जीएसटी में फेक इन्वाईस की रोकथाम एवं बचाव वेबिनार - तहकीकात न्यूज़ | Tahkikat News |National

आज की बड़ी ख़बर

Sunday, 13 June 2021

जीएसटी में फेक इन्वाईस की रोकथाम एवं बचाव वेबिनार

कैलाश सिंह विकास वाराणसी

जीएसटी में फेक इन्वाईस की रोकथाम एवं बचाव वेबिनार

वाराणसी। द इन्स्टिट्यूट ऑफ़ चार्टर्ड अकाउंटेन्टस ऑफ़ इंडिया शाखा की ओर से " जीएसटी में फेक इन्वाईस की रोकथाम एवं बचाव विषयक वर्चुअल सेमिनार* विषयक वेबिनार  विडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये आयोजित हुआ ।  मुख्य अतिथि आई.सी.ए.आई. के क्षेत्रीय कार्यालय (CIRC) कानपूर के अध्यक्ष  नीलेश गुप्ता  रहें ।
विशिष्टि अतिथि  चर्चिल जैन रीजनल कौंसिल मेंबर सी .आई.आर.सी थे।
 अध्यक्षता वाराणसी शाखा के वरिष्ठ सदस्य गंगेश्वर धर दुबे ने किया । स्वागत शाखा अध्यक्ष अमित कुमार गुप्ता ने किया।
 मुख्य वक्ता अंकित सोमानी ने कहा कि रीप्लाईएस टू नोटिस अंडर जी.एस.टी एंड फैक इन्वॉइसिंग क्या है? उन्होंने बताया की, नकली चालान" क्या है?
नकली चालान एक 'गैर-अनुपालन जीएसटी चालान' को संदर्भित करता है। 
जिसके पश्चात उन्होंने बताया कि नकली चालान" का सामाजिक प्रभाव क्या है?
कोई भी व्यवसाय या व्यापार, जो "नकली चालान" का उपयोग करता है, इनपुट टैक्स क्रेडिट अर्जित करता है जो कि अवैध है और इसलिए सीजीएसटी कानून के तहत दंड के लिए उत्तरदायी है।
   संचालन शाखा उपाध्यक्ष सोम दत्त रघु और धन्यवाद ज्ञापन शाखा सदस्य  रंजीत कुमार पाण्डेय ने किया । सिकासा चेयरमैन रवि कुमार सिंह एवं कार्यकारणी सदयस्य अरुण कुमार गुप्ता आदि रहें एवं उपस्थित सदस्यों में शम्भु नाथ त्रिवेदी आलोक शिवाजी, विनोद कुमार गुप्ता, जमुना शुक्ला, संजय ओझा, मनोज कुमार अग्रवाल, अतिन कक्कड़, छेदी प्रसाद, रविंद्र कुमार,सुरेश आहूजा, मधु, दीपक मिश्रा,राहुल सोनी, शिशिरकान्त श्रीवास्तव, रोली नागर, मिनाक्षी गुजराती,सीमा चुतर्वेदी आदि रहीं।

No comments:

Post a Comment

तहकीकात डिजिटल मीडिया को भारत के ग्रामीण एवं अन्य पिछड़े क्षेत्रों में समाज के अंतिम पंक्ति में जीवन यापन कर रहे लोगों को एक मंच प्रदान करने के लिए निर्माण किया गया है ,जिसके माध्यम से समाज के शोषित ,वंचित ,गरीब,पिछड़े लोगों के साथ किसान ,व्यापारी ,प्रतिनिधि ,प्रतिभावान व्यक्तियों एवं विदेश में रह रहे लोगों को ग्राम पंचायत की कालम के माध्यम से एक साथ जोड़कर उन्हें एक विश्वसनीय मंच प्रदान किया जायेगा एवं उनकी आवाज को बुलंद किया जायेगा।