गेहूं क्रय केन्द्र बंद करने पर भड़के किसान, भाकियू के धरने के बाद शुरू हुई खरीद - तहकीकात न्यूज़ | Tahkikat News |National

आज की बड़ी ख़बर

Sunday, 20 June 2021

गेहूं क्रय केन्द्र बंद करने पर भड़के किसान, भाकियू के धरने के बाद शुरू हुई खरीद

राकेश सिंह गोण्डा 


गेहूं क्रय केन्द्र बंद करने पर भड़के किसान, भाकियू के धरने के बाद शुरू हुई खरीद

गोण्डा। गोण्डा जिले के विकास खण्ड बभनजोत के गेहूं क्रय केंद्र बुक्कनपुर में गेहूं की खरीदारी न होने से किसान काफी परेशान थे। किसानों ने इसकी सूचना भारतीय किसान यूनियन के जिलाध्यक्ष दीपक वर्मा को दी। मण्डल अध्यक्ष नौशाद खान के निर्देश पर जिलाध्यक्ष संगठन के कार्यकर्ताओं व किसानों के साथ शुक्रवार को गेहूं क्रय केंद्र बुक्कनपुर गेट के सामने धरने पर बैठ गए। धरने के दौरान छपिया व खोड़ारे थाने की पुलिस मौजूद रही।

इस बीच धरने में किसानों की बढ़ती संख्या को देखते हुए मौके पर तहसीलदार मनकापुर पहुंचे और उन्होंने किसानों से ज्ञापन मांगा। कहा कि आप सभी अपनी समस्याओं का ज्ञापन हमें दे दें, जिसे हम उच्चाधिकारियों तक पहुंचाएंं जिससे समस्याओं का समाधान हो सके। लेकिन भाकियू के पदाधिकारियों ने ज्ञापन देने से साफ इंकार करते हुए जिले के उच्चाधिकारियों के आने की मांग की और धरना जारी रखा।

देर शाम डिप्टी आरएमओ, उपजिलाधिकारी व क्षेत्राधिकारी मनकापुर मौके पर पहुंचे। अधिकारियों ने किसानों को आश्वासन दिया कि आपकी फसलों की खरीदारी 21 जून से पुनः शुरू करा दी जाएगी। इस पर धरना समाप्त कर दिया गया।

किसान हुए गदगद

शनिवार की सुबह गेहूं की खरीदारी गेहूं क्रय केंद्र बभनजोत में पुनः शुरू कर दी गई जिससे सभी किसान गदगद हो गए। तौल के दौरान क्रय केंद्र पर पहुँचे भाकियू जिलाध्यक्ष व जिला महासचिव का सभी किसानों ने आभार जताया। धरने में किसान यूनियन के जिला सचिव सतीश वर्मा, दिलीप यादव, सौरभ सिंह, राजेश कुमार व बभनजोत ब्लॉक अध्यक्ष आलोकित सिंह के साथ सैकड़ों किसान शामिल रहे।

No comments:

Post a Comment

तहकीकात डिजिटल मीडिया को भारत के ग्रामीण एवं अन्य पिछड़े क्षेत्रों में समाज के अंतिम पंक्ति में जीवन यापन कर रहे लोगों को एक मंच प्रदान करने के लिए निर्माण किया गया है ,जिसके माध्यम से समाज के शोषित ,वंचित ,गरीब,पिछड़े लोगों के साथ किसान ,व्यापारी ,प्रतिनिधि ,प्रतिभावान व्यक्तियों एवं विदेश में रह रहे लोगों को ग्राम पंचायत की कालम के माध्यम से एक साथ जोड़कर उन्हें एक विश्वसनीय मंच प्रदान किया जायेगा एवं उनकी आवाज को बुलंद किया जायेगा।