मण्डलायुक्त ने कोविड -19 के मद्देजन की समीक्षा, दिये निर्देश - तहकीकात न्यूज़ | Tahkikat News |National

आज की बड़ी ख़बर

Tuesday, 18 May 2021

मण्डलायुक्त ने कोविड -19 के मद्देजन की समीक्षा, दिये निर्देश

ब्यूरो कानपुर देहात:अरविन्द शर्मा

मण्डलायुक्त ने कोविड -19 के मद्देजन की समीक्षा, दिये निर्देश 

तृतीय लहर आने से पहले करले सम्पूर्ण इंतजाम: डा0 राजशेखर 

कानपुर देहात ।कोरोना संक्रमण के इस दौर में हर उच्चाधिकारी का यह प्रयास है कि नागरिक सुरक्षित बने, इसीक्रम में कानपुर मण्डल के मण्डलायुक्त  डा0 राजशेखर ने कानपुर देहात दौरा किया, इस दौरे के दौरान उन्होंने कोरोना संक्रमण को लेकर जिले में क्या व्यवस्था की जा रही है, इसका पूरा जायजा लिया, साथ ही टीम-9 के सदस्यों के कार्यप्रणाली और उनके द्वारा कोरोना संक्रमण को रोकने के सन्दर्भ में जो कार्य किये जा रहे है, उनका विवरण भी लिया, इसीक्रम में उन्होंने सबसे पहले इस बात की जानकारी ली कि जनपद में कुल कितने पाॅजिटिव केस है, इस पर डा0 यतेन्द्र द्वारा यह जानकारी उपलब्ध करायी गयी कि कुल 394 पाॅजिटिव केस है, एल-1 व एल-2 हाॅस्पिटलों में कुल 22 मरीज भर्ती है, जिसमें एल-1 में 5 मरीज व एल-2 में कुल 17 मरीज है, साथ ही प्राइवेट हाॅस्पिटलों में कुल 20 मरीज है, जिसमें चार गौरी हाॅस्पिटल में और 16 मरीज अनन्तराज में भर्ती है, होम आइसोलेशन में कुल 306 मरीज रह रहे है। मण्डलायुक्त ने इस बात को लेकर विशेष रूप से सतर्क रहने को कहा कि निगरानी समितियों के पास मेडिकल किट हो साथ ही इस महामारी के दौरान चूकि इन समितियों की भूमिका अत्यन्त महत्वपूर्ण है इसी लिए जरूरी है कि इनके पास कोविड से सुरक्षा के सम्पूर्ण उपकरण मौजूद हो, साथ ही इनके कार्यो को महत्वपूर्ण मानते हुए उन्होंने कहा कि मरीजों की सही पहचान समय पर हो सके इसके लिए निगरानी समितियां पूरी तरीके से तैयार रहे, निगरानी समितियां उन बाहर से आये मरीजों का भी समुचित परीक्षण कर ले जिनका एन्टीजन व आरटीपीसीआर टेस्ट निगेटिव आया है क्योकि यह देखा गया है कि ऐसे मरीज जिनके अन्दर लक्षण तो नही दिखते है लेकिन वे कोरोना से ग्रसित होते है ऐसे मरीज सबसे ज्यादा कोविड को फैलाने का काम करते है, इसी लिए इनकी ट्रेकिंग अच्छी तरीके से किया जाये, टीम -3 ने मण्डलायुक्त को बताया कि जहां पर कन्टेन्टमेन्ट जोन है वहा पर सेनेटाइजेशन का कार्य लगातार कराया जा रहा है, चिकित्सालयों में अग्निसमन की पूरी व्यवस्था है, मुख्य विकास अधिकारी ने बताया कि आईसीसीसी में कुल 7 टीमें है, और 14 टेलीफोन लाइनें सक्रिय है, इसके अलावा 37 जगहों पर पब्लिक एडेªस सिस्टम लगा हुआ है, इसके अलावा सभी कलेक्टेªट सीएचसी, पीएचसी में लोगों के जागरूकता हेतु बैनर इत्यादि भी लगे हुए है, साथ ही टीम-4 के सम्बन्ध में मण्डलायुक्त ने हिदायत देत हुए कहा कि औद्योगिक प्रतिष्ठान