बस्ती -स्वच्छ भारत मिशन के सपने को साकार करता ग्रामपंचायत बसडिलिया - तहकीकात न्यूज़ | Tahkikat News |National

आज की बड़ी ख़बर

Sunday, 6 May 2018

बस्ती -स्वच्छ भारत मिशन के सपने को साकार करता ग्रामपंचायत बसडिलिया


विश्वपति वर्मा ,
भले ही पूरे देश में सरकर द्वारा स्वच्छ भारत मिशन चलाया जा रहा है। लेकिन सच्चाई तो यही है कि यह योजना सफल बनाने के लिए अकेले सरकार नाकाफी  है ,इसके लिए ग्रामवासी,जनप्रतिनिधि ,सामाजिक कार्यकर्ता सहित सभी वर्ग के लोगों को अपना योगदान देने की जरुरत है तब तो योजना सफल हो सकती है।

लेकिन देश प्रदेश में ऐसे भी स्थान हैं जंहा पर सरकार की योजनाएं तो पंहुच नहीं पाती बल्कि महत्वाकांक्षा रखने वाले लोग योजनाओं को सफल बनाने को लेकर  प्रयत्नशील रहते हैं। कुछ इसी तरहं से ग्रामीण क्षेत्र मे मिशाल पेश कर रहे हैं सल्टौआ ब्लॉक के बसडिलिया ग्रामपंचायत के प्रधान प्रतिनिधि इस्तियाक।

बस्ती जनपद से 16 किलोमीटर उत्तर दिशा में बस्ती रुधौली मार्ग के बगल स्थित ग्राम पंचायत बसडिलिया में 350 घर हैं जिसमे लगभग 500 की आबादी निवास करती है ,गांव में हिन्दू और मुस्लिम दोनों धर्मों के लोग रहते हैं और आपस में मेल जोल भी रहता है।

टीम तहकीकात के ग्राम पंचायत में पंहुचने पर वंहा साफ सफाई की व्यवस्था ठीक -ठाक दिखाई दिया ,गांव से पानी निकासी के लिए बनाये गए नाली और सड़क के किनारे किये गए दवा की छिड़काव से ही लग रहा था कि सफाई के प्रति प्रधान प्रतिनिधि वास्तव में गंभीर हैं।

तालाबों में साफ सफाई के साथ तालाब में सैर करने के लिए किनारों पर पर बैठे बत्तखों ने भी  गांव का रौनक बढ़ाया है ,तालाब के किनारे छाया होने से शाम के वक्त गांव के लोग यंहा टहलते घूमते हैं। 

धार्मिक एकता भी गांव में कायम है हाल ही में निर्मित माता काली के मंदिर पर पूजा अर्चना के बाद हिन्दू मुस्लिम के साथ प्रधान प्रतिनिधि आदि लोगों ने प्रसाद ग्रहण कर समाज को यह सन्देश दिया है कि यंहा किसी प्रकार का कोई मनभेद -मतभेद नहीं है 

 तहकीकात न्यूज़ से प्रधान प्रतिनिधि इस्तियाक ने बताया कि अभी गांव में काम की शुरुआत हुई बहुत कुछ होना बाकी है ,उन्होंने बताया कि  गांव में पानी निकासी की व्यवस्था चुस्त -दुरुस्त हो गई है । गांव में तीन तालाब है जिसमे अभी साफ सफाई होना बाकी है उन्होंने बताया कि तालाब  में पानी होने की वजह से अभी पूर्ण रूप से साफ नहीं हुआ है पानी कम होने पर तालाब का सुंदरीकरण किया जायेगा एवं चारो तरफ पेड़ ,पौधे एवं फूल लगाए जायेंगे। गांव में शौचालय की स्थिति पर उन्होंने बताया कि 80 फीसदी घरों में शौचालय बन चुके हैं जिन घरों में अभी शौचालय नहीं बने हैं उनके लिए शौचालय की मांग की गई है।


 इस्तियाक ने गांव के विजन के बारे में बताया कि हम गांव को हाईटेक बनाने के प्रयास में हैं जिसमे डोर टू डोर कूड़ा उठाने की व्यवस्था ,पाइप लाइन से हर घर में पानी ,गांव में स्थिति सभी घरों में शौचालय ,स्कूल  की व्यवस्था सुधारने ,ज्योग्राफिकल इन्फॉर्मेशन सिस्टम (जीआईएस )से  गांव को जोड़ने  के साथ गांव की वेवसाइट पर उन सभी सुबिधाओं की जानकारी दी जायेगी जो राज्य व केंद्र सरकार द्वारा जारी है। 




No comments:

Post a Comment