अंतिम पायदान पर खड़े व्यक्ति का सर्वागीण विकास को ही प्राथमिकता मानकर मोदी सरकार ने कार्य किया - महेन्द नाथ पाण्डेय - तहकीकात न्यूज़ | Tahkikat News |National

आज की बड़ी ख़बर

Tahkikat News: Latest Video.

Monday, 26 November 2018

अंतिम पायदान पर खड़े व्यक्ति का सर्वागीण विकास को ही प्राथमिकता मानकर मोदी सरकार ने कार्य किया - महेन्द नाथ पाण्डेय

लखनऊ - महेंद्र मिश्रा ब्यूरो उत्तर प्रदेश

भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष डा0 महेन्द नाथ पाण्डेय ने आज कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में केन्द्र में चल रही भाजपा सरकार ने अपने साढ़े चार वर्ष के कार्यकाल में पं0 दीनदयाल उपाध्याय की अन्त्योदय के सिद्धांत पर ही काम किया है।


उन्होंने कहा समाज के अंतिम पायदान पर खड़े व्यक्ति का सर्वागीण विकास को ही प्राथमिकता मानकर मोदी सरकार ने कार्य किया। डा0 पाण्डेय ने कहा कि अन्त्योदय का मूल चिन्तन ही भारतीय चिंतन है। प्रदेश भाजपा अध्यक्ष आज प्रबुद्ध प्रकोष्ठ अवध क्षेत्र द्वारा स्थानीय नगर निगम के त्रिलोकी नाथ सभागार में अन्त्योदय और भाजपा विषय पर आयोजित संगोष्ठी में उपस्थित प्रबुद्धजनों को संबोधित कर रहे थे।

प्रदेश भाजपा अध्यक्ष डा0 महेन्द्र नाथ पाण्डेय ने कहा कि हेडगेवार जी, प0 दीनदयाल उपाध्याय जी, गोपाल कृष्ण गोखले  सहित कई अन्य राष्ट्रवादी सोच के महानुभावों ने आजादी से पूर्व उसी राष्ट्रावादी चिंतन पर भारत व भारतीय समाज के लिए कार्य किया, लेकिन आजादी के बाद प0 नेहरू ने देश के नजरिये से नहीं बल्कि दुनिया के नजरियें से देश को आगे ले जाने की बात करी। जिस कारण भारत जिस मौलिक चिंतन के आधार पर आगे बढ़ना चाहिए था उससे अलग राह पर आगे बढ़ा।

उन्होंने कहा कि आजादी के 72 वर्षो के दौरान ऐसे लोगों की श्रेणी खड़ी हुई जो राजनैतिक रूप से गरीबों की भलाई का नारा तो देते रहे लेकिन उन्होंने सिर्फ अपनी और अपने परिवार की भलाई का कार्य किया। ऐसे अवसरवादी लोगों ने चैधरी चरण सिंह जी, राम मनोहर लोहिया जी, भीमराव आम्बेडकर जी के नाम पर राजनीत तो की लेकिन कभी उनके दिखाये सिद्धांतो और मार्ग पर नहीं चले। ये वो लोग थे जिन्होंने राजनीत का उपयोग खुद को व अपने परिवार को सार्मथ्यवान बनाने के लिए किया। वहीं जब हमारी विचारधारा की बात आती है तो हम अन्त्योदय के सिद्धांत पर चलकर समाज के अंतिम पायदान पर खड़े व्यक्ति के लिए काम करते रहे। उन्होंने कहा कि सबका साथ-सबका विकास के संकल्प के साथ गरीब व्यक्ति के स्वास्थ्य, उसके घर उसके सम्मान के लिए भाजपा सरकारें काम कर रही है।

डा0 पाण्डेय ने कहा कि हमारी विचारधारा समाज की भलाई के साथ और समाज को दिशा दे रही है और स्वस्थ्य समाज की परिकल्पना के साथ कार्य कर रही है। उन्होंने आरोप लगाया कि आजादी के बाद कांग्रेस ने महापुरूषों के नाम पर नारे गढ़े और सत्ता सुख को भोगती रही लेकिन गांव, गरीब, किसान, नौजवान के कल्याण के लिए योजनापूर्वक कार्य नहीं किया। उन्होंने भारत रत्न स्वर्गीय अटल बिहारी बाजपेयी  का स्मरण करते हुए कहा कि श्रद्धेय अटल जी की सरकार में अन्त्योदय की परिकल्पना को साकार करने के लिए अन्नपूर्णा योजना व सर्व शिक्षा अभियान जैसी योजनाओं को केन्द्र में रखकर वंचित लोगों के उत्थान व विकास के लिए कार्य किया।
उन्होंने कहा कि केन्द्र की मोदी सरकार ने पिछले साढ़े चार सालों में आयुष्मान भारत, उज्जवला योजना, सौभाग्य योजना जैसी अनेकों जनकल्याणकारी योजनाओं से गरीब, महिलाओं, पिछड़ो की चिंता व उनके भलाई करने का काम किया। डा0 पाण्डेय ने कहा कि नरेन्द्र मोदी जी पिछले साढ़े चार वर्षो में शुद्ध रूप से एक पारदर्शी सरकार के रूप में जनता के बीच स्थापित हुई है। 2014 में जब मोदी जी प्रधानमंत्री बने तो देश में सिर्फ सात राज्यों में भाजपा की सरकार थी वहीं आज साढ़े चार वर्षो के भीतर 19 राज्यों में भाजपा की सरकार है। यह दर्शाता है कि जनता का विश्वास मोदी जी पर निरंतर बढ़ रहा है और 2019 के लोकसभा चुनाव में मा0 मोदी जी को जनता फिर से प्रधानमंत्री बनाने के लिए उत्साहित है।

No comments:

Post a Comment