कुंभ आयोजन की भव्यता पर नसीहत देने के बजाय अखिलेश यादव नसीहत लेना सीखें - हरिश्चन्द श्रीवास्तव - तहकीकात न्यूज़ | Tahkikat News |National

आज की बड़ी ख़बर

Sunday, 27 January 2019

कुंभ आयोजन की भव्यता पर नसीहत देने के बजाय अखिलेश यादव नसीहत लेना सीखें - हरिश्चन्द श्रीवास्तव

रिपोर्ट - जितेंद्र कुमार

भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता हरिश्चन्द्र श्रीवास्तव ने कहा कि जिनके शासन के दौरान सरकारी धन की लूट-खसोट और किसान प्रदेश से पलायन के लिए मजबूर हुआ, वे आज नसीहत दे रहे है। जिनकी सरकार के हाथ रामभक्तों के खून से रंगे हुए हैं वो कुंभ में अपने पाप धोने गए थे। लेकिन पवित्र कुंभ में जाकर भी राजनीति फितरत और झूठ व फरेब का आचरण नहीं छोड़ पा रहे, घड़ियाली आंसू बहाकर प्रदेश की जनता को बरगलाने का प्रयास हैं। 

 


भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता हरिश्चन्द्र श्रीवास्तव ने कहा कि समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेश यादव उच्चतम न्यायालय के आदेश के बावजूद सरकारी बंगले पर कब्जा जमाए  रहे और जब छोड़ना पड़ा तो बंगले का क्या हाल हुआ जग जाहिर है, भाजपा प्रवक्ता ने कहा कि भूमाफियाओं को सरकारी संरक्षण देकर प्रदेश भर में जमीनों पर कब्जा व सरंक्षण देने वाले आज उपदेश दे रहे है, यह हास्यास्पद लगता है।भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता हरिश्चन्द्र श्रीवास्तव ने कहा कि जनता का हक छीनने वाली सरकार के मुखिया के रूप में अखिलेश यादव की असलियत सब जानते हैं। इसलिए जनता पर अब उनके घड़ियाली आंसू और नाटक का कोई असर नहीं होना है। उन्होंने ने कहा कि समाजवादी पार्टी के मुखिया एक ऐसे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ  को नसीहत दे रहे हैं जो जन धन का पाई-पाई हिसाब रखते हुए जनहित व प्रदेश के विकास को साकार कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि वोट की राजनीति के दिखावे के लिए ही सही, कम से कम अखिलेश यादव कुंभ में पहुंचे। सपा शासन काल में कुंभ में करोड़ों रुपए का गोलमाल करने का साधन बना था।  

उन्होंने कहा कि सपा मुखिया की सरकार में अराजकता तथा जगंलराज और भ्रष्टाचार का ही सम्मान था। किसानो, नौजवानों और साधु-संतों के लिए कहीं स्थान नहीं था। अखिलेश की सरकार ने नौकरियों में भ्रष्टाचार कर युवाओं के रोजगार पर डाका डाला, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा किसानों को समृद्ध व कृषि को सुरक्षित बनाने के लिए शुरू की गयी योजनाओं को लागू नहीं करके किसानों को बर्बाद किया। प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना इसलिए प्रदेश में ठीक से लागू नहीं होने दी गई क्योंकि उससे किसान का फायदा होता। गन्ना किसानों के पैसे को चीनी मिल मालिकों के साथ सांठगांठ कर भुगतान नहीं होने दिया गया। अब जब केंद्र की नरेंद्र मोदी  व प्रदेश की योगी की सरकार ने किसानों को समृद्ध बनाने, उनकी फसल को बाजार मूल्य दिलाने, लागत का डेढ़ गुना समर्थन मूल्य घोषित किया और किसानों की आय 2022 तक दो गुना करने की ओर सफलतापूर्वक बढ़ रहे हैं। 

प्रदेश प्रवक्ता ने कहा कि अखिलेश यादव ने अपने शासन काल में मुस्लिम तुष्टीकरण के लिए किले में स्थित हिंदुओं की आस्था के अक्षय वट के दर्शन पर प्रतिबंध जारी रखा था। उन्हें उस वक्त हिंदुओं की आस्था का ख्याल क्यों नहीं आया ? जब योगी की सरकार ने कुंभ को विश्व के आकर्षण का केंद्र बना दिया और ऐतिहासिक रूप से दिव्य व भव्य कुंभ का आयोजन करने के साथ ही न केवल अक्षय वट के दर्शन के लिए किले को आम हिंदुओं के लिए खोल दिया, बल्कि मुगल आक्रमणकारी अकबर द्वारा हटाई गयी मां सरस्वती की मूर्ति की प्राण प्रतिष्ठा भी कराई। इसके बाद भी मुद्दा विहीन अखिलेश जी का नसीहत देना हास्यास्प्रद लगता है। श्रीवास्तव ने कहा कि अखिलेश  बुआ जी तथा राहुल गांधी की संगत में रहकर नाटक के कलाकार बनने की कोशिश कर रहे हैं, लेकिन अब जनता समझदार और जागरूक हो चुकी है, इसलिए इन सबके नाटक का जनता पर कोई असर नहीं होने वाला है और जनता 2019 में केंद्र में प्रचंड बहुमत के साथ मोदी को और अधिक ताकत देगी।

No comments:

Post a Comment

तहकीकात डिजिटल मीडिया को भारत के ग्रामीण एवं अन्य पिछड़े क्षेत्रों में समाज के अंतिम पंक्ति में जीवन यापन कर रहे लोगों को एक मंच प्रदान करने के लिए निर्माण किया गया है ,जिसके माध्यम से समाज के शोषित ,वंचित ,गरीब,पिछड़े लोगों के साथ किसान ,व्यापारी ,प्रतिनिधि ,प्रतिभावान व्यक्तियों एवं विदेश में रह रहे लोगों को ग्राम पंचायत की कालम के माध्यम से एक साथ जोड़कर उन्हें एक विश्वसनीय मंच प्रदान किया जायेगा एवं उनकी आवाज को बुलंद किया जायेगा।