तूफान और ओलावृष्टि से किसानों की फसल को भारी नुकसान,सरकार को तत्काल मुआवजा देना चाहिए - अनिल दुबे - तहकीकात न्यूज़ | Tahkikat News |National

आज की बड़ी ख़बर

Friday, 25 January 2019

तूफान और ओलावृष्टि से किसानों की फसल को भारी नुकसान,सरकार को तत्काल मुआवजा देना चाहिए - अनिल दुबे

राष्ट्रीय लोकदल के राष्ट्रीय प्रवक्ता अनिल दुबे ने विगत 3 दिनों से प्रदेश में हो रही बरसात और ओलावृष्टि से किसानों की फसलों का हुये नुकसान का आंकलन कराकर उचित मुआवजे देने की मांग प्रदेष सरकार से की है। 



उन्होंने कहा कि उ0प्र0 का किसान पहले से ही वर्तमान सरकार की किसान विरोधी नीतियों से परेशान है और अब प्रदेश में हुयी ओलावृष्टि से किसानों की फसल को भारी नुकसान हुआ है। जिससे किसान हताषा और निराशा में डूब गया है साथ ही उन्होंने सूबे के मुख्यमंत्री से प्रदेश में हुयी फसल बर्बादी का उचित आंकलन कराकर किसानों का मुआवजा देने की मांग भी की है। दुबे ने आज जारी बयान में कहा कि तूफान और ओलावृष्टि से किसानों की आलू, टमाटर और सरसों की फसलों को भारी नुकसान हुआ है। कुदरत का यह कहर किसानों को आर्थिक रूप से कमजोर कर देगा इसलिए सरकार को फसल मुआवजा नीति में पारदर्षिता लाते हुये किसानों को तत्काल मुआवजा वितरित करना चाहिए जिससे किसान वर्ग को रोटी के संकट का सामना न करना पडे। सरकार को इस सम्बन्ध में बिना समय गवाएं तत्काल आवष्यक कदम उठाने वाहिए।
 
दुबे ने कहा कि किसानों के साथ वर्तमान सरकार लगातार अन्याय कर रही है। राष्ट्रीय लोकदल पीडित किसानों की समस्याओं को निरंतर उठा रहा है। पष्चिमी उत्तर प्रदेश विषेषकर शामली में गन्ना किसान धरनारत हैं। राज्य सरकार उसकी अनदेखी कर रही है। उन्होंने सरकार को चेतावनी देते हुये कहा कि तूफान ओलावृष्टि से बर्बाद हुयी फसलों के नुकसान का आकलन कराकर तत्काल राहत पहुचाए अन्यथा राष्ट्रीय लोकदल के कार्यकर्ता किसानों की समस्याओं को लेकर सडकों पर उतरेंगे।

No comments:

Post a Comment

तहकीकात डिजिटल मीडिया को भारत के ग्रामीण एवं अन्य पिछड़े क्षेत्रों में समाज के अंतिम पंक्ति में जीवन यापन कर रहे लोगों को एक मंच प्रदान करने के लिए निर्माण किया गया है ,जिसके माध्यम से समाज के शोषित ,वंचित ,गरीब,पिछड़े लोगों के साथ किसान ,व्यापारी ,प्रतिनिधि ,प्रतिभावान व्यक्तियों एवं विदेश में रह रहे लोगों को ग्राम पंचायत की कालम के माध्यम से एक साथ जोड़कर उन्हें एक विश्वसनीय मंच प्रदान किया जायेगा एवं उनकी आवाज को बुलंद किया जायेगा।