सूबे के मुख्यमंत्री योगी अब बताएंगे देवताव की जाति-सुरेन्द्रनाथ त्रिवेदी - तहकीकात न्यूज़ | Tahkikat News |National

आज की बड़ी ख़बर

Thursday, 29 November 2018

सूबे के मुख्यमंत्री योगी अब बताएंगे देवताव की जाति-सुरेन्द्रनाथ त्रिवेदी




चीफ रिपोर्टर- चन्द्र मोहन तिवारी

 राष्ट्रीय लोकदल के प्रदेश प्रवक्ता सुरेन्द्रनाथ त्रिवेदी ने कहा कि नाथ सम्प्रदाय के ऐतिहासिक मठ के महंत और सूबे के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा यह कहना कि बजरंग बली दलित थे, स्वयं में हास्यास्पद होने के साथ साथ एक संत द्वारा ऐसा कहना अज्ञानता का द्योतक है क्योंकि संत महंत का तात्पर्य एक विषेश  पुजारी व्यक्तित्व से होता है। ईष्वर में समस्त प्राणि मात्र की आस्था होती है और मानव जीवन का ऐतिहासिक सत्य है कि जिसमें आस्था होती है उसके जाति और धर्म से आस्था रखने वाले का कोई मतलब नहीं होता।
     


 त्रिवेदी ने कहा ने क्या कहा 
भारतीय जनता पार्टी धर्म और जाति के आधार पर सम्पूर्ण समाज का बटवारा करके शासन सत्ता पर काबिज हो पायी है। 2019 की लोकसभा की तैयारी में जातीय सम्मेलनों में भारतीय जनता पार्टी पूर्णरूप से व्यस्त है ऐसा लगता है कि भगवान श्रीराम में आस्था समाप्त होकर करके भाजपा की आस्था जाति व्यवस्था में समाहित हो गयी है। यद्यपि राजनैतिक दलों द्वारा जातीय सम्मेलनों पर माननीय उच्च न्यायालय का स्थगन आदेश प्रभावी है परन्तु भाजपा के लिए न्यायालय अथवा संविधान की कोई गरिमा नहीं है। योगी जी के द्वारा भगवान को भी बटवारे के दायरे में लाना निंदनीय होने के साथ साथ यह भी सिद्व करता है कि उन्हें यह भी नहीं मालूम है कि हनुमान जी शंकर जी 11वें रूद्रावतार हैं। ब्रहमा विष्णु महेश  सम्पूर्ण प्रकृति के सर्वश्रेष्ठ और सर्वमान्य त्रिदेव कहे जाते है और योगी जी शंकर जी के रूद्रावतार हनुमान जी की जाति बताकर करोड़ों शिवभक्तों और बजरंगबली के भक्तों का भरपूर अपमान किया है। 
अब इनकी भी सुनिए 
 रालोद प्रदेश  प्रवक्ता ने कहा कि ईश्वर की दृष्टि में समस्त जन मानस उसका अंश होता है  धर्म जाति सम्पद्राय कुछ भी महत्व नहीं रखती है। ईष्वर समस्त प्राणि मात्र को पुत्रवत पालता है। भारतीय जनता पार्टी के स्टार प्रचारकों एवं प्रदेश  के मुख्यमंत्री को चाहिए कि अब जाति धर्म आदि के आधार पर समाज का बटवारा बंद कर दें क्योंकि ईश्वर की जाति बताकर उन्होंने अपनी मानसिकता व वोटो की राजनीति का परिचय  दिया है। यह विचार महात्मा गांधी, सरदार बल्लभ भाई पटेल, चै0 चरण सिंह, डाॅ0 राममनोहर लोहिया और जयप्रकाश  नारायन के विचारों एवं उनके सिद्वान्तों के खिलाफ चलेगा। भारतीय जनता पार्टी ने झूठ बोलकर और विभिन्न प्रकार का लालच देकर इस देश  की जनता को गुमराह किया था जिसे जनता ने भलीभांति समझ लिया है। 

No comments:

Post a comment

तहकीकात डिजिटल मीडिया को भारत के ग्रामीण एवं अन्य पिछड़े क्षेत्रों में समाज के अंतिम पंक्ति में जीवन यापन कर रहे लोगों को एक मंच प्रदान करने के लिए निर्माण किया गया है ,जिसके माध्यम से समाज के शोषित ,वंचित ,गरीब,पिछड़े लोगों के साथ किसान ,व्यापारी ,प्रतिनिधि ,प्रतिभावान व्यक्तियों एवं विदेश में रह रहे लोगों को ग्राम पंचायत की कालम के माध्यम से एक साथ जोड़कर उन्हें एक विश्वसनीय मंच प्रदान किया जायेगा एवं उनकी आवाज को बुलंद किया जायेगा।