निशुल्क जन जागरूकता कार्यक्रम का उद्घाटन - तहकीकात न्यूज़ | Tahkikat News |National

आज की बड़ी ख़बर

Thursday, 25 March 2021

निशुल्क जन जागरूकता कार्यक्रम का उद्घाटन

कैलाश सिंह विकास वाराणसी

निशुल्क जन जागरूकता कार्यक्रम का उद्घाटन 

वाराणसी। सेंट्रल जोनल प्रथम (उत्तर प्रदेश एवं उत्तराखंड) कोआर्डिनेशन कमेटी भारतीय पुनर्वास परिषद, भारत सरकार, नई दिल्ली के तत्वाधान में सेविका दिव्यांगजन सशक्तिकरण ट्रस्ट, वाराणसी द्वारा श्री हनुमान प्रसाद पोद्दार अंध महाविद्यालय दुर्गाकुंड, वाराणसी में एक दिवसीय *निशुल्क जन जागरूकता कार्यक्रम* का उद्घाटन श्री राजेश मिश्रा, जिला दिव्यांग कल्याण अधिकारी, वाराणसी व दिव्यांग बंधु डॉ उत्तम ओझा, कनवेनर, भारतीय पुनर्वास परिषद, सेंटर जोन प्रथम, नई दिल्ली, द्वारा संयुक्त रूप से किया गया। कार्यक्रम को मुख्य अतिथि के रूप में संबोधित करते हुए डॉ उत्तम ओझा ने कहा कि माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र दास मोदी जी के परिकल्पना के अनुसार दिव्यांगजन को उचित अवसर एवं संसाधन उपलब्ध कराकर उनकी क्षमता का समाज हित में उपयोग करने का प्रयास पूरे भारतवर्ष में सतत रूप से जारी है। कार्यक्रम की अध्यक्षता डॉ तुलसी, सदस्य, राष्ट्रीय मानसिक दिव्यांग संस्थान, सिकंदराबाद ने किया। कार्यक्रम में डॉ आर ए जोसेफ निदेशक, समाकलन दिव्यांग संस्थान ने भारतीय पुनर्वास परिषद की भूमिका पर विस्तार से प्रकाश डाला। डॉ अजय तिवारी सदस्य, भारतीय पुनर्वास परिषद, नई दिल्ली ने कहा कि दिव्यांगता के क्षेत्र में चल रहे कोर्स को बढ़ावा देने की आवश्यकता है। फादर चेतन, जन विकास समिति वाराणसी ने मुख्य रूप से संबोधित किया।
कार्यक्रम के समापन सत्र की मुख्य अतिथि डॉ संध्या ओझा, एसोसिएट प्रोफेसर, मनोविज्ञान विभाग, अग्रसेन कन्या पीजी कॉलेज ने कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि दिव्यांगजन को उचित प्रोत्साहन एवं मनोवैज्ञानिक संबल प्रदान कर मुख्यधारा से जोड़ा जा सकता है। समापन समारोह के मुख्य वक्ता प्रो कमालुद्दीन शेख, सदस्य, राज्य सलाहकार बोर्ड, उत्तर प्रदेश ने कहा कि इस तरह की जागरूकता कार्यक्रम सतत रूप से किया जाना चाहिए ताकि दिव्यांगजन अपने अधिकारों व सरकार की ओर से मिलने वाले सुविधा सुविधाओं से अवगत हो सकें। समापन समारोह की अध्यक्षता श्री श्याम सुंदर जी अग्रवाल, प्रबंधक श्रीहनुमान प्रसाद पोद्दार अंध महाविद्यालय, वाराणसी ने किया। कार्यक्रम में डॉ पूजा दीक्षित, सी ई ओ, आर्य महिला नागरमल मॉडल स्कूल ने कहा कि अंगदान करके दिव्यांगों की सच्ची सेवा की जा सकती है मैंने अपनी आंखों को दान कर दिया है और सभी से आह्वान करती हूँ कि आप भी अंगदान करने का संकल्प लें। डॉ सुनील मिश्रा, अध्यक्ष, साक्षर इंडिया फाउंडेशन, डॉ संजय चौरसिया, अध्यक्ष, उत्तर प्रदेश दिव्यांग क्रिकेट एसोसिएशन ने कहा कि वाराणसी में एशिया स्तर के दिव्यांग क्रिकेट का आयोजन किया जाएगा। डॉ मनोज तिवारी शिक्षाविद एवं मनोचिकित्सक, सुमित सिंह सदस्य नशा मुक्ति एवं पुनर्वास समिति, भारत सरकार व डॉ नियाज अहमद ने मुख्य रूप से संबोधित किया। 
कार्यशाला के सफल आयोजन में श्यामलाल, प्रदीप सोनी, सुबोध राय, प्रदीप राजभर, आशुतोष प्रजापति व सुधा दीक्षित ने महत्वपूर्ण भूमिका अदा किया।
डॉ तुलसी ने कार्यशाला का सार प्रस्तुत किया। कार्यक्रम का संचालन नमिता सिंह कार्यक्रम संयोजक एवं धन्यवाद ज्ञापन चंद्रकला रावत ने किया।


No comments:

Post a comment

तहकीकात डिजिटल मीडिया को भारत के ग्रामीण एवं अन्य पिछड़े क्षेत्रों में समाज के अंतिम पंक्ति में जीवन यापन कर रहे लोगों को एक मंच प्रदान करने के लिए निर्माण किया गया है ,जिसके माध्यम से समाज के शोषित ,वंचित ,गरीब,पिछड़े लोगों के साथ किसान ,व्यापारी ,प्रतिनिधि ,प्रतिभावान व्यक्तियों एवं विदेश में रह रहे लोगों को ग्राम पंचायत की कालम के माध्यम से एक साथ जोड़कर उन्हें एक विश्वसनीय मंच प्रदान किया जायेगा एवं उनकी आवाज को बुलंद किया जायेगा।