उत्तर प्रदेश में बढ़ते अपराधों से जनता बुरी तरह हताश-निराश हैं - राजेन्द्र चौधरी - तहकीकात न्यूज़

आज की बड़ी ख़बर

Monday, 29 October 2018

उत्तर प्रदेश में बढ़ते अपराधों से जनता बुरी तरह हताश-निराश हैं - राजेन्द्र चौधरी

लखनऊ - महेंद्र मिश्रा ब्यूरो उत्तर प्रदेश

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय सचिव राजेन्द्र चौधरी ने कहा है कि लूट, बलात्कार, अपहरण और हत्या भाजपा सरकार के लिए रोजमर्रा के विषय बन गए हैं। कोई दिन ऐसा नहीं जाता जब राजधानी सहित प्रदेश के विभिन्न जिलों में अपराधिक घटनाएं न घटती हों। अपराधी बेखौफ हैं। प्रदेश में कानूनव्यवस्था नाम की कोई स्थिति नहीं हैं। पूरी तरह से अराजकता व्याप्त है। जनता परेशान है पर कानून व्यवस्था से जुड़े अधिकारियों और माननीय मुख्यमंत्री को, जिनके पास गृह विभाग भी है, प्रदेश की बिगड़ती हालत की कोई चिंता नहीं है। 



राजधानी लखनऊ के पाश इलाके गोमती नगर के विभूतिखण्ड में बैंक आॅफ इण्डिया के बाहर 10 लाख रूपए की लूट, दिनदहाड़े हो गई। कैशियर को गोली मारकर हत्या कर दी गयी और लुटेरे आराम से फरार हो गए। कन्नौज में स्टेट बैंक, सरायमीरा ब्रांच में पैसा जमा करने आए क्लर्क से 3.5 लाख रूपये लूट के साथ उसे गोली मार दी गई। लखनऊ के विकास नगर की शादाब कालोनी में लाश मिली। लखनऊ में एक दिन ही पांच हत्याएं हो गई। ठाकुरगंज में आठ साल की बच्ची की दुष्कर्म के बाद हत्या कर दी गई। जनेश्वर मिश्र पार्क के पास युवती से छेड़छाड़ हुई। चैक के पार्क में किशोर की हत्या हुई। नगराम के गढ़ी गांव के एक युवक की हत्या हुई। पी.जी.आई कोतवाली क्षेत्र में युवक की लाश मिली। बंथरा में एक युवती का शव मिला। विधान भवन के सामने न्याय मांगते कई दम्पŸिायों ने आत्मदाह का प्रयास किया।
        
मुख्यमंत्री ने कुर्सी सम्हालते ही दावा किया था कि अपराधी अब या तो जेल में होंगे अथवा प्रदेश छोड़कर चले जाएंगे जबकि हकीकत में अपराधी खुलेआम घूम रहे है और जो प्रदेश से बाहर चले गए थे वे भी वापस आ गए हैं। जेल से भी अपराधिक गतिविधियों को अंजाम दिया जा रहा है। जेल के अंदर भी हत्याएं हो रही हैं। उत्तर प्रदेश में अपराधियो के हौंसले इतने बुलंद है कि वे अब पुलिस पर भी हमलावर हो रहे हैं। पुलिस का इकबाल गिरता जा रहा है। भाजपा नेता, मंत्री, विधायक, सांसद सत्ता के मद में प्रशासन में निरंतर हस्तक्षेप कर रहे हैं जिससे अधिकारियों का मनोबल गिरता जा रहा है। अपराधी किस्म के नेता लोग थाने चला रहे हैं। अपराध के बढ़ते आंकड़ों से घबराई भाजपा सरकार ने नेशनल क्राइम रिपोर्ट ब्यूरो के क्राईम डेटा पर ही रोक लगा दी है। भाजपा नेता नफरत फैलाने के लिए भड़काऊ भाषण देकर माहौल बिगाड़ रहे हैं।
        
उत्तर प्रदेश में बढ़ते अपराधों से जनता बुरी तरह हताश-निराश हैं। भाजपा ने महिलाओं से छेड़छाड़ रोकने के लिए जो ऐंटी रोमियों स्क्वायड बनाने का खूब प्रचार किया था यह स्क्वायड खुद युवक-युवतियों को परेशान करने लगा और कब गायब हो गया पता ही नहीं चला। इसके विपरीत अखिलेश यादव ने 1090 सेवा शुरू की थी जिससे छेड़खानी की घटनाओं पर प्रभावी रोक लगी थी। यूपी डायल 100 नं0 विश्वस्तरीय सेवा भी समाजवादी सरकार ने ही प्रारम्भ की थी जिससे तत्काल अपराध नियंत्रण होता। समाजवादी सरकार में अपराधियों पर अंकुश लगा था और जनता को राहत मिली थी। इन सब प्रभावी सेवाओं को भाजपा ने बर्बाद कर दिया। 
        
उत्तर प्रदेश में भाजपा सरकार के दौरान जिस तेजी से अपराध बढ़े हैं उससे देश ही नहीं विदेशों तक में इसकी बदनामी हुई है। किशोरी और यहां तक कि बच्चियां भी दुष्कर्म का शिकार हो रही है। नारी संरक्षण गृहों में भी देह व्यापार के मामले मिले हैं। अस्पतालों, स्कूल, कालेजों और सार्वजनिक स्थलों पर भी महिलाएं सुरक्षित नहीं। उत्तर प्रदेश में कानून का राज नहीं रहा है। फिर भी भाजपा सरकार का दुस्साहस यह है कि खोखली घोषणाएं करती रहती है। लोक राज के लिए आवश्यक तत्व यह है कि लोक भावना का सम्मान होना चाहिए। भाजपा को जनता की परवाह नहीं है। यह स्थिति लोकतंत्र के लिए खतरनाक है।

No comments:

Post a Comment