चूकि इस कोरोना काल में अत्यन्त महत्वपूर्ण भूमिका में है यहां दो सौ से तीन सौ लोग निरंतर  कार्यरत रहते है इसलिए यहां के लोगों को मास्क, सेनेटाइजर, मेडिकल किट इत्यादि पूरी तरीके से उपलब्ध कराया जाये, साथ ही उनका मेडिकल चेकअप नियमित हो, ताकि किसी प्रकार की समस्या उनके स्वास्थ्य को लेकर उत्पन्न न हो। इसके अलावा मण्डलायुक्त डा0 राजशेखर ने आगाह करते हुए कहा कि तृतीय लहर की तैयारी पहले से ही कर ली जाये, जिससे किसी प्रकार की कोई परेशानी नागरिकों को न हो, यह तैयारी चार स्तरों पर करनी है, 1- बेड़ों की संख्या को दोगुना करना है, 2- टेस्टिंग को दोगुना करना है, 3- पीकू बेड़ उपलब्ध होने चाहिए, इस बात पर उन्होंने आश्चर्य व्यक्त किया कि अभी तक जिले में कोई पीकू बेड़ नही है, 4- आक्सीजन की उपलब्धता पूरी तरीके से हो, साथ ही उन्होंने इस बात पर विशेष जोर दिया कि इस मामले में हम आत्मनिर्भर बने और स्वयं आक्सीजन प्लान्ट लगाये, इसके अलावा उन्होंने सीएमओ और सीएमएस दोनो को आपसी समन्वय और सामंजस्य बढ़ाने की बात कही जिससे कार्यो में गतिशीलता आ सके और सामंजस्य के आभाव में कार्य बाधित न हो, टीम-7 ने मण्डलायुक्त को जानकारी देते हुए कहा कि हमारे यहां गेंहू खरीद की प्रक्रिया सुचारू रूप से चल रही है इसके लिए हमने 64 केन्द्र बनाये है, जिसमें 22500 मीट्रिक टन गेंहू खरीदा गया है, जिसमें 64 प्रतिशत लोगों को भुगतान भी किया जा चुका है, साथ ही भूसा के लक्ष्य को जिलाधिकारी महोदय के निर्देशानुसार जो प्रत्येक ग्राम पंचायत से 50 कुन्तल का है उसको भी प्राप्त किया जा रहा है, इसके अलावा मण्डलायुक्त ने निगरानी समितियों को कहा कि प्रतिदिन का डाटा और रिकार्ड उनके पास अंकित होने चाहिए, मण्डलायुक्त ने इस बात के लिए सतर्क रहने को कहा कि अगर हमने विशेष सावधानी नही बरती तो गांव में कोरोना का फैलाव हो जायेगा, जिसको नियंत्रित करना आसान नही होगा इस लिए यह जरूरी है कि हम हर एक स्तर पर पूरी तैयारी कर ले, वर्तमान की भी और भविष्य की भी। उन्होंने जिलाधिकारी जितेन्द्र प्रताप सिंह की इस बात के लिए विशेष सराहना की कि उन्होंने इस क्षेत्र में सराहनीय कार्य किए है और बहुत हद तक जनपद में कोरोना को इनके नेतृत्व में नियंत्रित भी कर लिया गया है। इस मौके पर अधिकारीगण आदि उपस्थित रहे।

No comments:

Post a Comment

तहकीकात डिजिटल मीडिया को भारत के ग्रामीण एवं अन्य पिछड़े क्षेत्रों में समाज के अंतिम पंक्ति में जीवन यापन कर रहे लोगों को एक मंच प्रदान करने के लिए निर्माण किया गया है ,जिसके माध्यम से समाज के शोषित ,वंचित ,गरीब,पिछड़े लोगों के साथ किसान ,व्यापारी ,प्रतिनिधि ,प्रतिभावान व्यक्तियों एवं विदेश में रह रहे लोगों को ग्राम पंचायत की कालम के माध्यम से एक साथ जोड़कर उन्हें एक विश्वसनीय मंच प्रदान किया जायेगा एवं उनकी आवाज को बुलंद किया जायेगा।