कानपुर - इस बार पटाखा बाजार में ईकोफ्रेंडली डीटीएच पटाखों की धूम - तहकीकात न्यूज़

आज की बड़ी ख़बर

Monday, 5 November 2018

कानपुर - इस बार पटाखा बाजार में ईकोफ्रेंडली डीटीएच पटाखों की धूम

ब्यूरो कानपुर - रवि गुप्ता


दीपावली पर इस बार इकोफ्रेंडली पटाखे यानी कम प्रदूषण और कम आवाज़ वाले पटाखे लोगों की पसंद बने हुए है पर्यावरण प्रदूषित न हो इस बात का ग्राहकों ने भी ध्यान रखा


लगातार एनजीटी और सुप्रीमकोर्ट के द्वारा वायु प्रदूषण को लेकर फटकार औऱ जनजागरूकता के चलते इस बार कानपुर की पटाखा बाजार में पटाखा निर्माण करने वाली कम्पनियों ने कम आवाज़ कम धुंआ और वातावरण को कम नुकसान पहुंचाने वाले पटाखों की भरमार है और लोग भी प्रदूषण के प्रति जगरूक होते हुए इन्हीं पटाखों की मांग ज्यादा कर रहे हैं। 




एनजीटी और सुप्रीमकोर्ट की फटकार के बाद जागी पटाखा कम्पनियां


कानपुर की प्रमुख थोक पटाखा बाज़ार फूलबाग में लगी हुई है इस  पटाखा बाजार से दीपावली के पर्व पर करोड़ो रूपये का व्यापार होता है लेकिन सुप्रीम कोर्ट में मामला होने की वजह से इन पटाखा कारोबारियों की सांसे अटकी हुई थी लेकिन सुप्रीम कोर्ट से राहत मिलने के बाद इन पटाखा कारोबारियों के चेहरे खिल उठे हैं और इनकी माने दो से तीन दिनों में कारोबार अच्छा रहने की उम्मीद है। 

इन पटाखा एसोसिएशन के अध्यक्ष राजू शम्शी ने बताया कि कम प्रदूषण वालो में सोनी कम्पनी, ईगल कम्पनी और फायरफॉक्स जैसी कम्पनियों ने कम प्रदूषण में अच्छी आतिशबाजी का कई प्रोडक्ट मार्केट में उतारे हैं। फिलहाल मार्केट की स्थिति डाउन है आसमानी आइटम भी पसंद किए जा रहे है।




दुकानदार अब्दुल्ला ने बताया कि पहले से मार्केट में काफी फर्क आया है पिछले साल से इस साल मार्किट में कस्टमर काफी कम है लोग ज्यादातर फैंसी फायर,  स्काई शाट के लिए आती है पिछले साल की अपेक्षा इस बार कम्पनी ने प्रदूषण को देखते हुए काफी बदलाव किया इन पटाखों पर जिसमें आवाज़ ज्यादा होती थी लेकिन इस बार इनकी आवाज़ कम है और धुंआ भी कम होगा प्रदूषण को दिमाग मे रखते हुए ग्राहक पटाख़े खरीद रहे है


वहीं ग्राहक मोनिका की माने तो वह भी वातावरण को ध्यान में रखते हुए कम प्रदूषण फैलाने वाले पटाखे ही ले रहे हैं। रोशनी अच्छी हो ग्रीनरी हो ऐसे पटाखे खरीद रहे है।

No comments:

Post a Comment