लेकिन तिरंगा नहीं गिरता था उस तिरंगे केा कोई मुस्लिम भाई थाम लेता था- राजबब्बर - तहकीकात न्यूज़ | Tahkikat News |National

आज की बड़ी ख़बर

Tuesday, 2 October 2018

लेकिन तिरंगा नहीं गिरता था उस तिरंगे केा कोई मुस्लिम भाई थाम लेता था- राजबब्बर

लखनऊ -महेंद्र मिश्रा ब्यूरो उत्तर प्रदेश 
 
 
राष्ट्रपिता महात्मा गाँधी जी की 150वीं जयन्ती व लाल बहादुर शास्त्री जी की जयन्ती के अवसर पर उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी द्वारा गांधी जयन्ती (02अक्टूबर) को अहिंसा दिवस के रूप में मनाया गया। राजधानी लखनऊ में गांधी जी की जयन्ती पर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष राजबब्बर सांसद की अध्यक्षता में विभिन्न कार्यक्रमों एवं पदयात्रा का आयोजन किया गया। जिसके तहत सर्वप्रथम प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय में प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष राजबब्बर ने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी जी एवं लालबहादुर शास्त्री जी के चित्र पर माल्यार्पण कर पुष्पांजलि अर्पित की। 
 
 
 
इस मौके पर पूर्व सांसद प्रमोद तिवारी, पूर्व मंत्री नसीमुद्दीन सिद्दीकी सहित अन्य वरिष्ठ नेताओं ने भी पुष्पांजलि अर्पित की, तत्पश्चात प्रदेश अध्यक्ष राजबब्बर के नेतृत्व में भारी संख्या में कांग्रेसजन चारबाग रेलवे स्टेशन पर पहुंचे व प्रांगण में स्थापित महात्मा गांधी जी की प्रतिमा एवं वर्ष 1916 में लखनऊ में नेहरू-गांधी मिलन का जिक्र उद्धृत शिलापट पर माल्यार्पण कर गांधी जी और नेहरू जी के मिलन को याद करते हुए प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि गांधी जी वर्ष 1916 में कांग्रेस अधिवेशन के लिए पहली बार चारबाग रेलवे स्टेशन, लखनऊ की धरती पर उतरे जिनको स्टेशन पर लेने के लिए पं0 मोतीलाल नेहरू पहुंचे हुए थे और उनके साथ एक 27 वर्ष के नौजवान(पं0 मोतीलाल नेहरू के पुत्र) पं0 जवाहर लाल नेहरू जी भी गांधी जी को लेने साथ में पहुंचे हुए थे और वहीं पर महात्मा गांधी और पं0 नेहरू का पहली बार मिलन हुआ था। पं0 नेहरू, गांधी जी से मिलकर इतना प्रभावित हुए कि उन्होने युवावस्था में ही सम्पूर्ण जीवन देश की सेवा के लिए समर्पित करने का निर्णय लिया और आजीवन गांधी जी के विचारों और आदर्शों के वाहक बने रहे। 
 
यहीं पर राजकुमार शुक्ला नामका व्यक्ति गांधी जी से मिला जो बिहार का रहने वाला था और उन्होने चम्पारण के किसान जो नील की खेती करते थे उनकी समस्याएं बतायीं और गांधी जी ने यहीं पर चम्पारण के किसानों की लड़ाई लड़ने का निर्णय लिया था और यह स्थान ऐतिहासिक धरोहर के रूप में गांधी जी-नेहरू जी के मिलन के रूप में भारतीय इतिहास में अमर हो गया।
 
 
  
 
उ0प्र0 कांग्रेस के प्रवक्ता अंशू अवस्थी ने बताया कि इसके उपरान्त प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष के नेतृत्व में सभी कांग्रेसजन ऐतिहासिक झण्डेवाला पार्क, अमीनाबाद पहुंचे और महान स्वतंत्रता संग्राम सेनानी गुलाब सिंह लोधी की प्रतिमा पर पुष्प अर्पित किया। तत्पश्चात वहां पर एकत्र सैंकड़ों की संख्या में उपस्थित गांधीवादियों को सम्बोधित करते हुए प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष राजबब्बर सांसद ने कहा कि आजादी की लड़ाई में लखनऊ का ऐतिहासिक महत्व रहा है, यहां के तमाम स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों एवं क्रान्तिकारियों ने आजादी में अपना महान योगदान दिया इसीलिए गांधी जी ने भी 
 
