कानपुर - अटल जी की जयंती पर कालेज में छात्राओं ने राष्ट्रवाद का किया व्याख्यान - तहकीकात न्यूज़ | Tahkikat News |National

आज की बड़ी ख़बर

Monday, 24 December 2018

कानपुर - अटल जी की जयंती पर कालेज में छात्राओं ने राष्ट्रवाद का किया व्याख्यान

ब्यूरो कानपुर- रवि गुप्ता  

पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय अटल बिहारी बाजपेयी की 95 वीं जयंती के अवसर पर डीजीपीजी कालेज में कविता पाठ वाद विवाद और भाषण प्रतियोगिता का आयोजन किया गया कार्यक्रम का शुभारंभ संयोजिका डॉ पप्पी मिश्रा ने दीप प्रज्वलित कर किया जिसके बाद छात्राओं ने राष्ट्रवाद से रिलेटेड स्पीच दी और स्वरचित कविताओं को सुनाया। बीए की छात्रा रूपल श्रीवास्तव और मानसी द्विवेदी ने वाद विवाद प्रतियोगिता में हिस्सा लिया।

 
 
 
राष्ट्र को सर्वोपरि रखते थे अटल जी

बीए की छात्रा रूपल और मानसी ने बताया कि जिस तरह अटल जी सभी धर्मों को जोड़कर राष्ट्र को सर्वोपरी रखते थे उसी तरह से कालेज में बताया गया है कि राष्ट्रवाद से बड़ा कोई धर्म नही है जिसको लेकर वाद विवाद प्रतियोगिता आयोजित की गई  स्पीच में बताया गया कि धर्म ,जाति और क्षेत्रीयता की मानसिकता से उपर उठकर सोचना राष्ट्रवाद है भारतीय परिपेक्ष्य में राष्ट्रवाद के कई उदाहरण है जैसे भारत के लोग कश्मीर की आसिफा को न्याय दिलाने के लिए पूरा राष्ट्र खड़ा हो गया यह राष्ट्रवाद का ही उदाहरण है। क्योंकि अटल जी हमेशा राष्ट्र हित के लिए कार्य करते रहे। 
 
 
 
 
डॉक्टर ज्योति सक्सेना ने बताया कि अटल जी कंभी भी किसी की भी आलोचना के पात्र नही बने और उनकी जयंती के अवसर पर उनके बताए हुए रास्तों पर आगे बढ़ने का काम किया है छात्राओं ने अटल जी की स्मृतियों को बताते हुए और राष्ट्रवाद से जुड़ी हुई रचना व स्वरचित कविताओं को हाल में सुनाया। बताया कि जिस तरह से अटल जी भाषण के वक्त जनता को कविताएं सुनाते थे उसी को देखते हुए छात्राओ ने यहां हाल में वाद विवाद प्रतियोगिता में राष्ट्रवाद को दर्शाया जहां बीए की छात्रा रूपल श्रीवास्तव को वाद विवाद में पहला प्राइज व मानसी द्विवेदी को दूसरा तो वही स्वरचित कविता में एमएससी की छात्रा ऋचा पटेल को प्रथम स्थान मिला जबकि अटल जी पर काव्य पाठ में हर्षिता शुक्ला को प्रथम पुरुष्कार दिया गया। इस अवसर पर निर्णायक मंडल डॉ अर्चना वर्मा, डॉ मुकुलिका ,डॉ अर्चना श्रीवास्तव, डॉ स्वाति सक्सेना, साधना मिश्रा संचालन में डॉ सुनीता आर्या , डा अर्चना दीक्षित उपस्थित रही।

No comments:

Post a Comment