नोएडा से ग्रेटर नोएडा के बीच मैट्रो की शुरूआत कर विकास की एक और लाइन योगी ने खीचीं -समीर सिंह - तहकीकात न्यूज़ | Tahkikat News |National

आज की बड़ी ख़बर

Friday, 25 January 2019

नोएडा से ग्रेटर नोएडा के बीच मैट्रो की शुरूआत कर विकास की एक और लाइन योगी ने खीचीं -समीर सिंह

रिपोर्ट - रामसूरत

भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता डाॅ. समीर सिंह ने भाजपा प्रदेश मुख्यालय पर पत्रकारों से चर्चा करते हुए कहा कि आज उत्तर प्रदेश निरन्तर मुख्यमंत्री योगी के नेतृत्व में विकास कर रहा है। आज नोएडा से ग्रेटर नोएडा के बीच मैट्रो की शुरूआत कर विकास की एक और लाइन योगी ने खीचीं है। उत्तर प्रदेश नित नए विकास के सोपान पर आगे बढ रहा है। 



जहां योगी ने नोएडा जाने के अंधविश्वास और पिछले मुख्यमंत्रियों द्वारा नोएडा न जाना को नकार कर पुनः नोएडा गए और विकास की रफ्तार को आगे बढाया। अंधविश्वास को खत्म किया है। सिंह ने कहा कि जहां सपा सरकार में उत्तर प्रदेश में 2 वर्ष में 8 किमी का निर्माण लखनऊ में करने का कार्य किया। जबकि वहीं भाजपा की सरकार ने 2 वर्ष में 15 किमी. मेट्रो का निर्माण किया। आज (ओ.डी.ओ.पी.) में जनपदों के उद्योग तेजी से आगे बढ रहे है। और स्थानीय स्तर पर युवाओं को रोजगार भी मिल रहे है। 

समीर ने कहा कि जहां मुख्यमंत्री योगी ने उत्तर प्रदेश दिवस पर विश्वकर्मा श्रम सम्मान दिया वहीं 800 करोड़ की विकास परियोजनाओं का भी शिलान्यास कर उत्तर प्रदेश के विकास को आगे बढाया तथा वास्तविक पत्र खिलाडियों एवं कलाकारों, उद्यमियों को पुरस्कृत कर उनके हौसले एवं परिश्रम को सम्मानित किया है। जो उत्तर प्रदेश के विकास में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा। सिंह ने कहा कि आज देश मोदी एवं प्रदेश में योगी के नेतृत्व में तेजी से विकास कर रहा हैं और उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा रोजगार उपलब्ध कराने से युवा उत्साहित हैं योगी जी के सरकार में पारदर्शी तरीके से युवाओं को रोजगार उपलब्ध कराया जा रहा है। 

सिंह ने पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव पर पलटवार करते हुए कहा कि अखिलेश यादव का बयान लोकतंत्र को बचना और भारत गम्भीर दौर से गुजर रही है का बयान हास्यास्पद है और गैर जिम्मेदाराना बयान है। अखिलेश यादव अपने भ्रष्टाचार को बचाने के लिए और छुपाने के लिए गठबंधन कर रहे है। जिसको उत्तर प्रदेश की जनता समझ रही है। उनके चेहरे बेनकाब हुए है। जो स्वयं खनन में दोषी हो वह भाजपा पर आरोप लगाए यह अत्यंत्र दुखद एवं निन्दनीय है। 

No comments:

Post a Comment