निकला हजारों किसानों का मोर्चा ,क्या है किसानों की प्रमुख मांगें जाने - तहकीकात न्यूज़ | Tahkikat News |National

आज की बड़ी ख़बर

Monday, 12 March 2018

निकला हजारों किसानों का मोर्चा ,क्या है किसानों की प्रमुख मांगें जाने



महाराष्ट्र के नासिक से निकला हजारों किसानों का मोर्चा अब मुंबई के आज़ाद मैदान  पंहुच  गया है. करीब 30 हजार किसान 200 किलोमीटर की यात्रा कर नासिक से मुंबई पहुंचे हैं. आज इनकी योजना विधानसभा घेरने की है. मुंबई पहुंचे इन किसानों को राजनीतिक पार्टियों का समर्थन मिलना भी शुरू हो गया है.

क्या है किसानों की प्रमुख मांगें

- किसानों का बिना शर्त पूरा कर्ज माफ हो
- किसानों की मिले फसल का डेढ़ गुना भाव
- स्वामीनाथन आयोग की सिफारिशों को किया जाए लागू
- कपास के कीड़े और ओलावृष्टि से हुए नुकसान के कारण किसानों को मिले हर एकड़ पर 40 हजार रूपये का मुआवजा
- माफ किया जाए किसानों का बिजली का बिल
- फसल का उचित दाम मिले. पेंशन मिलने सहित किसानों की कुल 11 मांगें हैं जिले लेकर ये मोर्चा निकला गया है.


मिल रहा है विपक्ष का भरपूर समर्थन
इस बीच किसानों के प्रदर्शन को देखते हुए महाराष्ट्र सरकार भी ऐक्शन में आ गई है. शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे के बेटे और युवा सेना के अध्यक्ष आदित्य ठाकरे ने किसानों से मुलाकात की और उनसे उनकी मांगों के बारे में बातचीत की. वहीं एमएनएस के राज ठाकरे भी किसानों से मिले. पूर्ण कर्जमाफी के साथ अपनी अन्य मांगों को लेकर किसानों का यह मोर्चा आज विधानसभा का घेराव करेगा.


किसानों के इस मोर्चे के साथ विपक्ष भी सरकार को घेरने की तैयारी में है. यही वजह है कि विपक्ष ने मोर्चे को समर्थन देना शुरू कर दिया है. किसान सभा के अध्यक्ष डॉ. अशोक ढवले के अनुसार, "मोर्चे को शिवसेना, एमएनएस, 'आप', रिपब्लिकन पार्टी (जोगेंद्र कवाडे गुट), कुणबी सेना, आगरी सेना और कुणबी प्रतिष्ठान ने समर्थन दिया है.

महाराष्ट्र में आंदोलनरत किसानों से CM फडणवीस ने कहा, हम बातचीत के लिए तैयार

बता दें कि कांग्रेस ने पहले ही इस मोर्चे को समर्थन दे दिया है. वहीं एमएनएस और आम आदमी पार्टी के नेता भी किसानों से मुलाकात करने वाले हैं. सीएमओ सूत्रों के मुताबिक किसानों की मांगों पर विचार करने के लिए महाराष्ट्र सरकार ने एक कमिटी गठित की है जिसमें छह मंत्री शामिल हैं. इन मंत्रियों के नाम हैं- चंद्रकांत पाटिल, पांडुरंग फुंडकर, गिरीश महाजन, विष्णु सवारा, सुभाष देशमुख और एकनाथ शिंदे.

आंदोलनकारी किसान सोमवार को विधानभवन जाकर अपनी मांगें रखेंगे. हालांकि, पुलिस का कहना है कि किसानों को आजाद मैदान पर ही रोक दिया जाएगा. आज होने वाले किसानों के विधानसभा घेराव को लेकर पुलिस ने भी अपनी तैयारी तेज कर दी है.

No comments:

Post a Comment