बांदा डीएम गौवंशों की सुरक्षा को लेकर गम्भीर, कड़ेआदेश से मचा हड़कंप! - तहकीकात न्यूज़ | Tahkikat News |National

आज की बड़ी ख़बर

Wednesday, 25 November 2020

बांदा डीएम गौवंशों की सुरक्षा को लेकर गम्भीर, कड़ेआदेश से मचा हड़कंप!

सलिल यादव बांदा

बांदा डीएम गौवंशों की सुरक्षा को लेकर गम्भीर, कड़ेआदेश से मचा हड़कंप!


बांदा। जिलाधिकारी आंनद कुमार सिंह गौवंशों की जाड़े में सुरक्षा को लेकर अत्यंत चिंतित और गम्भीर हैं। इस संदर्भ में उन्होनें संबंधित अधिकारियों पर शिकंजा मात्र ही नहीं कसा बल्कि दण्डनात्मक कार्यवाई की चेतावनी देकर अधीनस्थ प्रशासनिक सहयोगियो में खलबली मचा दी है। कठोर शब्दों में समझा दिया है की हिन्दु धर्म व भारतीय संस्कृति में गौ का स्थान मां से भी ऊपर है। गाय के शरीर में सभी देवी देवताओं का वास माना जाता है। इसकी रक्षा करना हर व्यक्ति का कर्तव्य है। इस लिये सभी गौशालाओं में इस बात का विशेष ध्यान रखा जाये की भूख, प्यास और ठंड से गोवंसो की मृत्यु कदापि नहीं होनी चाहिये अन्यथा जिम्मदारअधिकारी किसी दशा में बक्से नहीं जाऐगे।
इसके लिये एसडीएम, जिला पंचायत अधिकारी, पशु चिकित्सा अधिकारी, खण्ड विकास अधिकारी दण्डनात्म्क कार्यवाई के दायरे में होगें। डीएम ऩे सचेत कर दिया है की वह स्वयं स्थलीय निरीक्षण के साथ ही स्थिति की निरंतर समीक्षा भी करेगें।
जिलाधिकारी नें निर्देशित किया हैं की जिले में संचालित गौ संरक्षण केन्द्रों में संरक्षित गौवंशोंको बढ़ती ठंड से सुरक्षा के लिये सार्थक उपाय किये जाये।इसमे स्वयं सेवी संस्थाओ से तिरपाल,टाट-पट्टी,बोरो आदि की व्यवस्था सुनिश्चत हो। टीन शेडो को भली भांति ढका जाये,जिससे शीत लहर शेडो में प्रवेश न कर सके।साथ ही गौवंशों को टाट-बोरो से कपड़े के रूप में पहनाया जाये तभी ठंडी से उनका बचाव होगा।धूप निकलने पर धूप में रखें।गर्माहट के लिए देखरेख में अलाव की भी व्यवस्था हो।गौ वंशों के बैठने के स्थान पर सोख्ता के रूप में भी पुवाल औऱ पीने के लिये अति शीतल जल की जगह सामान्य पानी की व्यवस्था होनी चाहिये। पशु चिकित्सा अधिकारी निरंतर भ्रमण में रह कर गोवंसो के स्वास्थ का परीक्षण करें। निर्देशित सभी अधिकारियों को कड़ाई से हिदायत दी है किकिसी प्रकार की निर्देशों के प्रति लापरवाही क्षम्य नहीं होगी।

No comments:

Post a comment

तहकीकात डिजिटल मीडिया को भारत के ग्रामीण एवं अन्य पिछड़े क्षेत्रों में समाज के अंतिम पंक्ति में जीवन यापन कर रहे लोगों को एक मंच प्रदान करने के लिए निर्माण किया गया है ,जिसके माध्यम से समाज के शोषित ,वंचित ,गरीब,पिछड़े लोगों के साथ किसान ,व्यापारी ,प्रतिनिधि ,प्रतिभावान व्यक्तियों एवं विदेश में रह रहे लोगों को ग्राम पंचायत की कालम के माध्यम से एक साथ जोड़कर उन्हें एक विश्वसनीय मंच प्रदान किया जायेगा एवं उनकी आवाज को बुलंद किया जायेगा।