कोरोनाकाल में दिवंगत पत्रकारों के आश्रितों को मिलेगा आर्थिक सहयोग-डा॰ नीलकंठ तिवारी - तहकीकात न्यूज़ | Tahkikat News |National

आज की बड़ी ख़बर

Thursday, 20 May 2021

कोरोनाकाल में दिवंगत पत्रकारों के आश्रितों को मिलेगा आर्थिक सहयोग-डा॰ नीलकंठ तिवारी

कैलाश सिंह विकास वाराणसी


कोरोनाकाल में दिवंगत पत्रकारों के आश्रितों को मिलेगा आर्थिक सहयोग-डा॰ नीलकंठ तिवारी

पराड़कर स्मृति भवन में चल रहे शिविर का राज्यमंत्री ने लिया जायजा

वाराणसी, 19 मई। पराड़कर स्मृति भवन (मैदागिन) में काशी पत्रकार संघ द्वारा आयोजित कोविड वैक्सीनेशन शिविर के तीसरे और अंतिम दिन बुधवार को वैक्सीनेशन की व्यवस्था का जायजा प्रदेश के पर्यटन, संस्कृति, धर्मार्थ कार्य व प्रोटोकाल राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) डा॰ नीलकंठ तिवारी ने लिया। इस अवसर पर उन्होंने काशी पत्रकार संघ के पदाधिकारियों को आश्वस्त किया कि कोरोनाकाल में अपने कर्तव्य का निर्वहन करते हुए जिन पत्रकारों का निधन हुआ है, उनके आश्रितों को शीघ्र ही आर्थिक सहयोग दिया जायेगा। उन्होंने यह भी आश्वासन दिया कि 18 से 44 वर्ष आयु वर्ग के पत्रकारों व उनके परिजनों सहित अन्य मीडियाकर्मियों का टीकाकरण शीघ्र सुनिश्चित किया जायेगा। डा॰ नीलकंठ तिवारी ने टीकाकरण के कार्य में लगे स्वास्थ्यकर्मियों का भी कुशल क्षेम पूछा। इस पर लोगों ने उन्हें सकारात्मक जवाब दिया। उनके साथ उनके प्रतिनिधि आलोक श्रीवास्तव, दवा व्यापारी नेता संदीप चतुर्वेदी भी थे। आज तीसरे दिन 50 लोगों का वैक्सीनेशन हुआ। व्यवस्था की कमान संघ के अध्यक्ष सुभाषचन्द्र सिंह, महामंत्री डा॰ अत्रि भारद्वाज व कोषाध्यक्ष जितेन्द्र श्रीवास्तव ने संभाली। वैक्सीनेशन में सहयोग संघ के उपाध्यक्ष पुरूषोत्तम चतुर्वेदी, कार्यालय सहायक विश्वदीप बापुली व राजीव चैरसिया ने किया। इस मौके पर संघ के मंत्री सुनील शुक्ला, कार्यसमिति सदस्य आलोक मालवीय, रौशन जायसवाल, आलोक श्रीवास्तव, संघ के पूर्व महामंत्री राजेन्द्र रंगप्पा, वाराणसी प्रेस क्लब के 
कोषाध्यक्ष शंकर चतुर्वेदी, संयुक्त मंत्री देव कुमार केसरी, प्रबंध समिति सदस्य सुरेन्द्र नारायण तिवारी, पत्रकारपुरम विकास समिति के अध्यक्ष डा॰ राजकुमार सिंह सहित बड़ी संख्या में मीडियाकर्मी उपस्थित रहे। टीकाकरण  कार्य डा॰ सुदर्शन जायसवाल, एएनएम संगीता दुबे एवं कंचनलता विश्वकर्मा ने सम्पादित किया।

No comments:

Post a Comment

तहकीकात डिजिटल मीडिया को भारत के ग्रामीण एवं अन्य पिछड़े क्षेत्रों में समाज के अंतिम पंक्ति में जीवन यापन कर रहे लोगों को एक मंच प्रदान करने के लिए निर्माण किया गया है ,जिसके माध्यम से समाज के शोषित ,वंचित ,गरीब,पिछड़े लोगों के साथ किसान ,व्यापारी ,प्रतिनिधि ,प्रतिभावान व्यक्तियों एवं विदेश में रह रहे लोगों को ग्राम पंचायत की कालम के माध्यम से एक साथ जोड़कर उन्हें एक विश्वसनीय मंच प्रदान किया जायेगा एवं उनकी आवाज को बुलंद किया जायेगा।