कानपुर-नारी सशक्तिकरण और महिलाओं के स्वास्थ्य चर्चा के लिए जुटेंगे देश विदेश के विशेषज्ञ - तहकीकात न्यूज़ | Tahkikat News |National

आज की बड़ी ख़बर

Thursday, 27 September 2018

कानपुर-नारी सशक्तिकरण और महिलाओं के स्वास्थ्य चर्चा के लिए जुटेंगे देश विदेश के विशेषज्ञ

जिला संवाददाता -रवि तहकीकात न्यूज़
 
नारी सशक्तिकरण एवं महिलाओ की गर्भ से लेकर वृद्धावस्था तक कि सभी स्वास्थ्य सम्बन्धी विषयों पर चर्चा के लिए तीन दिवसीय अंतरराष्ट्रीय अधिवेशन 5 से 7 अक्टूबर को जीएसवीएम मेडिकल कालेज में आयोजित किया जा रहा है इस वर्कशाप में देश विदेश से लगभग 300 से अधिक विशेषज्ञ महिलाओ में बांझपन की समस्या और बीमारियों के आधुनिक इलाज को बताएंगे। यह जानकारी समिति की अध्यक्ष डॉ मीरा अग्निहोत्री ने दी। इस अवसर पर सचिव डॉक्टर कल्पना दीक्षित भी मौजूद रही।

 
महिला सशक्तिकरण को करेंगे मजबूत

महिला सशक्तिकरण का पुरुष्कार 
से नवाजी जा चुकी डॉक्टर मीरा अग्निहोत्री ने वार्ता करते हुए बताया कि फॉगसी की वूमेन हेल्थ वेलनेस फॉर वुमेन इम्पावरमेंट (डब्ल्यू डब्ल्यू डब्ल्यू कॉन 2018) पर 6 अक्टूबर को अंतरराष्ट्रीय अधिवेशन के उद्घाटन समारोह में मुख्य अतिथि राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद शिरकत करेंगे।
फागसि की कानपुर ऑब्स एवं गायनी सोसाइटी महिलाओं के स्वास्थ्य सम्बन्धी कार्यो में उत्कृष्ट कार्य के लिए कई पुरुष्कार से सममानित किया जा चुका है इस कार्यशाला में देश विदेश से 300 से ज्यादा विशेषज्ञ पहुँचकर महिलाओ में स्वास्थ्य सम्बन्धी विषयो पर चर्चा करेंगे। इस तीन दिवसीय अंतरराष्ट्रीय सम्मेलन में महिलाओं की गर्भ से लेकर वृद्धावस्था तक की स्वास्थ्य सम्बन्धी विषयो पर चर्चा और महिला कल्याण की विभिन्न योजनाओं की जानकारी आम जन मानस तक पहुंचाने का प्रयास किया जाएगा। 7 अक्टूबर को अंतिम दिन इस सम्मेलन में अभिनेत्री व समाजसेवी शबाना आज़मी, केंद्रीय मंत्री डॉक्टर हर्षवर्धन,यूपी सरकार में कैबिनेट मंत्री रीता बहुगुणा ,कैबिनेट मंत्री सतीश महाना, मौजूद रहेंगे।
साथ ही बांझपन की समस्या , स्त्री एवं प्रसूति रोग में एंडोस्कोपी पर कार्यशाला भी होगी।
डॉक्टर किरण पांडेय ने बताया कि सरकार द्वारा महिलाओं को सशक्त बनाने के लिए पहले समाज मे उनके अधिकारों और मूल्यों को मारने वाली राक्षसी सोच का मारना जरूरी है आज बड़ी समस्या है महिलाओं के साथ घरेलू हिंसा और रेप जैसी घटनाएं वहीं कन्या भ्रूण हत्या,,यौन शोषण और लैंगिक असमानता से पीड़ित की मदद जैसे विषयों पर विस्तृत से चर्चा की जाएगी।

No comments:

Post a Comment

तहकीकात डिजिटल मीडिया को भारत के ग्रामीण एवं अन्य पिछड़े क्षेत्रों में समाज के अंतिम पंक्ति में जीवन यापन कर रहे लोगों को एक मंच प्रदान करने के लिए निर्माण किया गया है ,जिसके माध्यम से समाज के शोषित ,वंचित ,गरीब,पिछड़े लोगों के साथ किसान ,व्यापारी ,प्रतिनिधि ,प्रतिभावान व्यक्तियों एवं विदेश में रह रहे लोगों को ग्राम पंचायत की कालम के माध्यम से एक साथ जोड़कर उन्हें एक विश्वसनीय मंच प्रदान किया जायेगा एवं उनकी आवाज को बुलंद किया जायेगा।