लखनऊ - यूपी में लेाकसभा की 80 सीटें ही तय करेगी ,कि देश में सरकार किसकी बनेगी - राजबब्बर - तहकीकात न्यूज़ | Tahkikat News |National

आज की बड़ी ख़बर

Saturday, 29 December 2018

लखनऊ - यूपी में लेाकसभा की 80 सीटें ही तय करेगी ,कि देश में सरकार किसकी बनेगी - राजबब्बर

by - तहकीकात न्यूज़ डेस्क
 
 
भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस की 134वीं स्थापना दिवस पर प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय में आयेाजित स्थापना दिवस समारोह में उ0प्र0 कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष राजबब्बर सांसद ने कहा कि मैं, मेरा, मेरा अपना, कांग्रेस के सिद्धान्त नहीं हैं 
 
 
ये कांग्रेस को मजबूत नहीं कर सकता, कांग्रेस के उसूलों को लेकर आगे नहीं चल सकता, हमें अपने कर्तव्य का पालन पूरी ताकत के साथ करना है। मैं कौन हूं यह नहीं बल्कि मेरी कांग्रेस है यह संकल्प लेना है। उन्होने कांग्रेसजनों का आवाहन किया कि आज के दिन हम संकल्प करें कि हमारे नेता कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी आगामी स्थापना दिवस के दिन जब कांग्रेस मुख्यालय में झण्डा फहराने के लिए आयें तो लाल किले पर झण्डा फहराकर आयें। 
 

 
उ0प्र0 कांग्रेस कमेटी के प्रवक्ता ओंकारनाथ सिंह ने बताया कि स्थापना दिवस की शुरूआत कांग्रेस सेवादल द्वारा वन्देमातरम गीत से हुई। इसके बाद ध्वज फहराकर तिरंगे ध्वज को सलामी दी गयी एवं ‘विजयी विश्व तिरंगा प्यारा-झण्डा ऊंचा रहे हमारा’ ध्वज गीत गाया गया। ध्वज रक्षक की भूमिका में उ0प्र0 कांग्रेस सेवादल के अध्यक्ष मुख्य संगठक डाॅ0 प्रमोद कुमार पाण्डेय रहे। विशिष्ट अतिथि के रूप में अ0भा0 कांग्रेस सेवादल के संगठन मंत्री एवं मध्य जोन प्रभारी सुनील कुमार श्रीवास्तव थे। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष राजबब्बर ने कांग्रेस सेवादल के स्वयंसेवकों एवं कांग्रेसजनों को शपथ दिलायी। इसके उपरान्त कांग्रेस सेवादल के निष्ठावान एवं पुराने अति सक्रिय पांच स्वयंसेवकों सर्वश्री विजय सिंह कुशवाहा, लक्ष्मी नारायण दीक्षित, हसीना खातून, सुशील तिवारी सोनू पंडित एवं धीरेन्द्र शुक्ला को प्रशस्ति पत्र एवं तिरंगा वस्त्र पहनाकर राजबब्बर द्वारा सम्मानित किया गया।    
 
 
प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा आजादी के संघर्ष में जब अंग्रेजों की लाठियां कांग्रेसी नेताओं पर पड़ती थीं तो नेता के घायल होने पर दूसरा व्यक्ति तुरन्त उस झण्डे को पकड़ लेता था और गिरने नहीं देता था। कांग्रेस का देश की उपलब्धियों के लिए एक गौरवशाली इतिहास है आज उन लोगों से मुकाबला है जिनका कोई इतिहास ही नहीं है ये पहले भी एक गिरोह की तरह थे और आज भी एक गिरोह की तरह काम कर रहे हैं।
 
 
आज आर0एस0एस0 और वर्तमान सरकार इतिहास को बदलना चाहती है। इतिहास के महापुरूषो की चोरी की जा रही है और पं. नेहरू के आदर्शों और सिद्धान्तों पर बनी हुई इस देश की नींव को तेाड़ने का प्रयास किया जा रहा है। साथ ही पं0 नेहरू और सरदार पटेल की तमाम मनगढ़ंत कहानियां गढ़ी जा रही हैं जबकि नेहरू और पटेल 1935 की पहली भारत की सरकार में एक साथ काम कर चुके हैं दोनेां गांधी के विचारेां से बंधे थे दोनों ने मिलकर देश को मजबूत बनाया। दुर्भाग्य रहा कि पटेल जी 1950 में हम सभी को छोड़कर इस दुनिया से चले गये उसके बाद पं0 नेहरू ने देश को संभाला और संवारा, जिसका परिणाम है कि आज हमारा देश विश्व में मजबूत राष्ट्र के रूप में सामने है। हमें अपने गौरव को याद करने की जरूरत है। उन्होने कि कांग्रेस का देश के मुद्दों से सरोकार था और है। हमारे नेता राहुल गांधी ने इसी 2018 के अन्दर करके दिखाया है वह जब गुजरात, कर्नाटक, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ और राजस्थान गये तो देश की जनता ने आर्शीवाद दिया। काग्रेस की परिपाटी, मंतव्य, मकसद, लक्ष्य देशवासी और उसके सरोकार से है। 
 
आज हमारे सामने यूपी की धरती पर बड़ी चुनौती है। उन्होने यह भी कहा कि यूपी में लेाकसभा की 80 सीटें हैं और यही सीटें तय करती हैं कि देश में सरकार किसकी बनेगी। इसलिए आज हमें संकल्प लेना है कि हम इतनी मेहनत करें कि हमारे नेता राहुल गांधी को देश की सेवा करने का मौका मिले।

No comments:

Post a Comment