लखनऊ में ऐतिहासिक आन्दोलन चलाया। सन 1921 में गांधी जी ने इसी झण्डेवाला पार्क में सम्पूर्ण देशवासियों को विदेशी वस्तुओं का बहिस्कार करने और स्वदेशी अपनाने का आवाहन किया था यही वह महत्वपूर्ण जगह है जहां पर हम खड़े हैं यही से 23अगस्त 1935 को महान क्रान्तिकारी गुलाब सिंह लोधी द्वारा ब्रिटिश फौज की मौजूदगी के बावजूद पेड़ पर चढ़कर तिरंगा झण्डा फहराते हुए अपनी शहादत दी। 
 
कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए वरिष्ठ नेता प्रमोद तिवारी पूर्व सांसद ने कहा कि आज जिस प्रकार हिन्दू-मुस्लिम को बांटने की बात की जा रही है, लेकिन गांधी जी के नेतृत्व में जब आजादी की लड़ाई लड़ी जा रही थी उस लड़ाई में सभी का महत्वपूर्ण योगदान रहा है और यह वही लड़ाई थी जिसमें यदि कोई हिन्दू भाई तिरंगा लेकर चल रहा होता था और जब अंग्रेजों की गोली उसके लगती थी और वह गिर जाता था, लेकिन तिरंगा नहीं गिरता था, उस तिरंगे केा कोई मुस्लिम भाई थाम लेता था। आज इस देश को बांटने वाली ऐसी ताकतों से बचाने के लिए गांधी जी के विचार और अधिक प्रासंगिक हो गये हैं। 
 
प्रदेश कांग्रेस के कोषाध्यक्ष नईम सिद्दीकी ने कहा कि देश की आजादी की लड़ाई कांग्रेस के नेतृत्व में लड़ी गयी और गांधी जी के अहिंसा के मार्ग पर चलकर हमें आजादी मिली है। उन्होने कहा कि अहिंसा और प्रेम के मार्ग पर चलकर ही देश का और समाज का भविष्य सुरक्षित रह सकता है। कार्यक्रम का संयोजन प्रदेश कांग्रेस के कोषाध्यक्ष नईम सिद्दीकी, पूर्व विधायक सतीश अजमानी, शिव पाण्डेय व सम्पूर्णानन्द द्वारा किया गया एवं संचालन शहर अध्यक्ष बोधलाल शुक्ला एडवोकेट ने किया।  
 
 
 
 
इसके उपरान्त प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष राजबब्बर के नेतृत्व में सभी कांग्रेसजन पदयात्रा करते हुए गांधी जी के प्रिय भजन एवं रामधुन गाते हुए झण्डेवाला पार्क अमीनाबाद से कैसरबाग चैराहा होते हुए निकले जहां पर जगह-जगह पर फूलों की वर्षा हुई व स्थानीय लोगों ने स्वागत किया व गगनभेदी नारों-वन्दे मातरम- भारत माता की जय-काश्मीर से कन्याकुमारी-भारत माता एक हमारी-महात्मा गांधी अमर रहें, रघुपति राघव राजाराम गाते हुए नावेल्टी सिनेमा हाल चैराहा होते हुए नगर निगम के सामने से होते हुए जी0पी0ओ0 पहुंचे, जहां गांधी जी की प्रतिमा पर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सहित वरिष्ठ नेता प्रमोद तिवारी, पूर्व मंत्री  नसीमुद्दीन सिद्दीकी, पूर्व एमएलसी सिराज मेंहदी सहित तमाम वरिष्ठ नेताओं ने पुष्पांजलि अर्पित की एवं बापू के प्रिय भजन रघुपति राघव राजाराम-पतित पावन सीताराम, की रामधुन कर गांधी जी को याद किया गया। 
 
अंत में भारी संख्या में मौजूद कांग्रेसजनों को प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष राजबब्बर ने गांधी प्रतिमा के समक्ष राष्ट्रपिता महात्मा गांधी जी की 150वीं जयन्ती के शुभ अवसर पर शपथ लेते हैं कि हम प्रतिकूल परिस्थितियों में भी बापू के बताए हुए सत्य, अहिंसा एवं सहअस्तित्व के मार्ग पर चलते हुए राष्ट्र की एकता, अखण्डता, सहिष्णुता और सौहार्द को बनाये रखेंगे। हम बापू के सादा जीवन उच्च विचार के सिद्धान्त पर अडिग रहते हुए भारत को स्वावलम्बी एवं प्रगतिशील बनाने की दिशा में सतत् प्रयासरत रहेंगे। शपथ दिलायी गयी

No comments:

Post a Comment