कानपुर-इस देवी मंदिर में माता को सब्जी चढा कर मनाते है श्रद्धालु जाने क्या है मन्दिर की खासियत - तहकीकात न्यूज़

आज की बड़ी ख़बर

Thursday, 18 October 2018

कानपुर-इस देवी मंदिर में माता को सब्जी चढा कर मनाते है श्रद्धालु जाने क्या है मन्दिर की खासियत



ब्यूरो कानपूर-रवि गुप्ता 
 
मन्दिरो में भगवान को प्रसाद के रूप में चढ़ाने के लिए लड्डू,बताशे ,फल तो आपने सुना ही होगा लेकिन इस देवी मंदिर में प्रसाद के रूप में ताजी सब्जियां चढ़ाई जाने की परंपरा है।कानपुर के प्राचीन हटिया बाज़ार में जहां प्रसिद्ध मां बुद्धा देवी का मंदिर है जहां आम दिनों की अपेक्षा यहां बुधवार को श्रद्धालुओं की भारी भीड़ उमड़ती है और इस मंदिर की मान्यता है कि यहां सब्जियां चढ़ाने से भक्तो की मुराद पूरी होती है।

खेतों से निकली थी मां की मूर्ति

मन्दिर के आसपास प्रसाद की दुकानों में लड्डू और बताशे नही थे बल्कि यहां प्रसाद की दुकानों में ताजी सब्जियां थी जिसमें लौकी के टुकड़े,बैगन,पालक,टमाटर,गाजर,मूली मौजूद थे जहां भक्त डलिया में इन सब्जियों को ले जाकर देवी माँ को चढ़ाते हैं और खास बात यह भी है कि यहां मन्दिर में कोई पुजारी नही बल्कि माली ही मन्दिर की देखरेख करते हैं। बुधवार को मन्दिर में भक्तो की काफी भीड़ दर्शन के लिए उमड़ती है और भक्त जयकारे लगाते हुए देवी मां के दर्शन पाते है।

क्या कहती है मान्यता

हटिया बाजार में स्थित माँ बुद्धा देवी का मन्दिर करीब 100 वर्षो से ज्यादा पुराना है ऐसा बताया जाता है कि यहां पर कई वर्षों पहले सब्जियों की खेती हुआ करती थी और वहां से मां की मूर्ति उन सब्जियों के खेत से निकली तबसे यहां भक्तो ने मन्दिर बनवा दिया और यहां प्रसाद के रूप में माँ बुद्धा देवी को सब्जियां चढ़ाई जाने लगीं वहीं मां बुद्धा देवी के दर्शन के लिए यहां बुधवार के दिन भक्तो का हुजूम उमड़ पड़ता है और प्रसाद के रूप में भक्त डलिया में सब्जी लेकर माता को चढ़ाते है और उनके दर्शन कर सुख सम्रद्धि की मां से प्रार्थना करते हैं। भक्त नीतू गुप्ता ने बताया कि ऐसा लोग कहते है कि यहाँ पर खेत हुआ करता था और यहा सब्जियां बोई जाती थी और वही खेतो से मां की मूर्ति निकली जिसके बाद यह मंदिर बुद्धा देवी नाम से जाना जाने लगा और यहां बुधवार का खास महत्व है हम यहां शादी के पहले से आ रहे है माता के सामने जो भी सच्चे मन से मांगो वह मनोकामना जरूर पूरी होती है।


No comments:

Post a Comment