा चुनाव सपा से गठबंधन कर लड़ेंगे और भाजपा को सत्ता से बेदखल करने का काम जरुर करेंगे। शिवपाल ने कहा कि गरीब, किसान, नौजवान विरोधी सरकार का सत्ता से बाहर होना बहुत जरूरी है।

शिवपाल सिंह यादव आज गोण्डा जिले के इटियाथोक में स्थित आरपीएस इंटर कॉलेज में प्रगतिशील समाजवादी पार्टी लोहिया द्वारा आयोजित एक कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे। कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए शिवपाल सिंह यादव ने कहा कि भाजपा शासन में महंगाई लगातार बढ़ती जा रही है। इसके साथ ही भ्रष्टाचार, हत्या, लूट और बेटियों पर अत्याचार की घटनाएं लगातार बढ़ रही हैं। देश व प्रदेश में गन्ना किसानों की हालत काफी दयनीय है। भारतीय जनता पार्टी की सरकार किसानों को उनकी उपज का समर्थन मूल्य भी नहीं दे पा रही है।

उन्होंने सरकार की नीतियों पर सवाल उठाते हुए कहा कि नोटबंदी और जीएसटी से लोगों को काफी परेशानी हुई। पीएम ने दावा किया था कि वह कालाधन लाकर हर नागरिक को पन्द्रह लाख रूपये देंगे, मगर आज तक किसी को पंद्रह रूपए भी नसीब नहीं हुए। शिवपाल ने कहा कि यूपी के थाने भ्रष्टाचार का अड्डा बन गए हैं। यहां पर बिना पैसे लिए कोई काम नहीं हो पा रहा है।

सभा में अजय त्रिपाठी मुन्ना प्रदेश महासचिव, कमर रजा राष्ट्रीय अध्यक्ष युवा प्रकोष्ठ, मोहम्मद मेहताब फारुख, जिला अध्यक्ष सुरेश कुमार शुक्ला, सहित प्रगतिशील समाजवादी पार्टी लोहिया के तमाम कार्यकर्ता मौजूद रहे।

No comments:

Post a comment

तहकीकात डिजिटल मीडिया को भारत के ग्रामीण एवं अन्य पिछड़े क्षेत्रों में समाज के अंतिम पंक्ति में जीवन यापन कर रहे लोगों को एक मंच प्रदान करने के लिए निर्माण किया गया है ,जिसके माध्यम से समाज के शोषित ,वंचित ,गरीब,पिछड़े लोगों के साथ किसान ,व्यापारी ,प्रतिनिधि ,प्रतिभावान व्यक्तियों एवं विदेश में रह रहे लोगों को ग्राम पंचायत की कालम के माध्यम से एक साथ जोड़कर उन्हें एक विश्वसनीय मंच प्रदान किया जायेगा एवं उनकी आवाज को बुलंद किया जायेगा।